गहरी नींद लेने के कुछ आसान उपाय

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 07, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

चैन की नींद यानी साउंड स्‍लीप लेना हर किसी की चाहत होती है, वो भी बिल्‍कुल बच्‍चों जैसी। लेकिन आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में यह मुश्किल हो गया है। दिनभर कड़ी मेहनत करने के बाद जब आप शाम को घर लौटते हैं तो भी आपको पूरी नींद नहीं मिल पाती।

गहरी नींद के उपायआजकल नींद की कमी आम समस्‍या हो गई है। नींद की कमी से लोग अनिंद्रा का शिकार होते जा रहे हैं। अनिंद्रा की परेशानी खासकर शहरों में रहने वाले लोगों में ज्‍यादा देखने को मिल रही है। इस समस्‍या से बचने के लिये लोग नींद की गोली के सेवन से भी नहीं बच रहे। नींद की गोलियों का सेवन आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

नींद न पूरी होने पर आपकी आंखों में परेशानी होने लगती है। इस लेख के जरिये हम आपको बता रहे हैं किस तरह आप अपनी आंखों को आराम दें और बिल्‍कुल बच्‍चों जैसी नींद सोए। नीचे बताए जा रहे तरीकों को आजमाकर आप भी कम नींद लेने से होने वाली परेशानियों के साथ ही बीमारियों से भी दूर रहेंगे।

शेड्यूल बनाए
सोने और जागने का एक निश्चित समय आपको स्‍वस्‍थ्‍य रखता है। इसलिय यह बहुत जरूरी है कि आप अपने सोने का समय सुनिश्‍चित करें। शेड्यूल तैयार करने में शुरूआत में आपको दिक्‍कत आ सकती है, लेकिन कुछ समय के बाद आपके शरीर को इसकी आदत हो जाएगी और आप सहज महसूस करेंगे। यदि किसी कारणवश आपको सोने में देर हो जाती हैं तो उसी हिसाब से आप सुबह को टाइम से उठकर अपने शेड्यूल को मेनटेन कर सकते हैं।

 

[इसें भी पढ़ें : अनिद्रा के शिकार तो नहीं]

 

सोने के मूड में आये
यदि आप सोना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सोने के मूड में आना बहुत जरूरी है। अक्‍सर कुछ लोग सोना तो चाहते हैं, लेकिन उनके आस-पास हो रहा शोर उन्‍हें सोने नहीं देता। सोने के मूड के लिये अंधेरा और शांति के साथ ही आरामदायक जगह का होना बहुत जरूरी है। लाइटिंग आदि का चुनाव आप अपनी पसंद के आधार पर कर सकते हैं। कुछ लोगों को तेज रोशनी में तो कुछ को हल्‍की रोशनी में सोना पसंद होता है। इसके अलावा कुछ लोगों को लाइट म्‍यूजिक में सोना पसंद होता है। आपके सोने का कमरा साफ सुथरा होना चाहिए।

खाने और पीने का ध्‍यान रखें
बिस्‍तर पर सोने जाने से पहले अपनी डाइट का ध्‍यान रखें। कभी भी बिस्‍तर पर सोने जाते वक्‍त आपका पेट पूरा भरा हुआ नहीं होना चाहिए। ऐसा होने पर आपको बहुत ही असहज महसूस होगा। इसलिए खाना खाने और सोने के बीच कुछ समय का अंतराल जरूर रखें। निकोटिन, कैफीन और अल्‍कोहल का सेवन भी नींद पर असर डालता है, इसलिए इनका सेवन कम से कम मात्रा में करें। इनके प्रयोग से आपको कुछ देर तक को बेहतर नींद आती है लेकिन इसके बाद नींद लेना मुश्किल हो जाता है।

 

[इसें भी पढ़ें : डिप्रेशन के लक्षण]

 

शारीरिक श्रम
शारीरिक श्रम आपको स्‍वस्‍थ नींद के साथ स्‍वस्‍थ दिमाग देता है। इसलिए नियमित तौर पर व्‍यायाम करें। व्‍यायाम करने से आपके शरीर में स्‍फूर्ति बनी रहेगी और आप स्‍वस्‍थ भी रहेंगे। एक्‍सरसाइज करते समय यह ध्‍यान रखें कि यह गलत समय पर न हो। लिमिट से ज्‍यादा व्‍यायाम भी नुकसान दायक हो सकता है। शारीरिक व्‍यायाम करने से तनाव में भी राहत मिलेगी, जिससे आपको अच्‍छी नींद आएगी।

तनाव कम रखें
नींद न आने या अनिंद्रा के कारणों में तनाव एक महत्‍वपूर्ण कारक है। इसलिए दिमाग को शांत रखें और तनाव लेने से बचें। इसके लिए आप मेडिटेशन या योगा का सहारा भी ले सकते हैं।

ऊपर बताये गए तरीकों को आजमाकर आप अनिंद्रा का शिकार होने से तो बचेंगे ही साथ ही स्‍वस्‍थ भी रहेंगे।

 

 

Read More Articles On Mental Health In Hindi

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES30 Votes 8774 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर