कामयाबी चाहिए तो ना करें ये चीजें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 16, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • अगर कोई तारीफ करे तो उसे स्वीकार करें।
  • कामयाबी का नशा खुद पर हावी ना होने दें।
  • अपनी जरूरतों को समझने की कोशिश करें।
  • अपने दुख का रोना हमेशा ना रोएं।

कामयाब होना हर कोई चाहता है। लेकिन, कामयाबी हासिल करने के लिए मेहनत के साथ-साथ कुछ जरूरी बातों का भी ध्‍यान रखा जाना जरूरी है। आपको चाहिये कि तारीफ सुनें, लेकिन उसे दिमाग पर न चढ़ने दें। अपनी सेहत का खयाल रखें और अपनी सोच को सकारात्‍मक बनाये रखें। हम आपको बताते हैं कि ऐसी आदतें जिन्‍हें छोड़कर आप कामयाबी जरूर पा सकते हैं।

तारीफ से बचना

आपकी तारीफ कर कोई व्‍यक्ति आपका अपमान नहीं कर रहा है। यह एक प्रकार से सकारात्‍मक ऊर्जा का आदान-प्रदान करते हैं। कई बार लोग किसी भी कारण से आपकी तारीफ करते हैं, लेकिन हम सोचते हैं कि हम शायद इस लायक नहीं हैं। हम इतने अच्‍छे, स्‍मार्ट, बुद्धिमान अथवा खूबसूरत नहीं हैं। और ऐसे में हम इन टिप्‍पणियों से बचने का प्रयास करते हैं। लेकिन, वास्‍तव में तारीफ ग्रहण करना भी कला है।

अगली बार अगर कोई आपकी तारीफ करे, तो उसे सज्‍जनता से ग्रहण करें। इसे ग्रहण करें। इस तारीफ को खुशी-खुशी स्‍वीकार करें। कुछ देर आपको अहसास होगा कि आप ऊर्जा के सबसे बड़े स्रोत प्रेम से सराबोर हो गये हैं।

इसे भी पढ़ें- नौकरी बदलना है तरक्की का मूलमंत्र

अपने तन, मन और आत्‍मा का खयाल न रखना

कई बार आप स्‍वयं को अजेय समझते हैं। आपको लगता है कि आप परिस्थितियों को पलटने का भी माद्दा रखते हैं। बेशक, आपको लगता है कि आप मौजूदा संसाधनों में ही खुश हैं।  लेकिन, वास्‍तविकता यह है कि हम सबकी जरूरतें होती हैं। यह मानव सभ्‍यता का ही एक हिस्‍सा है। बेशक, इनसान की बुनियादी जरूरत रोटी, कपड़ा, मकान आदि होती हैं। लेकिन, इसके बाद सूची बड़ी होती है।

successfull man

इसका अर्थ यह नहीं कि आप अपनी चीजों की अंधाधुध खरीदारी शुरू कर दें। अपनी हसरतों और जरूरतों के फर्क को पहचानिये। अपने लिए सभी जरूरी चीजें हासिल करना आपका हक और कर्त्‍तव्‍य  दोनों हैं। अच्‍छा खायें, अच्‍छा पढ़ें और अच्‍छे विचारों की नदी बहायें।

 

दुख का रोना न रोयें

हम सब कभी न कभी किसी न किसी के सामने अपना दुख जरूर रोते हैं। आप परेशानी में हैं, दिल टूटा हुआ है, आर्थ‍िक तंगी है, लेकिन अपना दुखड़ा किसी के सामने न रोयें। ऐसे व्‍यक्ति को कोई भी पसंद नहीं करता। हां, अगर आप किसी के लिए कुछ कर पायें, तो कई बार यह काफी सुकूनदेह हो सकता है।

 इसे भी पढें- इंटरव्‍यू में कामयाबी के टिप्‍स

अपनी इच्‍छायें न दबायें

हम सबके साथ ऐसा होता है कि हम बाजार में कुछ खरीदारी करने जाते हैं और उससे ज्‍यादा पैसा गैरजरूरी चीजों पर खर्च कर देते हैं। हमें बाद में अहसास होता है कि इन चीजों की शायद हमें जरूरत भी नहीं थी। हम सबके जीवन में ऐसा दौर आता है जब हमें अधिक सतर्कता बरतने की जरूरत होती है। यह उधार लेने का मामला हो सकता है, वजन या सीने में दर्द की शिकायत हो सकती है। अधिक तनाव की परिस्थिति में शरीर स्‍वयं को संतुलित रखने के लिए इस सतर्कता वाले नियम को अपनाता है। लेकिन, वास्‍तव में इससे आपको फायदा नहीं होता। आपको इसी जरूरत को समझने की जरूरत है। स्‍वतंत्रता आपके लिए ज्‍यादा फायदेमंद होती है। अपने आपको और अपनी जरूरतों को पहचानें। इसी प्रक्रिया के तहत बदलाव लायें।

नाकामी को हावी न होने दें

हर बार कामयाबी मिलना जरूरी नहीं। और ऐसा होता भी नहीं। आपको चाहिये कि अगर किसी काम में सफलता न मिले, तो ठहर न जाएं। आगे बढ़ें और अपना काम करते रहें। नाकामी से सीख लें। देखें कि आप क्‍या बेहतर कर सकते थे। आपको क्‍या और करना चाहिये था। कैसे आप इन सब बातों और मुश्किलों से लड़ सकते हैं। यही वे बातें  हैं, जो आगे चलकर आपकी कामयाबी का रास्‍ता तय करेंगी।

 

Read more articles on Mental Health in Hindi.

 

"ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें ओनलीमायहेल्थ एप्प" https://goo.gl/UaXpa2

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES382 Votes 40980 Views 5 Comments
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • Satish Arora26 Sep 2015

    Thanks

  • prince02 Jun 2015

    Kamyabi ke raste me kayi rode bhi aate hain, lekin kabhi kabhi ham khud rode ban jate hai, iske bare me apne achhi jankari di hai.

  • raman17 Jul 2014

    मैं भी कामयाब होना चाहता हूं। लेकिन क्या ये चीजें सच में असर डालती है कामयाबी की राह में। जो इंसान एक बार कामयाब हो जाता है वो कहां सोचता है इन सबके बारे में। लेकिन आपने अच्छी जानकारी दी है। धन्यवाद

  • raman17 Jul 2014

    मैं भी कामयाब होना चाहता हूं। लेकिन क्या ये चीजें सच में असर डालती है कामयाबी की राह में। जो इंसान एक बार कामयाब हो जाता है वो कहां सोचता है इन सबके बारे में। लेकिन आपने अच्छी जानकारी दी है। धन्यवाद

  • raman17 Jul 2014

    मैं भी कामयाब होना चाहता हूं। लेकिन क्या ये चीजें सच में असर डालती है कामयाबी की राह में। जो इंसान एक बार कामयाब हो जाता है वो कहां सोचता है इन सबके बारे में। लेकिन आपने अच्छी जानकारी दी है। धन्यवाद

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर