शादी शुदा जीवन को खुशनुमा कैसे बनायें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 29, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • हर जोड़ा जो शादी के बन्धन में बन्धता है वो आजीवन खुश रहने के सपने सजाता है।
  • लेकिन इसके लिये बस ज़रूरत होती है कुछ छोटी बड़ी बातों पर ध्यान देने की।
  • जब लाइफ पार्टनर उनकी इच्छाओं पर खरा नहीं उतरता है, तो वो दुखी हो जाती है।
  • अगर परिस्थितियां आप से सम्भल नहीं रहीं है तो अपने पार्टनर से बात करें।

हर जोड़ा जो शादी के बन्धन में बन्धता है वो आजीवन खुश रहने के सपने सजाता है। कभी कभी सच्चाई का सामना करते हुए ये सपने हकीकत की धरातल से टकराकर टूट जाते हैं। एक खुशहाल जीवन जीने के सपने तो हर कोई देखता है लेकिन घर, परिवार, खर्चे और आपसी सम्बन्ध को साथ में लेकर चलना इतना आसान नहीं होता है। अपने रिश्ते को लेकर आगे बढ़ने के तरीके न तो बहुत मुश्किल है और न ही बहुत आसान, बस ज़रूरत होती है कुछ छोटी बड़ी बातों पर ध्यान देने की।


अपने पार्टनर को समझें और उसकी बातों की इज़्जत करें, ध्यान रखें आपका पार्टनर भी एक इन्सान है जिससे भी गलतियां हो सकती हैं,उसकी अच्छाइयों और बुराइयों को समझें और उसकी भावनाओं की इज़्जत करें। एक दूसरे के लक्ष्य को समझें और अच्छा होगा अगर आप एक दूसरे के काम से समझें, एक दूसरे की कमियां न निकालें ,याद रखें अच्छाइयां और बुराइयां सभी में होती हैं लेकिन कोई भी इन्सान पर्फेक्ट नहीं होता। स्त्रियां अकसर ऐसा सोचती हैं कि उनके लाइफ पार्टनर में वो सभी गुण हों जो उन्हें अच्छे लगते हैं। ज़्यादातर  स्त्रियों की ये आदत होती है कि वो अपने लाइफ पार्टनर की तुलना अपनी सहेलियांेे के लाइफ पार्टनर से करती हैं जो कि बिलकुल गलत है।

 

 

एक दूसरे को समझने के कुछ टिप्स

 

  • स्त्रियां चाहती हैं कि उनका लाइफ पार्टनर एक अच्छी पर्सनालिटी वाला, अच्छे व्यक्तित्व वाला ज़िम्मेदार इन्सान हो, लेकिन कहीं अगर उनका लाइफ पार्टनर उनकी इन इच्छाओं पर खरा नहीं उतरता है, तो वो दुखी हो जाती है। अच्छा होगा अगर इन छोटी बड़ी इच्छाओं को ध्यान में न रखकर अपने रिश्ते को गहरा बनाने की और एक दूसरे को समझने की कोशिश करें।
  • हमेशा एक दूसरे की भावनाओं को समझने की कोशिश करें और अपने पार्टनर की इच्छाओं को दबाने की कोशिश न करें। आप चाहे कितने भी व्यस्त हों एक दूसरे के लिए समय ज़रूर निकालें, साथ में किसी पार्टी में या पिकनिक पर जा सकते है।
  • जैसे कि एक दूसरे को समय देना ज़रूरी होता है उसी तरह से हर किसी को अपने लिए समय चाहिए होता है। शादी के बाद बस एक दूसरे तक ही जीवन सीमित नहीं रहता बल्कि ज़िम्मेदारियां और भी बढ़ जाती हैं।
  • एक दूसरे से हमेशा सच बोलने की कोशिश करें। अपनी भावनाओं को भी अपने पार्टनर को समझाने की कोशिश करें कि आपके जीवन में उनका कितना महत्व है, इससे आपकी खुशियां और बढ़ेंगी। किसी बात पर झगड़ने की बजाय अपने पार्टनर की बात सुनें ा झगड़े का कारण जानें और फिर समस्या का समाधन निकालने की कोशिश करें।
  • किसी भी बात पर बिलकुल सख्त न हों बल्कि समय के साथ चलें। अगर परिस्थितियां आप से सम्भल नहीं रहीं है तो अपने पार्टनर से बात करें। हमेशा अपने पार्टनर का सपोर्ट करें और अच्छी बुरी परिस्थितियों में एक दूसरे का साथ देने की कोशिश करें। याद रखें समय और स्थितियां हमेशा बदलती रहती हैं।

 

एक दूसरे की गलतियों पर एक दूसरे को माफ करने की कोशिश करें। छोटे मोटे झगड़े तो हर घर में होते ही रहते हैं। अपनी गलती पर माफी मांगने में संकोच न करें। माफी मांग लेने से कोई बड़ा या छोटा नहीं होता। कुछ बातों का ध्यान रखकर आप अपने शादी शुदा जीवन को खुशहाल बना सकते हैं।

 

Image Source - Getty

Read More Articles On Relationship in Hindi.

 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES9 Votes 15815 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर