डार्क अंडर आर्म आपको शर्मिंदगी का अहसास करा सकते हैं, लेकिन इनसे बचना इतना भी मुश्किल नहीं

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 12, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • मृत कोशिकाओं के संचय का परिणाम है डार्क अंडर आर्म।
  • डियोड्रेंट में मौजूद रासायनिक यौगिक डार्क अंडर आर्म का कारण।
  • अंडर आर्म के रंग को साफ करता नींबू में मौजूद प्राकृतिक ब्लीच।  
  • चंदन रंग को निखारता तथा गुलाब जल ठंडक प्रदान करता है।

साफ व सफेद बगलों वाली लड़कीअधिकांश महिलाएं टॉपलेस गाउन या स्लीव लैस कपडे़ पहना पसंद करती हैं, लेकिन कितनी महिलाएं ऐसी हैं जो यह कपडे़ पहन कर बिना किसी झिझक और शर्मिंदगी के पहने हाथ ऊपर पर सकती हैं? जब अंडर आर्म क्षेत्र में किसी भी तरह त्वचा टोनिंग या मैलापन हो तो इसे ढंक रखना ही सही है। अगर आप भी काले अंडर आर्म की समस्या से परेशान हैं, तो इस लेख को पढ़ें और अंडर आर्म को गोरा करने के तरीके जानें, ताकि आप भी बिना किसी झिझक के खुल कर अपने हाथ उठा सकें।

 

साफ व गोरे अंडर आर्म न सिर्फ बिना आस्तीन के कपड़े पहनते हुए बल्कि बिकनी पहनने या मेकअप तथा अन्य किसी सौंदर्य संबंधी उपचार के लिए सैलून जाते समय आत्मविश्वास से भरा हुआ महसूस कराते हैं। डार्क अंडर आर्म से छुटकारा पाने के उपायों के बारे में जानने से पूर्व यह जानना जरूरी है कि अंडर आर्म डार्क किन कारणों से होते हैं।

 

[इसे भी पढ़ें: बालों के निए गुड़हल के फायदे]

शेविंग
अंडर आर्म के बालों को हटाने के लिए रेजर का प्रयोग किया जाता है। शेविंग करने से थोडे़ बाल छूट जाते हैं, जो भद्दे भी लगते हैं जिस कारण से आपके अंडर आर्म के डार्क होने लगते हैं। ठीक ऐसा ही अनुभव बाल साफ करने वाली क्रीम के उपयोग से भी होता है। इसलिए बालों को साफ करने के लिए वैक्सीन करना उचित रहता है, क्योंकि इसमें बाल जड़ से साफ होते हैं और निशान भी नहीं रहता।

 

मृत कोशिकाओं के कारण
डार्क अंडर आर्म, मृत कोशिकाओं के संचय का परिणाम भी हो सकता है। इसलिए अंडर आर्म में डार्क पपड़ी को लैक्टिक एसिड के साथ एक स्क्रब की मदद से धीरे से हटाना चाहिये।


प्रोडक्ट्स का जरूरत से ज्यादा उपयोग करना
यह पाया गया है कि डियोड्रेंट में मौजूद रासायनिक यौगिकों डार्क अंडर आर्म का कारण बनते हैं। इनका अधिक उपयोग रंजकता (पिग्मन्टैशन) पैदा करता है, जो स्थायी रूप से गहरे रंग की बगल का कारण बनते हैं। इसलिए बगल की गंध के लिए कोई प्राकृतिक तरीके का प्रयोग करें या फिर संवेदनशील त्वचा वाले डियोड्रोंट प्रयोग करें।

 

कुछ अन्य कारण
कभी-कभी तंग कपडे़ पहनने से अंडर आर्म में घर्षण होता है, जिसके कारण इन्फेक्शन होता है और बगल काली पड़ जाती हैं। वंशानुगत कारकों से भी डार्क अंडर आर्म की समस्या हो सकती है। यह अत्यधिक वजन, हार्मोनल कारकों तथा गर्भनिरोधक गोलियों के इस्तेमाल के कारण भी हो सकता है। साथ ही वे लोग जिन्हें मधुमेह होता है उनको भी पिग्मन्टैशन के कारण डार्क अंडर आर्म की समस्या हो सकती है।

 

 

डार्क अंडर आर्म की समस्या से छुटकारा पाने के उपाय

[इसे भी पढ़ें: बालों के लिए ग्लिसरीन के फायदे]

वैक्सिंग या इलेक्ट्रोलिसिस
शेविंग तथा बाल साफ करने वाली क्रीम डार्क अंडर आर्म की समस्या का प्रमुख कारण हैं। इसके स्थान पर वैक्सिंग का उपयोग करना चाहिए। यह अधिक दुखदायी तो होता है लेकिन वैक्सिंग से बाल जड़ से उखड़ते हैं और अंडर आर्म का रंग निखरकर आता है। बगल के बालों से स्थाई छुटकारा पाने के लिए इलेक्ट्रोलिसिस एक अच्छा माध्यम है।

 
नींबू का रस
अंडर आर्म को गोरा करने के लिए प्रतिदिन नहाने से पहले नींबू का रस उन पर रगड़ना एक अच्छा उपाय है। नींबू एक प्राकृतिक ब्लीच है जो धीरे धीरे अंडर आर्म को रंग साफ करता जाता है। नहाने के बाद अंडर आर्म में मॉश्‍चराइजर लगाएं।


लाइटनिंग मास्क
अंडर आर्म के कालेपन से छुटकारा पाने के लिए घर में वाइटिंग पैक बनाएं या बाजार से खरीदें। घर पर इसे बनाने के लिए एक मुट्ठी बेसन के साथ दही, नींबू तथा हल्दी के चूर्ण का मिश्रण बनाएं। इसे पंद्रह से बीस मिनट के लिए बगल पर लगा कर रखें और फिर धो लें।


आलू और ककड़ी
आलू भी एक प्राकृतिक विरंजन (ब्लीचिंग) एजेंट के रूप में काम करता है। आप अपने अंडर आर्म को बारीकी कटे हुए आलू से हल्के हल्के रगड़ सकते हैं या इनको मसलकर जूस निकाल कर उसे वहां लगायें। लगाने के बाद इसे पंद्रह मिनट तक छोड़ दें और फिर पानी से धो लें। कुछ दिनों के नियमित इस्‍तेमाल के बाद आपको अंडर आर्म का रंग साफ होता नजर आएगा। इसी प्रकार ककड़ी के जूस का प्रयोग भी किया जा सकता है।


केसर का मिश्रण
केसर रंग निखारने के लिए अचूक विकल्प है। अंडर आर्म के रंग साफ करने के लिए दो चम्मच दूध या क्रीम में एक चुटकी केसर डालें और सोने से पहले लगाएं। पूरी रात लगे रहने दें और फिर अगली सुबह धो लें। यह न सिर्फ अंडर आर्म का रंग साफ करता है बल्कि बगल की गंध का कारण बनने वाले कीटाणुओं को और बैक्टीरिया को भी मारता है।


डियोड्रेंट का करें कम उपयोग
अगर आपको पता चलता है कि डार्क अंडर आर्म की समस्या का कारण आपका डियोड्रेंट है तो कुछ दिनों तक डियोड्रेंट का इस्तेमाल ना करें। अंडर आर्म की दुर्गंध से बचने के लिए प्राकृतिक साधनों का प्रयोग करें। आप बेकिंग सोडे में थोड़ा पानी मिलाकर अंडर आर्म को उससे साफ करें। इसके लिए एंटी फंगल पाउडर और फिटकिरी भी बेहतरीन विकल्प हैं। एक बार जब आपके अंडर आर्म का रंग साफ होने लगे तो संवेदनशील त्वचा के लिए बनाये गये डियोज का ही प्रयोग करें।

चंदन और गुलाब जल
डार्क अंडर आर्म की समस्या के निदान के लिए चंदन पाउडर व गुलाब जल के पेस्ट को अंडर आर्म पर लगाएं। चंदन रंग को निखारता है तथा गुलाब जल ठंडक प्रदान करता है और त्‍वचा को मुलायम भी बनाता है। इस पेस्ट को चार-पांच मिनट तक लगा रहने दें और फिर धो लें। कुछ ही दिनों में आपको लाभ होने लगेगा।

 

 

 

Read More Articles On Beauty & Personal Care In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES36 Votes 12912 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर