60 सेकेण्‍ड में कमर दर्द को करें छूमंतर

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 22, 2014
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • कमर का दर्द बहुत ही तकलीफ देने वाला होता है।
  • डॉक्‍टर ओज के तरीकों से जल्‍द दूर होता है कमर दर्द।
  • कम्‍फ्रे की सिंकाई स्‍नायुबंधों को करती हॅ दुरुस्‍त।
  • स्‍ट्रेचिंग से भी रीढ़ की हड्डी रहती है मजबूत।

कमर दर्द आपको तड़पा सकता है। और जब तक इसका इलाज न किया जाए आपके पास दर्द से कराहने के अलावा और कोई दूसरा रास्‍ता नहीं होता। कमर दर्द के कारण पैदा हुई परेशानी के कारण आपको कई रातें जागते हुए गुजारनी पड़ती हैं। और किसी भी प्रकार से आपको आराम नहीं मिलता। लेकिन, अच्‍छी बात यह है कि कमर दर्द से आसानी से और जल्‍दी छुटकारा पाया जा सकता है। जानेमाने फिजियोथेरेपिस्‍ट डॉक्‍टर ओज (Oz) का करामाती तरीका महज 60 सेकेण्‍ड में कमर दर्द को दूर करने का दावा करता है।

डॉक्‍टर ओज का कहना है कि कमर दर्द के दौरान वक्त बहुत लंबा और तकलीफदेह हो सकता है। मिनट घंटों के समान लगते हैं। और आजकल के दौर में लोगों को सिर्फ आराम नहीं, बल्कि फौरन आराम चाहिये। तो डॉक्‍टर ओज का जादुई दर्दनिवारक महज 60 सेकेण्‍ड और शायद इससे भी कम वक्‍त में दर्द दूर कर सकता है।

back pain treatment in hindi

इसे भी पढ़ें : दर्द से हैं परेशान, तो ऐसे फरमाएं आराम

कमर दर्द से कैसे बचें

कम्‍फ्रे की सिंकाई  (Comfrey Compress)

कम्‍फ्रे की सिकाई के बारे में बात करते हुए डॉक्‍टर ओज कहते हैं कि ये दवा काफी तेज काम करती है। यह तरीका पुरातन इलाज पद्धति है जिसमें एक सिले हुए बैग में पौधों या दवाओं के मिश्रण को सीधा उस हिस्‍से पर लगा दिया जाता है, जिसे इलाज की जरूरत होती है।

इस इलाज को करते समय, आपको एक मलमल का कपड़ा लेकर उस पर कम्‍फ्रे आइंटमेंट की परत लगा दें। बाजार से यह दवा 5-20 प्रतिशत मेल के साथ क्रीम, पॉलट्री और लेप के रूप में मिलता है। यह तत्‍व सूखे या ताजा पत्‍तों से मिलाकर बनाया जाता है। अपनी चिकित्‍सीय खूबियों के कारण केम्‍फ्रे को जख्‍मों, कटे और मांसपेशियों या स्नायुबंधनों की चोट पर लगाया जा सकता है।


डेविल्‍स क्‍लॉ (Devil’s Claw)

डॉक्‍टर ओज का कहना है कि लोअर बैक के दर्द को दूर करने में बेहद मददगार होता है। यह सप्‍लीमेंट के रूप में मिलता है और इसे सूजन कम करने के लिए इस्‍तेमाल किया जाता है। श्रोणिक क्षेत्र के स्‍नायुबंध आमतौर पर टूट जाते हैं जिसके कारण लोअर बैक में दर्द हो सकता है। डॉक्‍टर ओज का कहना है कि दर्द दूर होने तक दिन में 100 मिलिग्राम तक डेविल्‍स क्‍लॉ लिया जा सकता है।

back pain in hindi

इसे भी पढ़ें : स्‍मूदी की मदद से दूर करें पीठ दर्द

स्‍ट्रेच (Supine Stretch)

डॉक्‍टर ओज के मुताबिक बैठे समय खड़े होने के मुकाबले रीढ़ की हड्डी पर अधिक दबाव पड़ता है। उनका कहना है कि एक सामान्‍य व्‍यक्ति सप्‍ताह में 50-60 घंटे बैठा रहता है, जो कमर दर्द की बड़ी वजह है। उनका कहना है कि रीढ़ की हड्डी पर अधिक दबाव पड़ने के कारण दर्द होता है। लगातार बैठे रहने के कारण कशेरुकाओं के बीच डिस्‍क में रक्‍त संचार कम हो जाता है। इससे दर्द होने लगता है। इससे अंत में डिस्‍क में पानी की कमी हो जाती है और उसमें अकड़न आ जाती है। और इस अकड़न के कारण व्‍यक्ति जब मुड़ता है, तो उसके रीढ़ की हड्डी में चोट लगने का खतरा होता है। और यही चोट कमर दर्द का एक बड़ा कारण होती है।

कमर दर्द से बचने के लिए और रीढ़ की हड्डी को और अधिक लचीला बनाने के लिए डॉक्‍टर ओज स्‍ट्रेच करने की सलाह देते हैं। उनका कहना है कि नियमित रूप से स्‍ट्रेच करने से रीढ़ की हड्डी में जरूरी लचीलापन बना रहता है। अगर आपकी रीढ़ की हड्डी सही प्रकार काम करती रहे तो आपका जीवन भी सेहतमंद रहता है। इसलिए रीढ़ की हड्डी को किसी भी प्रकार की परेशानी से बचाने के लिए हमें हर जरूरी कदम उठाना चाहिये।


Image courtesy: Getty Images


Read More Articles on Pain Management in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES546 Votes 26560 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर