गंभीर दिमागी बिमारी से ग्रस्‍त बॉयफ्रेंड से ऐसे करें डील

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 12, 2017
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • ब्वायफ्रेंड का मूड स्विंग होने पर पूछें उससे परेशानी।
  • ब्वायफ्रेंड का मूड स्विंग होने पर उसे हील करें।
  • ज्यादा मूड स्विंग होने पर काउंसलर के पास ले जाएं।

दिशा तब बड़ा अजीब लगा जब वह अपने ब्वायफ्रेंड रोहन के साथ डिनर कर रही थी और वह बिना कुछ बोले वहां से चला गया। दिशा काफी देर तक सोचती रही। कुछ देर बाद उसने पेमेंट किया और वहां से चली गई। लेकिन इसके बाद दिशा का रोहन के साथ ब्रेकअप हो गया। सिर्फ दिशा ही नहीं तमाम लड़कियां हैं जो अपने पार्टनर के मूड स्विंग का शिकार होती हैं और अंततः अपने रिश्ते का ब्रेकअप के रूप में अंत कर देती है। लेकिन ब्रेक के अलावा और भी विकल्प हैं। हम यहां उन्हीं विकल्पों पर चर्चा करेंगे।

 

उससे पूछें कि हुआ क्या

मूड स्विंग का शिकार कोई भी हो सकता है। इसका मतलब य नहीं है कि आप अपने ब्वायफ्रेंड से ब्रेकअप कर लें। यह जानने की कोशिश करें कि आखिर समस्या कहां है? मूड स्विंग होने की वजह क्या है? यही नहीं उससे बातें करें। उसकी समस्या को समझने की कोशिश करें। उसे मझदार में छोड़कर न जाएं। इसके उलट उसे हील करने की कोशिश करें। भावनात्मक सहारा बनें। उसकी आंतरिक स्थिति को बातों के जरिये समझने की कोशिश करें और समस्या की तह तक जाएं।

 

अगर वजह कुछ न हो

नक्ष पिछले दिनों दफ्तर में काम करते हुए डल हो गया। नतीजतन उसने अपनी गर्लफ्रेंड की अनदेखी की। अंजू ने इस बात को ज्यादा तूल न देते हुए अगले दिन अपने ब्वायफ्रेंड से जानना चाहा कि आखिर वजह क्या थी? लेकिन नक्ष के पास कोई जवाब नहीं था। वह काफी कुछ सोचते हुए भी सिर्फ इतना ही कह पाया कि मैं नहीं जानता कि मेरा मूड क्यों खराब था।
वास्तव ऐसा सिर्फ नक्ष के साथ होता हो, ऐसा नहीं है। हम सब इस तरह की स्थिति का शिकार होते हैं। हमें यह पता ही नहीं होता कि आखिर हम परेशान क्यों हैं या फिर डल क्यों हो रहे हैं। ऐसे समय में किसी का प्रेशर करना और भी खलता है। अतः यदि आपका ब्वायफ्रेंड आपको अपने मूड स्विंग की कोई वजह न बता पाए तोउसे प्रेशर न करें।

 

स्पेस दें

अगर आपके ब्वायफ्रेंड का मूड खराब हो तो बिना सोचे समझें उसे स्पेस दें। स्पेस देने से न सिर्फ आपकी समस्या का हल होगा वरन आपके ब्वायफ्रेंड को अपने लिए समय भी मिल जाएगा। स्पेस में वह अपनी कमियों को पूरा करने की कोशिश करेगा। यही नहीं स्पेस के जरिये वह जान पाएगा कि क्या आपका दोनों का रिश्ता अच्छा चल रहा है। यदि इसमें कोई परेशानी है तो कहां है, उसे सही करने की कोशिश करेगा। वास्तव में स्पेस रिश्तों की गहराई के अत्यंत आवश्यक है। स्पेस महज मूड स्विंग होने पर ही न दें, कभी कभार आप भी स्पेस लें। मतलब यह कि ब्वायफ्रेंड से कुछ दिनों के लिए दूरी बनाएं ताकि एक दूसरे अहमियत बनी रहे।

इसे भी पढ़ें - जानें क्यों झूठ बोलते हैं अच्छे दोस्त

अगर मूड स्विंग ज्यादा हो

ऐसा भी हो सकता है कि आपके ब्वायफ्रेंड को पता ही नहीं है कि उसका छोटी छोटी बातों पर मूड स्विंग हो जात है। कुछ दिनों वह इस तरह की परेशानियां आपके सामने ला खड़ा करता है। ऐसी स्थिति में हो सकता है कि आपके रिश्ते में कड़वाहट घुलने लगें। इस बात को याद रखें कि रिश्ते बनाने से ही बनते हैं और बिगाड़ने से बिगड़ते हैं। यदि आप अपने ब्वायफ्रेंड के साथ जिंदगी गुजारने की ठान ली है तो बेहतर है कि उसे उसके बदले रवैय्ये के प्रति अवगत कराएं। उसे एहसास कराएं कि उसका बार बार मूड स्विंग होता है जो कि अच्छी बात नहीं है। साथ ही उसके मूड को बदलने की कोशिश करें।

साथ घूमने जाएं

यदि आपका ब्वायफ्रेंड का बार बार मूड स्विंग हो रहा है तो उसे अपने साथ किसी आउटिंग पर ले जाएं। आउटिंग पर ले जाना एक ऐसा समाधान है जो किसी पर भी काम करता है। अपने ब्वायफ्रेंड के दिल के करीब आना है तो उसके साथ घूमें। दुनिया को नए अंदाज में देखें। समंदर किनारे जाएं, वादियों का नजारा लें। हिलस्टेशन भी जा सकते हैं। कहने का मतलब यह है कि मूड स्विंग से परेशान अपने ब्वायफ्रेंड के साथ घूमने निकल जाएं। अपनी समस्या की गठरी कहीं फेंक आएं।

 

उसे बाहों में भर लें

कई दफा शब्द जो काम नहीं कर पाता, खामोशी वो काम कर जाती है। ऐसा हो सकता है कि आपका ब्वायफ्रेंड बार बार हो रहे मूड स्विंग से खुद भी परेशान है। लेकिन वह कुछ भी कर पाने में असमर्थ हैं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि उसे समझाने के लिए शब्दों का ही उपयोग किया जाए। अगर वह आपसे बार बार स्पेस मांग रहा है, खुद से दूर जाने को कह रहा है तो ऐसे में एक बार आप उसे अपनी बाहों में भर लें। जो जादू आपके शब्द नहीं कर पाएंगे, वही जादू आपका प्यार कर दिखाएगा। ऐसा करने से उसे सुरक्षा का एहसास होगा। साथ ही उसे यह भी लगेगा कि कोई है जो बुरे वक्त में उसका साथ नहीं छोड़ता।

 

काउंसलर के पास जाएं

यदि आपका ब्वायफ्रेंड बार बार मूड स्विंग से परेशान हो रहा है जिसका गहरा असर आपके रिश्ते पर पड़ रहा है। यही नहीं आपका रिश्ता टूटने की कगार पर पहुंच गया है। ऐसे में बेहतर है कि आप अपने ब्वायफ्रेंड को लेकर काउंसलर के पास जाएं। संभव है कि आपका ब्वायफ्रेंड काउंसलर के पास जाना न चाहे। लेकिन उसे समझाने की कोशिश करें कि बार बार मूड स्विंग होने से उनका रिश्ता टूट सकता है। उसे यह भय दिखाएं कि कहीं बार बार बदलते मूड के कारण कहीं वह आपको खो न दें। यही नहीं उसे यह भी एहसास कराएं कि बनते बिगड़ते मूड के कारण वह अपने सभी नजदीकी दोस्तों को खो सकता है। इन सबके बाद उसे काउंसलर के पास अवश्य ले जाएं।

 

Read more articles on Realtionship in hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES1 Vote 1894 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर