शाकाहार के जरिये भी आप बना सकते हैं मजबूत और आकर्षक मसल्स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 09, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • भोजन में प्रोटीन की प्रचुर मात्रा और वर्कआउट से बनती हैं मसल्‍स।
  • शाकाहारी भोजन के द्वारा भी बनाई जा सकती हैं आकर्षक मांसपेशियां।
  • भोजन के निर्धारण में डाइटीशिइयन या जिम इंस्ट्रक्टर से लें सलाह।
  • बीमारियों के खतरे को भी कम करता है शाकाहारी भोजन का सेवन।

कुछ लोग यह सोचते हैं कि शाकाहारी लोग मसल्स नहीं बना सकते या उनकी मसल्स मांसाहारी व्‍यक्तियों की तुलना में कम बनती हैं। जबकि सच यह है कि शाकाहारी भोजन में मसल्स बनाने के लिए सभी जरूरी पोषक तत्व होते हैं। यदि आप भी शाकाहारी हैं और मसल्स बनाना चाहते हैं, तो इस लेख के जरिए हम आपको बता रहे हैं मसल्‍स बनाने के टिप्‍स।

Veg Food and muscles building

 

पूर्व में हुई शोधों से साफ हो चुका है कि शाकाहारी भोजन बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। मांसाहारी भोजन के मुकाबले शाकाहारी भोजन को शरीर आसानी से पचा लेता है। सब्जियों से मिलने वाली कार्बोहाईड्रेट और वसा बीमारियों से बचाव करती है, साथ ही प्रोटीन से आपकी मसल्स का निर्माण होता है। सब्जियों में शरीर के लिए फायदेमंद विटामिन्‍स, एंटीऑक्सीडेंट और अमीनो एसिड भी पाया जाता है।

हरी सब्जियों के सेवन से कैंसर जैसी घातक बीमारी के खतरे को कम किया जा सकता है। शाकाहारी भोजन में पाचन क्रिया में सहायक फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। आगे बात करते हैं ऐसे ही कुछ शाकाहारी खाद्य पदार्थों की जिनके सेवन और वर्क आउट से आप आकर्षक और मजबूत मसल्स पा सकते हैं।

 

राजमा और दालें खाएं

राजमा उत्‍तर भारत में रोटी व चावल के साथ खाया जाने वाला पसंदीदा आहार है राजमा। मसल्स बनाने की बात करें तो एक कप राजमा में 120 कैलोरी और 5 ग्राम प्रोटीन होता है। मसल्‍स के निर्माण में मूंग की दाल भी फायदेमंद रहती है। मूंग को अंकुरित कर‍ सब्जियों के साथ तलकर खाएं, इससे आप स्‍वस्‍थ बने रहेंगे। एक कटोरी स्‍प्राउट में 125 कैलोरी और 4 ग्राम फैट होता है, इसके सेवन से आपको वर्कआउट करने से मसल्‍स निर्माण में मदद मिलेगी।

यदि आपको सांभर पसंद है तो यह आपके लिए अच्‍छा विकल्‍प हो सकता है। सांभर को दाल और कई प्रकार की सब्जियों व मसालों से तैयार किया जाता है। एक कटोरी सांभर में 50 कैलोरी, 2.6 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 1 ग्राम प्रोटीन और 1.8 ग्राम वसा होता है। एक कप अरहर की दाल में 53 कैलोरी, 1.2 ग्राम वसा, 8 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 2.8 ग्राम प्रोटीन होता है। दलिया हल्‍का और सुपाच्‍य भोजन है, फाइबर से भरपूर दलिया का नाश्‍ते में सेवन करने से फायदा मिलेगा। एक कटोरी दलिया में लगभग 85 कैलोरी और 170 ग्राम प्रोटीन होता है।

 

ताजी सब्जियां और फल

मौसमी सब्जियों को अपने भोजन में शामिल करें, सब्जियां खनिज लवण से भरपूर होती हैं। मूली, मैथी, गाजर और पालक का सेवन आप सलाद के रूप में कच्चा कर सकते हैं। फल भी विटामिन से भरपूर होते हैं। जरूरी नहीं कि आप महंगे फल ही खाएं। अमरूद, आंवला, खीरा, खरबूज और तरबूज आदि मसल्‍स निर्माण में लाभदायक हैं। केले में बहुत सारा पोटैशियम होता है, जिससे एक्‍सरसाइज करते वक्‍त मासपेशियों में खिंचाव नहीं आता। शरीर में सोडियम की कमी हो जाने से मसल्‍स में खिंचाव पैदा हो जाता है लेकिन पोटैशियम से यह समस्‍या खतम हो जाती है।

 


प्रोटीन

आपका आहार संतुलित हो और उसमें प्रोटीन से भरपूर चीजें शामिल होनी चाहिए। सेल्‍स के निर्माण के लिए प्रोटीन की जरूरत होती है। बच्‍चों को प्रोटीन की ज्‍यादा जरूरत होती है। प्रोटीन के लिए चना, दाल, बादाम, काजू, अनाज और मटर का सेवन फायदेमंद रहता है। बटरमिल्‍क भी मसल्स बनाने में मददगार है। छाछ में नाम मात्र की वसा होती है, यह भी मसल्स निर्माण में सहायक है।

 

 

लोबिया और पालक खाएं

लोबिया को उबाल कर या फ्राई करके खाएं। कई सब्जियों के साथ मिलाकर खाने से इसका स्‍वाद अच्‍छा लगता है। एक कटोरी लोबिया में लगभग 198 कैलोरी होती है। पालक का साग खाएं, यह स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। एक कटोरी पालक के साग में 126.2 कैलोरी और 6.3 ग्राम प्रोटीन होता है।

 

 

कार्नफ्लेक्‍स और दूध

कार्नफ्लेक्‍स और दूध खाने से शरीर में जरुरी पौष्‍टिक तत्‍वों की कमी पूरी होती है। ऐसा कार्नफ्लेक्‍स चुनिये जो साबुत अनाज से बना हो। अगर मसल्स बनाने हैं तो दूध में बिल्‍कुल भी चीनी न मिलायें।

 

 

बादाम खाएं

एक मुठ्ठी बादाम खाने से शरीर में एनर्जी आ जाती है क्‍योंकि इसमें 15 प्रकार के जरुरी पोषक तत्‍व होते हैं। इसके अलावा इसमें विटामिन ई, पोटैशियम, फाइबर और कैल्‍शियम भी होता है। साथ ही रिसर्च से ये भी पता चला है कि इसमें उतनी कैलोरीज़ नहीं होती जितनी आपको लगती है।

 

 

 

Read More Articles on Sports & Fitness in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES42 Votes 4889 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर