गर्भावस्‍था के दौरान खुश रहने के 5 आसान उपाय

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 26, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • गर्भावस्‍था के दौरान होते हैं हार्मोनल बदलाव।
  • महिलाओं का स्‍वभाव चिढ़चिढ़ा हो जाता है।
  • खुश रहने के लिए अपने से प्‍यार करना सीखें।
  • व्‍यायाम और भोजन बनाएगा आपको सकारात्‍मक।

गर्भावस्‍था सृजन की अवस्‍था है। और कहते हैं कि सृजन तभी सुंदर हो सकता है, जब वह आनंद में डूबकर किया जाए। लेकिन, इस दौरान होने वाले बदलाव स्‍वभाव और व्‍यवहार पर विपरीत प्रभाव डाल सकते हैं। लेकिन, फिर भी खुशी हासिल करना इस कदर मुश्किल नहीं।

 

 

गर्भावस्‍था के दौरान खुश कैसे रहेंगर्भावस्था किसी भी महिला के लिए काफी खुशी भरा अनुभव होता है। लेकिन, इस दौरान होने वाले शारीरिक और मानसिक बदलाव महिला को काफी परेशान भी कर सकते हैं। इसके अलावा हार्मोन्स में तब्दीलियां आने से उसका स्वभाव भी काफी चिढ़चिढ़ा हो जाता है। ऐसे में सकारात्मरक रवैया अपनाए रखना और खुश रहना आसान नहीं।

 

लेकिन, ऐसा नहीं है कि इस दौरान खुश रहा ही नहीं जा सकता। कुछ ऐसे टिप्स हैं जिन्हें अपनाकर गर्भवती महिला के चेहरे पर मुस्कान कायम रह सकती है।

 

 

अपने शरीर को जानें

खुश रहने के लिए जरूरी है कि आप गर्भावस्था के बारे में अधिक से अधिक जानें। यदि आपको इस बात की जानकारी होगी कि गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर में किस प्रकार के बदलाव आते हैं, तो आप उनके साथ अधिक सहजता से रह पाएंगीं। इससे आपको यह मालूम होगा कि आपके साथ जो हो रहा है इसके पीछे कोई उचित कारण है। कारण जानने के बाद आपको तनाव कम होगा और आपका रवैया अधिक सकारात्मक होगा।

 

हर महिला अलग होती है। तो अपने शरीर के बारे में जानना और उन तनावग्रस्‍त बनाने वाले कारणों के बारे में मालूमात रखना काफी मददगार हो सकता है। इससे आपको शांत रहने में काफी मदद मिलेगी। मसाज, पैदल चलना, दोस्तों के साथ वक्ते बिताना, संगीत सुनना, हास्य कार्यक्रम देखना आदि आपके तनाव को दूर कर आपके लिए काफी मददगार हो सकते हैं।


सही खायें और कसरत करें

गर्भावस्‍‍था के दौरान आपका आहार सही होना चाहिए। इसके साथ ही आपको सही अनुपात में उचित व्यायाम भी करना चाहिए। इन दोनों चीजों का सही संतुलन आपको स्वस्थ बनाए रखता है। आप स्वस्थ‍ रहेंगी तो अधिक सक्रिय और सकारात्मक रहेंगी। इससे आपको इस बात का भी अहसास होता है कि परिस्थितियां आपके नियंत्रण में हैं। आपको इस दौरान हल्के व्यायाम, जैसे पैदल चलना, तैराकी और योग आदि का सहारा लेना चाहिए।

व्यायाम गर्भावस्था के दौरान होने वाले दर्द व अन्य तकलीफों को भी कम करने में मदद करता है। इससे आपकी पाचन क्रिया दुरुस्ता रहती है। इसके साथ ही यह आपको तनाव मुक्त भी बनाए रखने में मदद करता है। इसका अर्थ यह है कि प्रसव के समय और उसके बाद भी आप अधिक फिट रहेंगीं।


कहें दिल की बात

खुश रहने के लिए जरूरी है कि आप अपने दिल की बात किसी से कह सकें। गर्भावस्था के दौरान खुशमिजाज परिवार, दोस्त और डॉक्टर का साथ आपको तनाव से दूर रख सकता है। याद रखिए, आपको सब चीजों का सामना अकेले करने की जरूरत नहीं है। अगर अपनी गर्भावस्था के लेकर आप किसी भी प्रकार की चिंता में हैं, तो उसे इन लोगों के साथ जरूर साझा करें। याद रखें जिन लोगों पर आप भरोसा करते हैं, वे आपको सही समय पर उचित सलाह जरूर देंगे। वे आपको बताएंगे कि आप कैसे बेहतर महसूस कर सकती हैं। केवल अपनी चिंताएं ही नहीं, बल्कि अपने सकारात्मक विचार भी जरूर बांटें। इससे आप और आपके परिवार के बीच संबंध प्रगाढ़ बनते हैं।

 

अपनी फिक्र करें

गर्भधारण करना आपके लिए बेहद खुशी भरा समां होता है। याद रखें भू्ण आपके गर्भ में पल रहा है और ऐसे में आपको अपनी चिंता जरूर करनी चाहिए। दूसरों को खुश करने के लिए स्वयं को दुखी न करें। इसके स्थान पर अपनी जरूरतों का ध्यान रखें और देखें कि आखिर आपको क्या चाहिए। अपनी चिंता करें, मसाज करें, मैनीक्योनर करवाएं या कुछ भी ऐसा काम करें जो आपको तनावमुक्त और खुश रख सके। अगर आप अभी भी कार्य करती हैं, तो अपने ऊपर काम का बोझ कम करें। इस दौरान आपको सुविधाजनक मेटेरनिटी कपड़े पहनने चाहिए।


यादों का पिटारा बनाएं

गर्भावस्था के दौरान खुश रहने का एक पहलु यह भी है। आप गर्भावस्था के अपने अनुभवों को हमेशा सहेज कर रख सकती हैं। हो सकता है कि आपका आशावादी रवैया किसी और के लिए भी प्रेरणास्रोत बन सके। आप -
डायरी बना सकती हैं
ब्लॉग बना सकती हैं
तस्वीरें खिंचवा कर रख सकती हैं

 

इन सब उपायों को अपनाकर आप गर्भावस्‍था के चुनौतीपूर्ण समय में खुश और सकारात्‍मक बनी रह सकती हैं।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES50 Votes 6250 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर