अपनी एक्स गर्लफ्रेंड को हासिल करने के टिप्स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 17, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • रिश्‍तों में दरार के बाद तुरंत न करें बात करने की कोशिश।
  • आप प्‍यार करते हैं, इसलिए उसके निर्णय का सम्‍मान करें।
  • अहसान न जतायें, प्‍यार में अहसान की जगह नहीं होती।
  • आपके जज्‍बातों को बयां करता है एक प्‍यारा सा तोहफा।

जिंदगी से बड़ा नाटक मंच और कुछ नहीं। यहां किसके साथ कब और क्‍या हो जाए, कोई नहीं जानता। आपने कभी सोचा था कि जिसके सा‍थ होने का अहसास ही आपको सारी दुनिया से लड़ने की ताकत देता है, वही आपसे अलग हो जाएगा। नहीं ना... । लेकिन, ऐसा नहीं कि जो पहले साथ था और आज नहीं वह दोबारा फिर आपके साथ नहीं हो सकता। हो सकता है बेशक हो सकता है, लेकिन उसके लिए जरूरत है सही योजना बनाने और उसके क्रियान्‍वयन की। अपने दिल की सुनने की और फिर दिमाग के साथ उसका संतुलन बनाने की।

how to bring ex girlfriend backकभी आपका प्‍यार थी वो। आपके जीवन का सहारा। आपने साझा देखे थे सुनहरे भविष्‍य के सपने। लेकिन, आज जुदा हो चुकी हैं आपकी राहें। दुनिया कहती है कि अब वो आपके सा‍थ नहीं। लेकिन, इस कमबख्‍त दिल को कौन समझाये। यह आज भी उसे ही याद करता है। धड़क उठता है बस उसका नाम सुनते ही।

लाख चाहकर भी आप उसे भुला नहीं पा रहे। आप चाहते हैं कि एक बार फिर वो आपके साथ हो। एक बार आप दोनों की मोहब्‍बत परवान चढ़े। लेकिन उसके लिए सिर्फ दिल से काम नहीं चलेगा। यह काम जरा पेचीदा है और आपको हर कदम बड़ी सावधानी के साथ रखना होगा। जरा सी चूक आपको उसकी नजरों से ऐसे गिरा सकती है कि शायद दोबारा फिर पलटने का मौका ही न मिले।

थोड़ी जगह दें

जब से वो आपसे रूठ कर गयी है, आप लगातार उसके संपर्क में हैं। तमाम कोशिशें कर रहे हैं उसे मनाने की। कभी फोन, तो मैसेज, तो कभी ईमेल। अपने दिल की बात उन तक पहुंचाने का कोई जरिया, कोई मौका नहीं छोड़ा आपने। माना कि आपका दिल टूटा है और आप भावनाओं के वशीभूत होकर ऐसा काम कर रहे हैं। लेकिन,  जरा ठहरिये जनाब... कहीं ऐसा तो नहीं कि अपना प्‍यार दिखाने के चक्‍कर में आप खुद अपनी नजरों से गिरते जा रहे हैं।

सबसे पहले अपनी एक्‍स गर्लफ्रेंड से सभी प्रकार के संपर्क समाप्‍त कीजिए। जरा उनको भी तो एहसास हो आपकी कमी का। न फोन, न चिट्ठी, न मैसेज, न ईमेल, कुछ भी नहीं। किसी भी प्रकार का संपर्क नहीं। हालांकि, यह जरा मुश्किल है, लेकिन याद रखिए कुछ दिनों बाद आपको इस बात की अनुभूति हो कि शायद जो आपने किया वह सही था।

थोड़े दिन रुककर करें बात

कुछ समय बाद अपनी एक्‍स गर्लफ्रेंड को फोन करें और बात करें। उससे इस बारे में पूछें कि क्‍या वह नॉन कमिटेड रिलेशन रखना चाहेगी। यानी क्‍या आप दोनों दोस्‍त बनकर साथ रह सकते हैं। उसके जवाब का इंतजार करें। आप अपने दोनों के बीच खत्‍म हो चुके रिश्‍ते को लेकर अपनी ओर से माफी भी मांग सकते हैं। आप उसे कह सकते हैं कि आप दोनों के बीच कुछ चीजें बेहतर ढंग से की जा सकती थीं। इस बात का ध्‍यान रखिये कि आपके बात करने का अंदाज सामान्‍य हो।

उसके फैसले का सम्‍मान करें

चाहे आपके बीच किसी भी वजह से संबंध विच्‍छेद हुआ हो, लेकिन उसके फैसले का हमेशा सम्‍मान करें। आप उसे इस बात का अहसास न करायें कि रिश्‍ता खत्‍म होने में उसकी गलती थी या फिर उसे ऐसा नहीं करना चाहिये था। अगर आप उसके फैसले का सम्‍मान नहीं करेंगे, तो इससे यह निर्देश जाता है कि आप उसका भी सम्‍मान नहीं करते। उसके फैसले का सम्‍मान करना यह दिखाता है कि आप अपने रिश्‍ते में ईमानदार थे, उससे प्‍यार करते थे, इसलिए आप अपनी निजी सहमति असहमति को दरकिनार करते हुए भी उसके निर्णय का सम्‍मान करते हैं। और हां अगर अब उसके जीवन में कोई दूसरा आ चुका है, तो जनाब भूलकर भी उस रिश्‍ते को खराब करने की कोशिश न करें।

अहसान न जतायें

प्‍यार में अहसान की कोई जगह नहीं होती। आप जो कुछ भी एक दूसरे के लिए करते हैं, उसके पीछे कहीं न कहीं आपकी अपनी खुशी छिपी होती है। तो कभी भी उसे इस बात का अहसास न करायें कि आपने उसके लिए क्‍या किया है। बेशक उसे भी यह याद होगा। वे यादें आप दोनों की साझा हैं। भला वह उन्‍हें कैसे भुला सकती है। उन बातों का जिक्र कर आप उनकी अहमियत कम कर देते हैं। किसी के लिए कुछ करने के बाद उसे जता देना अच्‍छी आदत नहीं। कड़वे शब्‍दों में कहा जाए, तो निम्‍न स्‍तर की बात मानी जाएगी। लड़कियां वैसे भी भावुक होती हैं, इन बातों का जिक्र कर आप उसे ठेस ही पहुंचाएंगे। तो जरूरी है कि जब भी आप उनसे बात करें तो आपका लहजा नरम ही हो।

तोहफा दें

क्‍या हुआ अगर वो आपके साथ नहीं है। तोहफा तो दोस्‍तों को भी दिया जा सकता है। लड़कियों का दिल जीतने (भले ही वह दोबारा क्‍यों न हो) में अहम किरदार निभाते हैं तोहफे। कहते हैं जिन बातों को आप अल्‍फाजों में नहीं पिरो पाते, उन्‍हें बहुत आसानी से कह जाता है आपका तोहफा। हां, इस बात का खयाल रखें कि तोहफे का दाम नहीं उसके पीछे छुपे जज्‍बातों की कीमत होती है।

कई बार सिर्फ फूल ही आपके दिल की बात कहने के लिए काफी होते हैं। आपका तोहफा खास और रोमांटिक होना चाहिये। आप उसकी पसंद का तोहफा दें, तो और भी अच्‍छा होगा। आप वाकई अपनी 'एक्‍स' की जिंदगी का अहम‍ हिस्‍सा बनना चाहते हैं, तो सिर्फ तोहफे ही काफी नहीं। आपको उसे जताना होगा कि आप उसे प्‍यार करते हैं और उसकी फिक्र करते हैं। उसे बताइए कि वो एक पल के लिए भी आपकी नजरों से दूर नहीं हुई। बंद आंखों में उसके ख्‍वाब और खुली आंखों से सिर्फ उसका दीदार किया है आपने।

जरा जलाइए

अपनी एक्‍स गर्लफ्रेंड को हासिल करने का कारगर तरीका है यह। लेकिन, यह बूमरैंग जैसा हो सकता है। जरा सी गलती और सारा मामला खत्‍म। बहुत अहम पड़ाव होता है यह। उसे अपने आपको खुश दिखायें। अपनी एक्‍स को इस बात का अहसास करायें कि आप उसे पूरी तरह भुलाकर आगे बढ़ चुके हैं। सबके साथ फ्लर्ट और मजाक करें। इस दौरान उसकी उम्‍मीद होगी कि आप उसके बिना दुखी व उदास होंगे। लेकिन, जब वह आपका यह खुशमिजाज अंदाज देखेगी, तो जाहिर तौर पर जलन तो होगी ही। तो, प्रफुल्लित रहिये। आपकी खुशी उसे आपके करीब लाने में मदद करेगी।

गीत या कलम से कहें अपनी बात

उसे एक प्‍यारा सा खत लिखें। कागज पर अपनी भावनाओं को पूरी तरह उढ़ेल दें। इस खत में आपका उसके प्रति सम्‍मान और प्रेम प्रदर्शित होना चाहिए। लगना चाहिए कि आपके दिल में उसके लिए कितनी अच्‍छी भावनायें हैं। अगर आपको लगता है कि आप खत नहीं लिख सकते, तो फिर अपनी रिकॉर्डेड आवाज में भेज दें अपने दिल की बात। इसे आप उसके मोबाइल पर भी भेज सकते हैं।

धीरज धरो सैंया

सब्र रखें। सब्र का फल हमेशा मीठा होता है। उसे इस बात का अहसास होने में वक्‍त लगेगा कि आखिर उसने क्‍या खो दिया। इसके साथ ही आप भी एक बेहतर व्‍यक्ति बनने का प्रयास करें। अगली बार जब वह आपको नये और बदले हुए अंदाज में देखे तो उसके दिल में 'वॉव' होना चाहिए। उसे लगना चाहिये कि आप पिछली बार से काफी बेहतर हो चुके हैं। हो सकता है कि इससे उसके दिल में 'कुछ कुछ' हलचल होने लगे। अपनी खूबियों को न खोएं। याद रखिए वह किन बातों को लेकर आपसे नाराज रहती थीं और उनमें से कितनी आपने सुधार ली हैं।

इन टिप्‍स को आजमाने के बाद एक बार फिर आप दोनों साथ होंगे। बेशक इसके बाद आप दोनों जिंदगी के सफर पर एक बार फिर हमसफर होंगे। और अगर इसके बाद भी वो आपकी जिंदगी में नहीं आती, तो हुजूर जिंदगी समाप्‍त नहीं हुई। जिंदगी चलते रहने का नाम है। उसे उसकी जिंदगी के लिए शुभेच्‍छायें देकर आप अपने जीवन में आगे बढि़ये।

 

 

 

Read More Articles On Relationship in Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES139 Votes 9552 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर