जब हुआ हो ज्वाइंट रिप्लेसमेंट

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 29, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • जोड़ बदलने की प्रक्रिया को ज्वाइंट रिप्लेसमेंट कहते है।
  • इस प्रक्रिया में बेकार हुए जोड़ों को बदला जाता है।
  • सर्जरी के बाद हमें घर में सावधानी लेनी चाहिए।
  • अपने वजन को हमेशा नियंत्रित रखने की कोशिश करें।

सबसे पहले हम आपको बताते है कि ज्वाइंट रिप्लेसमेंट क्या है! जब शरीर के अंगों के जोड़ बढ़ती उम्र के साथ-साथ पुराने पड़ने के साथ घिसने लगते हैं या कार्टिलेजों यानी हड्डियों के सिरों को ढकने वाले सुरक्षा उत्तकों में विकार आ जाता है, जिससे इनमें सूजन आ जाती है और हड्डियों के जोड़ परस्पर रगड़ खाने लगते हैं तो इस अवस्था को अर्थराइटिस कहते है। आमतौर पर ऐसा घुटनों, नितंबों, उंगलियों तथा कमर की हड्डियों में होता है। हालांकि कलाइयों, कोहनियों, कंधों तथा टखनों के जोड़ भी इससे प्रभावित हो सकते हैं। इन सब जोड़ो को बदलने की प्रक्रिया को ही टोटल ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी कहा जाता है। इस प्रक्रिया में बेकार हुए जोड़ों को बदला जाता है। इन जोड़ों में सूजन, दर्द, जकड़न और फुलाव होने लगता है। बीमारी बढ़ने के साथ ही चलना-फिरना तक मुहाल हो जाता है।

joint replacement in hindi

टोटल ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी के बाद इन सब तकलीफों से निजात मिल जाती है। इसके बाद मरीज काफी हद तक पहले की स्थिति में पहुंच जाता है। इसके बाद जोड़ों को मोड़ने में तकलीफ नहीं होती। दर्द से राहत मिलती है और जोड़ों की विकृति भी ठीक हो जाती है। सर्जरी के बाद हमें घर में सावधानी लेनी चाहिए, आइए हम आप को बताते है टोटल ज्वाइंट रिप्लेसमेंट के बाद घरेलू देखभाल कैसे करें।

टोटल ज्वाइंट रिप्लेसमेंट के बाद घरेलू देखभाल

  • सर्जरी होने के 1 से 3 दिन बाद मरीज को अस्पताल से छुट्टी मिल जाती है। डॉक्टरों की ओर से घर पर देखभाल के निर्देश दिए जाते हैं। इन निर्देशों का कड़ाई से पालन करें। इसके साथ ही डॉक्टर का टेलीफोन नंबर और अगली तारीख जिसमें डाक्टर को दिखाना है, आदि का भी ध्यान रखें।
  • आपकी जारी दवाएं सर्जरी के बाद बदल सकती है, नई दवाओं के लिए नुस्खे और दवाओं को लेने के जो निर्देश दिए जाए उनका पालन करिये।
  • निर्देश के अनुसार अपने वॉकर या बेंत का उपयोग करें ताकि आप गिर न जाए। डॉक्टर से पूछे बिना इसका इस्तेमाल बंद न करें।
  • जब भी जरूरत महसूस हो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। स्वास्थ्य टीम आपकी मदद के लिए आप के घर में उपकरण, शारीरिक चिकित्सा और एक विस्तारित देखभाल की सुविधा की व्यवस्था भी कर सकती है।
  • जोड़ों में लालिमा बढ़ने या फिर ड्रेन होने की स्थिति में फौरन चिकित्सक से संपर्क करें।
  • बुखार 101 डिग्री फॉरनहाइट या अधिक होने पर डॉक्टरी सलाह लें।
  • अगर दर्द, झुनझुनाहट, अकडन या जोडों के आस-पास का रंग बदलने को हलके में न लेते हुए डॉक्टरी सलाह लें।
  • टोटल ज्वाइंट रिप्लेसमेंट के बाद पैर, टखने, घुटने, और जांघ में सूजन हो सकती है। जो आम बात हैं, सूजन को रोकने के लिए पैरों को ऊंचा रखे 45-60 मिनट के लिए, यह प्रक्रिया दिन में दो बार करें।
  • यदि दिन के दौरान पैर ऊंचा उठाने पर और सारी रात सोने पर भी सूजन में कमी नहीं है तो अपने डॉक्टर से सम्पर्क करे।
  • 30 मिनट से ज्यादा एक ही जगह पर मत बैठें। उठिए, चलिए और अपनी पोजीशन बदलते रहिए। चलो और अपनी स्थिति को बदलते रहें।
  • डॉक्टर के निर्दशानुसार जब आप चलने लगें तो पहले कुछ हफ्तों के दौरान सीढियों में ऊपर या नीचे जाते समय परिवार के किसी सदस्य की सहायता अवश्य लें।
  • केवल ड्राइव तभी करें जब डॉक्टर इसकी इजाजत दे दे।
  • अपने वजन को हमेशा नियंत्रित रखे और मांसपेशियों को मजबूत करने वाली एक्ससरसाइज न करें।

अगर आप का ज्वाइंट रिप्लेसमेंट हुआ है तो आप को कुछ हफ्तों तक इन सब घरेलू देखभाल के साथ-साथ डाक्टर की निगरानी में भी रहना होगा जिससे आप को कोई तकलीफ न हो।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते हैं।

Image Source : Getty
Read More Articles on Arthroscopic Surgery in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES2 Votes 12375 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर