मोतियाबिंद सर्जरी के बाद ‘आई-ड्रॉप्स’ कैसे डालें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 18, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • मोतियाबिंद दृष्टि को प्रभावित कर सकता है।
  • मोतियाबिंद की सर्जरी ‘आई-ड्रॉप्स’ पर निर्भर है।
  • पलक को ऊपर करें और ‘आई-ड्रॉप्स’ डालें।
  • ‘आई-ड्रॉप्स’ का ड्रापर हमेशा साफ़ रखें।

मोतियाबिंद सर्जरी के बाद ‘आई-ड्रॉप्स’ डालने के लिए विशेष सावधानी की जरूरत होती है, क्योंकि मोतियाबिंद की सर्जरी की सफलता पूरी तरह से ‘आई-ड्रॉप्स’ पर निर्भर होती है। मोतियाबिंद की सर्जरी का लाभ आपको तभी मिल सकता है जब आप अपनी आंख में सही तरीके से ‘आई-ड्रॉप्स’ डालेगे। अगर ‘आई-ड्रॉप्स’ आपकी आंख में ठीक प्रकार से नही जाता तो सर्जरी का कोई को भी फायदा आपको नही होगा।

eye drop after cataract surgery in hindi

मोतियाबिंद दृष्टि को प्रभावित कर सकता है। मोतियाबिंद अंधापन का दूसरा प्रमुख कारण भी है। ‘आई ड्रॉप’ आंख में दबाव को कम करते है, मोतियाबिंद के लिए प्रारंभिक उपचार के रूप में काम करते हैं और आप की दृष्टि को सुरक्षित करते है। पचास प्रतिशत मोतियाबिंद के रोगी ऐसे है जिनको ‘आई-ड्रॉप्स’ डालने का सही तरीका मालूम ही नही है। आइए हम आपको बताते है ‘आई-ड्रॉप्स’ डालने का सही तरीका।

दवा डालने का सही तरीका

सबसे पहले अपने हाथों को साबुन और पानी से अच्छी तरह से धो लें। फिर अच्छी तरह से पोंछ कर ही दवा डालें। अपना माथा पीछे की ओर करके छत की तरफ देखें। धीरे से पलक को ऊपर करें और ‘आई-ड्रॉप्स’ डालें। दवा डालते हुए ध्यान रखें कि ड्रॉपर आंख से दूर ही रखें।

 

आंखों को कुछ देर बंद रखें

यदि ड्राप्स आंख में एक से अधिक डालनी है तो एक बूंद डालने के बाद दूसरी ड्राप डालने पर थोड़ा सा इंतजार करें। ‘आई-ड्रॉप्स’ डालने के कुछ देर तक आंखें बंद रखें और अगर अतिरिक्त दवा आंख से बाहर आ गई है तो उसे टिश्यु पेपर से साफ कर दें।

 

बॉटल को तुरंत कवर करें

‘आई-ड्रॉप्स’ डालने के बाद ड्रॉप्स की बॉटल को तुरंत कवर कर दें। इसे ऐसी जगह पर रखें जो साफ हो और बच्चों की पहुंच से दूर हो। यह भी सुनिश्चित कर लें कि ‘आई-ड्रॉप्स’ का ड्रापर हमेशा साफ़ रहे।

 eye drop in hindi

आंखों को मसले नहीं

‘आई-ड्रॉप्स’ डालने के बाद मोतियाबिंद के रोगी आंखों को मसले नहीं, इस बात का पूरा ध्यान रखें और उसको भी समझाए। डॉक्टर द्वारा दी गई ‘आई-ड्रॉप्स’ को निर्देशानुसार समय पर दें।

निश्चित अवधि तक करें इस्‍तेमाल     

‘आई-ड्रॉप्स’ की बॉटल को खोलने के 1 महीने के अन्दर ही इसका उपयोग कर लें। इस अवधि के बाद भी अगर दवा बच जाती है तो भी इसका उपयोग न करें।

अन्‍य सावधानी

सर्जरी के बाद कुछ दिनों तक, मुंह धोते या नहाते समय ध्यान रखें कि पानी के छींटें आंखों में न जाएं। मुंह धोने के बजाय साफ व नरम तौलिए को हल्का गीला करके इससे मुंह पौछ सकते हैं।

इन सब उपायों को अपनाकर आप भी मोतियाबिंद सर्जरी के बाद ‘आई-ड्रॉप्स’ डालना का सही तरीका जान सकते हैं।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते हैं।

 

Image Source : Getty

Read More Article on Eyes Problem in Hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES23 Votes 16090 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर