लोहे के बर्तनों में खाना पकाना है फायदेमंद

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 24, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • लोहे के बर्तनों में खाना बनाने से होता है फायदा।
  • इन बर्तनों में खाना बनाने से मिलता है आयरन।
  • इससे थोड़ा आयरन आपके भोजन में भी आ जाता है।
  • लोहे के बर्तन की उम्र पर निर्भर करता है फायदा।

देखने और उठाने में भारी, महंगे और आसानी से न घिसने वाले ये लोहे के बर्तन खाना पकाने के लिए सबसे सही होते हैं। शोधकर्ताओं के अनुसार लोहे के बर्तन में खाना बनाने से भोजन में आयरन जैसे जरूरी पोषक तत्व बढ़ जाते हैं। तो चलिये विस्तार से जानते हैं लोहे के बर्तन में खाना पकाने के क्या फायदे हैं।

 

Iron Pots in Hindi

 

उठाने में भारी, महंगे व कम आकर्षक होने के कारण लोग अब लोहे कि जगह एल्युमीनियम व नॉन स्तिक बर्तनों का अधिक इस्तेमाल करने लगे हैं। जबकि लंबे समय तक एल्युमीनियम के बर्तनों में खाना बनाने से अपच, और आंतों की कार्यक्षमता में कमी, लिवर की समस्याएं आ सकती है। तो कई लिहाज से लोहे के बर्तन खाना पकाने के लिये श्रेष्ठ होते हैं। पालक, आंवला, टमाटर जैसी आयरन युक्त चीजों को जब लोहे के बर्तन में पकाया जाता है तो इनके पोषक तत्व में और भी इजाफा होता है।  

मिलता है अधिक आयरन

अगर आप लोहे के बर्तन में खाना पकाते हैं तो आयरन की कुछ मात्रा आपके भोजन में भी आ जाती है और फिर इस भोजन के सेवन से शरीर में भी जाता है। एक अनुसंधान के अनुसार कच्चा खाना जब आयरन पैन और नौन आयरन पैन में बनता है तो दोनों में फर्क मिलता है। एक नया लोहे का बर्तन और पुराने लोहे के बर्तन में खाना पकाने पर भी दोनों में अंतर होता है। एक प्रयोग के दौरान पाया गया कि एसिडिक फूड जिसमें ज़्यादा नमी होती है, जैसे सेब व टमाटर सौस भोज्य पदार्थ ही सबसे ज़्यादा मात्रा में आयरन अवशोषित करते हैं। साथ ही जो भजोन ज़्यादा देर तक बर्तन में पकता है वह ज़्यादा मात्रा में आयरन सोखता है। इसके अलावा मथकर जल्दी बनाये जाने वाले खाद्य में ज़्यादा मात्रा में आयरन मिलता है क्योंकि वे आयरन के संर्पक में ज़्यादा आते हैं।

 

Iron Pots in Hindi

 

एनीमिया में उपयोगी

जब हम लोहे के बर्तन में खाना बनाते हैं तो इसके अंश भोजन में मिलकर शरीर में पहुंचते हैं जो रक्त में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाते हैं और इससे एनीमिया (खून की कमी) जैसी समस्याओं से बचाव व उपचार होता है।

घर में बनने वाले खाना लोहे के बर्तन की उम्र पर निर्भर करता है, जैसे वह बर्तन कितनी बार इस्तेमाल किया गया है और कितनी देर तक उसमें खाना पक रहा है। आयरन की मात्रा इन बातों पर निर्भर करती है। अगर आप भोजन में आयरन की मात्रा बढ़ाना चाहते हैं तो नई लोहे की कढ़ाई आदि खरीदें।



Read More Articles On Diet & Nutrition in Hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES79 Votes 9590 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर