हेल्थ इंश्योरेंस लेने से पहले इन विशेष बातों का रखें ख्याल

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 09, 2016
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • हेल्थ इंश्योरेंस लेना आज के समय में बेहद जरूरी होता है।
  • हेल्थ इंश्योरेंस लेने से पहले उसकी तुलना करना है जरूरी।
  • इंश्योरेंस लेने से पहले कुछ बातों का ख्याल रखना चाहिए।
  • हेल्थ इंश्योरेंस ले रहे हैं तो सही समय पर ही एनरोल करें।

आज की तारीख में इंश्योरेंस की महत्ता से कोई भी अंजान नहीं है। खासकर जब बात हेल्थ इंश्योरेंस की, की जाए तो हम सभी सजग रहने में ही समझदारी समझते हैं। बावजूद इसके हममें से कई ऐसे लोग हैं जो किसी भी समय हेल्थ इंश्योरेंस ले लेते हैं। यही नहीं वे हेल्थ इंश्योरेंस लेने से पहले उसकी तुलना करना भी जरूरी नहीं समझते। परिणामस्वरूप वे या तो कम फायदा हासिल कर पाते हैं या फिर उन्हें नुकसान झेलना पड़ता है। सवाल उठता है कि हेल्थ इंश्योरेंस लेने से पहले किन बातों का ख्याल रखना चाहिए? आइये इन्हीं बातों पर एक नजर डालते हैं।

सही समय पर एनरोल करें

अगर आप किसी कंपनी की बजाय खुद ही हेल्थ इंश्योरेंस ले रहे हैं तो सही समय पर ही एनरोल करें। इसके लिए आप इंटरनेट की मदद ले सकते हैं या फिर इंश्योरेंस पालिसी बेचने वालों की सलाह ली जा सकती है। किसी भी समय को हेल्थ इंश्योरेंस लेने को उपयुक्त कतई न मानें।

गुणवत्ता पर ध्यान दें

मौजूदा समय में तमाम ऐसी वेबसाइटें हैं जिनके जरिये हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों की तुलना कर सकते हैं। इसके लिए आपको चाहिए कि आप उनकी रेटिंग चेक करें, दूसरों के कंपनी विशेष सम्बंधी विचार पढ़ें। इससे आप घाटे से बच सकते हैं।

 

Health Insurance in Hindi

 

आटो रीन्यू न करें

तमाम कंपनियां खुद ही आपके प्लान को रीन्यू कर देती हैं। ऐसा न करने दें। हमेशा अपनी मौजूदा आय के हिसाब से ही हेल्थ इंश्योरेंस का ध्यान रखें। इसके साथ ही अपनी मौजूद वित्तीय स्थिति को भी जहन में रखें। इससे आप बेहतर हेल्थ इंश्योरेंस के लिए आवेदन कर सकेंगे।

आटोमेटिक रिप्लेसमेंट प्लान से दूर रहें

कई बार कंपनियां आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्लान को बिन आपसे पूछे अन्य प्लान में रिप्लेस कर देती हैं। ऐसा होने से रोकें। दरअसल आपको इसके लिए सतर्क रहना होगा और हमेशा अपनी हेल्थ इंश्योरेंस की स्थिति पर नजर रखनी होगी। खुद ही बेहतर प्लान का चयन कर रिप्लेसमेंट के लिए कहें। कंपनी पर आंख मूंदकर भरोसा न करें।

सुविधा अनुसार हेल्थ इंश्योरेंस पर नजर रखें

यदि आपको हड़बड़ी न हो तो अपनी सुविधा को प्राथमिकता दें और सही हेल्थ इंश्योरेंस करने का इंतजार करें। मतलब कहने का यह कि सही प्लानिंग करें, उसके बाद उसे अमलीजामा पहनाएं। मसलन आप शिशु जन्म के हेल्थ इंश्योरेंस का रजिस्ट्रेशन पहले से ही कर सकते हैं। अतः इसके लिए आपके पास काफी समय होता है। सो, प्लानिंग कर उसे साकार रूप दिया जा सकता है।

तुरंत नए प्लान को न लपकें

यह ठीक वैसा ही है जैसे कि आप इमर्जेंसी में डाक्टर के पास जाते हैं तो ज्यादा पैसा देकर आते हैं। इसी तरह यदि आप नए प्लान को लपकते हैं तो उसमें आपको अतिरिक्त खर्च करना पड़ता है और तुलनात्मक रूप से लाभ कम मिलता है।


इसके अलावा कई बार प्लान के लाभ सुनकर हम इतने खुश हो जाते हैं कि उसकी पाबंदियों पर नजर ही नहीं दौड़ाते। जबकि ऐसा करने से भविष्य में उसके खामियाजे भुगतने पड़ते हैं। मसलन यदि आपने कोई हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीदा है मगर उसमें मैटरनिटी प्लान नहीं है तो भविष्य में यह आपके लिए परेशानी का सबब बन सकता है।


Image Source - Getty

Read More Articles On Healthy Living In Hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES1891 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर