रोजमर्रा की क्रिएटिविटी से बढ़ती हैं खुशियां! जानिए कैसे

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 21, 2016
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • क्रि‍एटिविटी के साथ सकारात्मकता आती है।
  • पॉजिटिव सोचने से आप खुश रहते हैं।
  • इसलिए रोज कुछ न कुछ नया आजमायें।

‘रचनात्मकता (क्रिएटिविटी) विचारों के द्वंद से आती है’ डोनाटेल्ला वर्सेक
उपर्युक्त वाक्य पढ़ने के बाद आप समझ गये होंगे कि क्रिएटिविटी ऐसा शब्द है जो अचानक से नहीं आ जाता, बल्कि इसके लिए दिमाग भी लगाना पड़ता है और क्रियाशील भी होना पड़ता है। क्रिएटिव यानी रचनात्मक होना अपने आप में एक गुण है, यह ऐसा गुण है जिसका सही से विकास हो गया है तो दौलत और शोहरत आपके कदम चूमेगी। लेकिन हाल ही में हुए एक शोध की मानें तो अगर आप अपनी रोजमर्रा के जीवन में क्रिएटिव हैं तो आप खुशहाल रहेंगे। खुशियां और क्रिएटिविटी का क्या संबंध है और रोज की क्रिएटिविटी से खुशियां कैसे बढ़ती हैं, इसके बारे में इस लेख में विस्तार से जानते हैं।

creative in hindi


इसे भी पढ़े : जानें क्रिएटिव लोग क्‍यों होते हैं धोखेबाज

शोध के अनुसार

हेल्थ ब्लॉग डॉट कॉम में प्रकाशित एक शोध में यह खुलासा हुआ कि अगर आप अधिक क्रिएटिव हैं तो दूसरों की तुलना में आप अधिक खुशहाल हैं। 658 लोगों पर शोध करके यह निर्णय लिया गया। शोध के बेहतर परिणाम के लिए इन लोगों पर लगातार 13 दिन तक नजर रखी गई और उनको एक पत्रिका अपने रोज के भावनाओं को लिखने के लिए भी कहा गया। इस पत्रिका में लिखी जाने वाली बातें प्रत्येक दिन के बाद और अधिक सकारात्मक होती गईं। इस प्रक्रिया में भाग लेने वाले लोग अधिक खुशहाल भी होते गये।


किस-किस तरह की क्रिएटिविटी

  • कविता और लघु काल्पनिक कथा लेखन
  • गाने लिखना
  • नई रेसिपी के बारे में लिखना
  • पेंटिंग, चित्र बनाना और उनमें रंग भरना
  • ग्राफिक डिजाइन
  • संगीत के क्षेत्र में हिस्सा लेना
  • कढ़ाई और बुनाई

 

शोध के परिणाम

इस शोध में यह देखना था कि जो लोग इसमें हिस्सा ले रहे हैं वे रोज क्रिएटिव गतिविधियों में हिस्सा लेने के बाद भावनात्मक रूप से कितने मजबूत होते हैं। इसमें यह परिणाम दिखे कि जैसे-जैसे लोगों की क्रिएटिविटी बढ़ती गई भावनात्मक रूप से वे अधिक मजबूत होते गये। ऐसे लोग पहले की तुलना में अधिक खुश दिखने लगे।

इसे भी पढ़े : इन 5 क्रिएटिव आइडिया से बदलें गर्ल्स रुम का लुक

बढ़ता है आत्मविश्वास

आत्मविश्वास और खुशियां एक दूसरे के पूरक कहे जा सकते हैं। अगर किसी का आत्मविश्वास मजबूत है तो वह अधिक खुशहाल है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वह दूसरों की तुलना में अपनी बात बेहतर तरीके से रख पाता है और उसके अंदर हीन भावना नहीं होती। जिसके कारण वह नकारात्मकता से दूर रहता है।


क्रिएटिव बनें और खुश रहें

क्रिएटिविटी ऐसा गुण है जिसका विकास धीरे-धीरे होता है। क्रिएटिव होने के लिए जरूरी है हर रोज नया प्रयास करें, अपने दिमाग की एक्सरसाइज करें और कुछ न कुछ सोचते रहें। ऐसा करने से आप खुश रहेंगे। खुश रहने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप बीमारियों से दूर रहेंगे और पॉजिटिव सोचेंगे।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Image Source : Getty

Read More Articles on Mind Body in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES868 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर