अपने बच्‍चे के लिए कैसे चुनें सही नाम

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 27, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • बच्‍चे का नाम अर्थपूर्ण और उच्‍चारण में आसान होना चाहिए।
  • इंटरनेट की मदद से भी चुना जा सकता है बच्‍चे के लिए नाम।
  • मां-पिता दोनों को बैठकर चुनना चाहिए अपने बच्‍चे के लिए नाम।
  • नाम ही उम्र भर के लिए बच्‍चे की पहचान बन जाता है।

नाम ही तो आपके बच्‍चे की पहली पहचान बनता है। यह जिंदगी भर उसके साथ जुड़ा रहता है। बच्‍चे का नाम रखते समय आपको कई बातों का खयाल रखना पड़ता है। परंपराओं, सामाजिक नियम, पारिवारिक रीति-रिवाज तथा और भी तमाम बातों का ध्‍यान रखकर ही नाम रखा जाता है। आम ऐसा नाम रखना चाहते हैं तो अर्थपूर्ण होने के साथ-साथ उच्‍च‍ारण में भी आसान हो। जो भी हो, कई बार बच्‍चे का नाम रखना काफी मुश्किल हो सकता है। आपको अपने बच्‍चे का नाम चुनने से पहले कई पहलुओं पर गौर करना होता है।

नाम हो आसान

सबसे पहले इस बात पर विचार कीजिए कि आप अपने बच्‍चे के लिए किस तरह का नाम चाहते हैं। आपको अनूठा नाम रखना है या फिर अपने सामाजिक और सांस्‍कृतिक माहौल से मेल खाता हुआ कोई नाम। इन दोनों के ही अपने नफे-नुकसान हैं। सामान्‍य नाम से जहां वह खुद को समाज में अधिक फिट महसूस करेगा और एक अनूठा नाम आपके बच्‍चे को खास होने का अहसास कराएगा। यह आपकी मर्जी है कि आप अपने बच्‍चे को कैसी पहचान देना चाहते हैं। आप अपने बच्‍चे का नाम उसके सहोदर (सगे भाई बहन) से मिलता-जुलता रख सकते हैं। ऐसा करने से बच्‍चा अपने भाई-बहनों से अधिक जुड़ाव महसूस करता है।

 

good name

अर्थ पूर्ण हो नाम

नाम का कोई अर्थ होना चाहिए। यूं ही नाम रख देना कई बार हास्‍यास्‍पद स्थिति पैदा कर देता है। जैसे फिल्‍म 'खोसला का घोसला' में नायक का नाम चिंरौजी लाल खोसला, उसके लिए परेशानी और शर्मिंदगी का सबब बन जाता है। पहले लोग नाम रखने को लेकर इतने सजग नहीं थे, लेकिन आज के इस दौर में नाम को लेकर काफी सजगता बरती जाती है। परिवार भी इसे लेकर गंभीर हो गए हैं। वे जानते हैं कि नाम को लेकर बच्‍चे को मनोवैज्ञानिक दबाव का सामना भी करना पड़ सकता है। जिसका असर उसके भविष्‍य पर पड़ने की आशंका रहती है।

परिवार की भूमिका

बच्‍चे का नाम रखते हुए कई बार पारिवारिक स्थितियां और माहौल आपके सभी विचारों पर भारी पड़ जाते हैं। लेकिन, फिर भी आपको सोचना चाहिए कि आपके बच्‍चे के नाम का उच्‍चारण कैसा रहेगा और कहीं ऐसा तो नहीं कि बड़ा होने के बाद उसे अपने नाम को लेकर शर्मिंदगी का अहसास हो। पारिवारिक नामों में थोड़े बहुत बदलावों को अब स्‍वीकार किया जा रहा है। कई बार हम अपने बच्‍चे का नाम ऐसा रख देते हैं कि बोलते हुए जुबान ही टेढ़ी हो जाए। यूनीक नाम बनाने के चक्‍कर में ऐसा करना कतई उचित नहीं है।

 

father and son

अपने साथी से करें बात

अपने साथी की मदद से कुछ नामों की लिस्‍ट बनायें। इसके बाद किसी एक नाम पर सहमति बनायें। आप जो नाम अपने बच्‍चे को देंगे वह उसके जीवन भर की पहचान होगी। तो घबरायें नहीं, हर पहलू को ध्‍यान से परखें। यदि आपके परिवार में मिडिल नेम रखने की परंपरा है, तो एक बार उसके बिना अपने बच्‍चे का नाम बोलकर देखें। इससे आपको नाम की पहचान करने में आसानी होगी।

ऑनलाइन का लें सहारा

आजकल तमाम ऐसी वेबसाइट्स मौजूद हैं, जो आपके बच्‍चे का नाम चुनने में मदद करती हैं। इन साइट्स पर आपको न केवल नाम मिलेंगे, बल्कि उनका क्षेत्र, महत्‍व और अर्थ भी पता चल जाएगा। इतना ही नहीं इसमें आपको भारतीय नामों के साथ ही दुनिया भर की कई जुबानों में अपने बच्‍चे के लिए सही नाम चुनने में मदद मिलेगी।

 

बच्‍चों के लिए नाम सही तलाशना कोई बच्‍चों का खेल नहीं। कितने पापड़ बेलने पड़ते हैं इसके लिए। आखिर यह आपके बच्‍चे की उम्र भर की पहचान का जो मामला है। इसलिए जरूरी है कि आप अपने बच्‍चे के लिए सही और अर्थपूर्ण नाम चुनें।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES18 Votes 6544 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर