अचानक आने वाली खांसी को कैसे करें कंट्रोल, जानिए

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 09, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • सर्दी या फ्लू के कारण होता हैं खांसी का हमला।
  • खांसी का कारण शुष्‍क वातावरण हो सकता है।
  • नींबू और शहद के साथ गर्म चाय का सेवन करें।

हालांकि खांसी का हमला आमतौर पर सर्दी या फ्लू से पीडि़त होने के कारण होता है, लेकिन यह किसी भी समय हो सकती है। इसका कारण गले में संक्रमण, धूम्रपान, बदलता मौसम, ठंडे और गरम को एक साथ लेना, या फिर धूल या किसी अन्य चीज से एलर्जी हो सकता है।
 
खांसी का हमला आपकी दैनिक गतिविधियों को भी प्रभावित कर सकता हैं। इसके अलावा इसका सार्वजनिक होना, किसी के लिए भी शर्मनाक हो सकता हैं। लेकिन घबराइए नहीं क्‍योंकि कई ऐसे तरीके हैं जिन्‍हें अपनाकर आप खांसी के हमले को रोक सकते हैं। आइए ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में जानें।
 
cough attack in hindi


इसे भी पढ़ें : खांसी के लिए घरेलू उपचारों के बारे में जानें

तैयार रहें

इस समस्‍या से निपटने का सबसे अच्‍छा तरीका है कि कभी भी होने वाले इस खांसी के हमले के लिए आप खुद को तैयार करें। खांसी और एलर्जी की दवा और इनहेलर मौजूद होने पर आप इस हमले से बेहतर तरीके से लड़ पायेंगे। खांसी का दौरा पड़ने पर खांसी की दवा को धीरे-धीरे चूसें।


हमले का कारण एलर्जी

अधिकांश एलर्जी आपको अत्यधिक खांसी के हमले पर ला सकती हैं। अगर आपको एलर्जी की समस्‍या है तो खांसी के हमलों से बचने के बारे में अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए। एलर्जी के मौसम के दौरान एलर्जी दवा का सेवन खांसी के हमले को कम कर सकता है।


गर्म-तरल पदार्थ

खांसी के हमले के दौरान कई लोग पानी लेते हैं। लेकिन ठंडा पानी पीने की बजाय, गर्म पानी खांसी के हमले को रोकने के लिए बहुत ही कारगर हो सकता है। नींबू और शहद के साथ गर्म चाय खांसी के हमले को रोकने का शानदार तरीका है। क्‍योंकि चाय में प्राकृतिक सुखदायक प्रभाव और शहद में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल तत्‍व खांसी को तुरंत कम कर देते है। शहद के साथ गर्म दूध पीना खांसी को शांत करने का एक और तरीका है। इसलिए जब आपको आम सर्दी या खांसी पकड़ लें तो इससे बचने के लिए इसका सेवन कीजिए।

hot liquid in hindi

वातावरण भी करता है प्रभावित

वातावरण भी खांसी के हमले का कारण हो सकता है। जब आपको खांसी का हमला हो तो कमरे से बाहर ठंडी जगह पर जाये। इसके अलावा तंग कपड़ों को ढीला कर दें। सर्दियों में भी इसी तरह खांसी का कारण शुष्‍क वातावरण हो सकता है। बाहर की सूखी हवा को कम करने के लिए घर को गर्म करें और हवा में नमी को पुनः निर्माण करें ताकी आपको खांसी को दूर रखने में मदद मिल सकें।


सांसों पर नियंत्रण

खांसी को नियंत्रित करने की कोशिश करने के लिए आपको अपनी सांसों पर नियंत्रण करने का प्रयास करना चाहिए। अपनी नाक के माध्यम से धीरे धीरे सांस लेने का प्रयास करें। खांसी शांत करने के लिए एक कप चाय के रूप में गर्म पेय पीना खांसी के हमले को गंभीरता से कम कर देता है। शहद की एक चम्मच भी खांसी में चिड़चिड़ा महसूस करने को खत्‍म करने में आपकी मदद करता है।


धूम्रपान बिलकुल भी न करें

एक्टिव और पेसिव धूमप्रान से बचें। स्‍मोकी कमरे या अन्‍य स्‍मोकी स्‍थानों से बचें। क्‍योंकि यह आपके गले को नुकसान पहुंचा सकते हैं और यह हवा में उपस्थित धुआं फेफड़ों को प्रभावित कर आपकी सांस में परेशानी पैदा कर सकता है। धूम्रपान कर रहें व्यक्ति के नजदीक बैठना भी एलर्जी से प्रभावित होने वाले व्यक्ति में सांस की तकलीफ और खांसी को बढ़ा देता है।


अरोमाथेरपी करायें

अगर आप खांसी के हमलों से ग्रस्‍त हैं तो आप अरोमाथेरपी का सहारा ले सकते हैं। इसके लिए नीलगिरी के तेल की तीन बूंदें, थाइम तेल की दो बूंदें और मुलायम या पिघले हुए नारियल तेल के दो चम्मच को मिलाकर मिश्रण बन लें। इस मिश्रण को छाती पर लगाये और गहरी सांस लें।
 
ज्यादातर मामलों में, खांसी एक छोटी सी झुंझलाहट और समय के साथ हल हो जाती है। अगर ऐसा नहीं होता है, तो अपने चिकित्सक की सलाह लीजिए।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Image courtesy : getty images  

Read More Article on Sore Throat in Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES40 Votes 8256 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर