नाखूनों के पीलेपन को दूर करने के टिप्स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 31, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • हाथों की सुंदरता में नाखूनों की अहम भूमिका होती है।
  • पीलेपन की मुख्य वजह फंगस का संक्रमण हो सकता है।
  • नाखूनों में पीलापन कैल्शियम की कमी से भी होता है।
  • नेलब्रश की मदद से नाखूनों को हल्के हाथों से रगड़ें।

नाखूनों की खूबसूरती निखारने के लिए नेलपॉलिश का इस्तेमाल अच्छी बात है, लेकिन नाखूनों का पीलापन छुपाने के लिए ऐसा करना ठीक नहीं। यह आपके लिए काफी खतरनाक हो सकता है। इस पीलेपन को छिपाने की जगह इसके कारण व इसे दूर करने के उपायों के बारे में जानने की जरूरत है।

हाथों की सुंदरता में नाखूनों की अहम भूमिका होती है। साफ-सुथरे व चमकदार नाखून ना सिर्फ देखने में अच्छे लगते हैं, बल्कि ये आपके स्वस्थ होने की भी पहचान कराते हैं। जिस तरह खूबसूरत दिखने के लिए चेहरे की सफाई जरूरी होती है उसी तरह नाखूनों की उचित देखभाल ना करने से वे पीले पड़ जाते हैं जो कि काफी खतरनाक हो सकता है।

nail in hindi


पीलेपन का कारण

नाखूनों के पीलेपन की मुख्य वजह फंगस का संक्रमण हो सकता है। दरअसल, नाखून और उंगली के बीच होने वाले इस संक्रमण के अन्य लक्षण नजर नहीं आते। मगर इसके कारण नाखूनों का रंग फीका पड़ने लगता है।

आजकल ड्रेस से मैचिंग नेल पेंट लगाने का चलन जोरों पर है। कई बार लगातार नेल पेंट के प्रयोग से नाखूनों में पीलापन आने लगता है। हाथों की खूबसूरती बढ़ाने वाला यह शौक कई बार नाखूनों की बदसूरती का कारण बन जाता है। लंबे समय तक लगातार नेल पेंट लगी रहने के कारण नाखूनों की ऊपरी परत को प्राकृतिक ऑक्सीजन नहीं मिल पाती। इसी के चलते वे पीले हो जाते हैं।


पीलापन दूर करने के उपाय

  • नाखूनों के पीलेपन को दूर करने के लिए सबसे पहले आप अपने डॉक्टर से नाखूनों की जांच कराएं। यदि आपके नाखूनों की रंगत फंगस के संक्रमण के कारण फीकी पड़ी होगी, तो वे आपको नाखूनों की साफ-सफाई के साथ कुछ एंटी-बैक्टीरियल दवाओं का सेवन करने की सलाह देंगे। लेकिन यदि आपके नाखून नेलपॉलिश या अन्य किसी केमिकल के प्रयोग के कारण पीले पड़े हैं, तो आप नीचे दिये गये टिप्स आजमा सकती हैं।
  • दो गिलास पानी को गुनगुना करें। इस पानी को एक बाउल में निकालें और माइल्ड बाथिंग लोशन मिलाकर इसमें आपने हाथों को 10 से 15 मिनट में डुबो कर रखें।
  • नेलब्रश की मदद से नाखूनों को हल्के हाथों से रगड़ें। ऊपरी परत को साफ करने के साथ नाखूनों के किनारों को भी अच्छी तरह से साफ करें।
  • अब एक दूसरे बाउल में दो-तीन चुटकी सोडा और एक चम्मच नींबू के रस मिलाकर पेस्ट तैयार करें। इसे पेस्ट को नेलब्रश में लगाएं और नाखूनों पर रगड़ें। यह आपके नाखूनों के पीलेपन को कम करने का काम करेगा। इस प्रक्रिया के बाद नाखूनों पर मॉश्चराइजर लगाएं।
  • हफ्ते में एक बार मैनिक्योर करवाएं। मैनिक्योर करवाने से पहले नाखूनों पर कोई विटामिन युक्त तेल लगाकर हल्के हाथ से मलें। रोजाना मलने से कुछ ही दिनों में नाखूनों का पीलापन कम हो जाएगा।
  • खाने का खास ध्यान रखें। नाखूनों में पीलापन कैल्शियम की कमी से भी होता है, इसलिए रोजाना दो गिलास दूध पिएं।
  • गुनगुने पानी में एक चम्मच नीबू या संतरे का रस और आधा चम्मच जैतून का तेल मिलाएं। लगभग 10 मिनट तक पानी में हाथ डुबोकर रखें। यह नाखूनों का पीलापन कम करने में काफी हद तक मददगार होगा।।
  • पीले नाखून से छुटकारा पाने का सबसे सरल तरीका यह है कि आप इसे टूथपेस्ट से स्क्रब करें। इससे न सिर्फ नाखून पर लगे दाग हटेंगे, बल्कि यह सफेद और चमकीले भी हो जाएंगे।
  • नेलपॉलिश लगाते वक्त हमेशा अच्छी क्वालिटी की ब्रांडेड नेलपॉलिश का ही प्रयोग करें. सस्ती नेलपॉलिश में इस्तेमाल किये जाने वाले केमिकल नाखूनों की रंगत को पीला कर देते हैं
  • नाखूनों पर गहरे रंगों का प्रयोग ना करें जैसे चटक लाल, काला और हरा रंग। इन रंगों की जगह हल्के रंगों का प्रयोग करना ज्यादा अच्छा होगा।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते है।

Image Source : Getty

Read More Articles On Nail Care In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES28 Votes 6137 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर