थायराइड के दौरान कैसे करें वजन कम

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 30, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित करती है थायराइड ग्रंथि।
  • हायपरथायराइडिज्म में वजन कम होने लगता है।
  • हायपोथायराइडिज्म में वजन काफी बढ़ जाता है।
  • थायराइड की दवा नियमित और सही समय पर लें।

थायराइड ग्रंथि हमारे शरीर के मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित करने का काम करती है। जब यह ग्रंथि सही तरीके से काम नहीं करती है तो इसके चलते कई स्वास्थ्‍य समस्याएं हो सकती हैं। हायपरथायराइडिज्म एक ऐसी ही स्थिति है।

इस स्थिति में थायराइड ग्रंथि से अधिक मात्रा में थायराइड का निर्माण होने लगता है। और हायपोथायराइडिज्मि में इसके उलट थायराइड ग्रंथि कम मात्रा में थायराइड का निर्माण करती है। दोनों को अलग-अलग इलाज की जरूरत होती है। हायपरथायराइडिज्म में वजन कम होता है, लेकिन हायपोथायराइडिज्म में वजन काफी बढ़ जाता है। और इस बीमारी में वजन को काबू कर पाना आसान नहीं होता। आइए जानें थायराइडिज्म में वजन कैसे काबू किया जाए।

thyroid in hindi

चैकअप कराएं

सबसे पहले इस बात की जांच करवाएं कि आपको थायराइड का कौन सा प्रकार है। क्या आपको एंडरएक्टिव थायराइड है या ओवरएक्टिव थायराइड। डॉक्टर आपकी जांच करने के बाद इस नतीजे पर पहुंचेगा कि आपको वास्तव में आपको थायराइड है या नहीं। और अगर है तो आप किस तरह के थायराइड से पीडि़त हैं। इस जांच के नतीजे के बाद ही वह आगे कोई रास्ता बताएगा। डॉक्टार इस बात की भी जांच करेगा कि आपकी गर्दन पर किसी तरह की कोई गांठ तो नहीं है। और अगर है तो यह किस प्रकार की है और इसका थायराइड से कोई संबंध तो नहीं। इसके बाद अन्य जरूरी जांच करने के बाद डॉक्टैर इस नतीजे पर पहुंचेगा कि वजन नियंत्रित करने के लिए आपको किस तरह की दिनचर्या और इलाज की जरूरत है।

समय पर लें दवाएं

इस बात का खयाल रखें कि आप थायराइड की दवा नियमित और सही समय पर लें। एंडरएक्टिव थायराइड में दी जाने वाली कुछ दवाओं को असर भी चयअपचय पर पड़ता है और इससे वजन कम करने में मदद मिलती है। हॉर्मोन रिप्लेसमेंट की सर्जरी के बाद थायराइड बेहतर तरीके से काम करने लगता है और इससे भी वजन नियंत्रण में रहता है।

thyroid check up in hindi

अच्छा खाएं

आप अगर अपने वजन को लेकर अच्छे नतीजे हासिल करना चा‍हते हैं तो जरूरी है कि दवाओं के साथ-साथ अपने आहार के प्रति भी सजग रहें। अपने भोजन में ऐसे खाद्य पदार्थों को शामिल करें जो आपकी पाचन शक्ति को दुरुस्त रखे। आपको चाहिए कि आप अपने आहार में सब्जियां, फल और कम वसायुक्त डेयरी उत्पादों और प्रोटीन खाद्य पदार्थों को शामिल करें। इस बात का भी ध्यान रखें कि आप कभी भी भूखे न रहें। जब भी भूख लगे तो सब्जियां, फल को तरजीह दें। चिप्स और अन्य हाई कैलोरी उत्पादों से दूर रहें।

 

नियमित व्यायाम करें

सप्ताह में कम से कम पांच दिन तीस मिनट रोज व्यायाम करें। आप चाहें तो स्विमिंग कर सकते हैं या फिर जॉगिंग और साइक्लिंग भी कर सकते हैं। इस तरह की कसरत के अलावा आप अगर वेट ट्रेनिंग एक्सारसरइज भी करते हैं तो इससे आपका दिल तो स्वस्थ रहेगा ही साथ ही आपका मेटाबॉलिज्म् भी बढ़ेगा। और इसका सकारात्मक असर थायराइड पर भी पड़ता है। एक्सरसाइज करने से शरीर तो सेहतमंद रहता ही है साथ ही वजन भी कम होता है।

exercise for thyroid in hindi

डॉक्टर की बात मानें

डॉक्टर से अपनी कोई भी मीटिंग न छोड़ें। डॉक्टर आपके थायराइड स्तर की नियमित जांच करने के बाद ही आपको आगे का इलाज और आहार आदि के बारे में राय देगा।

Image Source : Getty

Read More Article on Thyroid in hindi.

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES169 Votes 58754 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर