डायबिटिक्स कैसे निपटें चीनी की लालसा से

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 13, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • डायबिटिक्स को चाहिये कि अपने मीठे की मात्रा कम करें।  
  • मीठे के स्वस्थ विकल्पों का उपयोग करना है बेहतर।  
  • रेसिपी में चीनी की मात्रा को कम करना है फायदेमंद।
  • अन्य स्वस्थ भोजन के साथ करें मीठे का सेवन।

डा‍यबिटीज के किसी मरीज के लिए चीनी की अपनी चाहत को काबू करना बेहद मुश्किल होता है। इनसुलिन के स्तर को सामान्य बनाये रखने के लिए डायबिटिक्स को चीनी पूरी तरह छोड़ देनी चाहिये। लेकिन, यह काम कितना मुश्‍किल है यह तो वही जानता है। हालांकि, चीनी की चाहत के सामने हथियार डालना पूरी तरह गलत है, लेकिन धीरे-धीरे इनसे पार पाना आसान तरीका है। आइए जानते हैं कैसे ऐसा किया जा सकता है-

अपने भोजन में खुद बढ़ायें मिठास

भूख की अपने लालच को काबू करने का एक तरीका यह भी है कि आप अपने भोजन में मिठा खुद बढ़ायें। खाने-पीने का सामान खरीदते समय आप सामान्य दही या बिना किसी फ्लेवर का ओटमील खरीदें और फिर खाते समय इसमें थोड़ी चीनी मिलायें। फ्लेवर भोजन में काफी शर्करा पहले से मिलायी जाती है, इसलिए इससे आपको अध‍िक नुकसान होने का खतरा होता है। इतना ही नहीं, जब आप स्वयं चीनी मिलाते हैं, तो बहुत संभव है कि आप इसमें कंपनी से कम चीनी ही मिलायेंगे।

रेसिपी में चीनी कम डालें

केक और कुकीज बाहर से खरीदने के बजाय घर पर ही बनायें। घर पर इन उत्पादों को बनाते समय उनमें चीनी की मात्रा कम कर दें। इससे आप उसे डायबिटिक फ्रेंडली बना सकते हैं। उदाहरण के लिए, अगर केक बनाते समय दो कप चीनी की जरूरत होती है, तो उसमें एक या डेढ कप चीनी ही डालें। इसके साथ ही अपने मीठे का स्वाद बढ़ाने के लिए उसमें दालचीनी भी मिला सकते हैं।

sugar carving in hindi

आधा ही खायें

अगर आपके लिए मीठा और डेजर्ट खाना बहुत मुश्‍किल है, तो आप मात्रा कम कर दें। आप सामान्य रूप से जितना मीठा खाते हैं, उसका आधा ही खायें। समय के साथ-साथ इस मात्रा को कम करते जाएं।


डेजर्ट में सिर्फ मीठा ही क्यों

शोध में यह साबित हुआ है कि मीठा खाने से आपके रक्त में शर्करा की मात्रा बढ़ जाती है, लेकिन यदि आप स्वस्थ आहार के साथ मीठा खायें, तो इसका आपकी सेहत पर उतना बुरा असर नहीं पड़ता। यदि आप शर्करा खाने की अपनी लालसा को काबू करना चाहते हैं, तो भोजन के बाद एक टॉफी खा लें, बजाय कि किसी भारी डेजर्ट के।

हर बाइट का स्वाद लें

कितनी बार आप बिना कुछ सोचे समझे पूरी पेस्ट्री गटक जाते हैं। अगर आप डायबिटीज का इलाज करवा रहे हैं, तो आप आहार ऐसे नहीं खा सकते। तो, इसलिए आपको हर बाइट का आनंद लेना चाहिये। धीरे-धीरे खायें और फ्लेवर का पूरा आनंद लें। ऐसा करके आप मीठे का पूरा आनंद उठा पायेंगे और ओवरईटिंग से भी बचेंगे।


शुगर फ्री गम

जब कभी आपको अहसास हो कि आप मीठा खाने की अपनी लालसा को काबू नहीं कर पा रहे हैं, तो शुगर फ्री च्युइंग गम का एक टुकड़ा मुंह में डाल लें। अपने मुंह चलाते रहिये और आपकी लालसा खुद ही शांत हो जाएगी। शोध यह भी प्रमाणित करते हैं च्युइंग गम चबाने से भोजन की लालसा भी कम होती है।

 

eat less sugar

क्या खायें है जरूरी

आपको कई बार मात्रा के साथ-साथ गुणवत्ता पर ध्यान देना पड़ता है। याद रखें डॉर्क चॉकलेट का एक टुकड़ा, पूरी मिल्क चॉकलेट से अध‍िक फायदेमंद होता है।

मीठे से ज्यादा कुदरती उपाय

कई लोग भोजन के बाद मीठा खाये बिना रह ही नहीं पाते। तो, अगर आपको भी ऐसी ही आदत है, तो फल जैसे चीनी के स्वस्थ विकल्प तलाशें। आइसक्रीम का स्कूप खाने से अच्छा है कि आप एक कटोरा फलों का खाएं। इसके साथ ही फलों में फाइबर होता है, जो शरीर में शर्करा के अवशोषण की प्रक्रिया को भी धीमा करता है। इसके साथ ही आप शहद को भी चीनी के विकल्प के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें विटामिन और मिनरल भरपूर मात्रा में होता है।


याद रखिये अपने आहार से धीरे-धीरे मीठा कम करना एक प्रक्रिया भर है, इस पर चलते हुए आपको चीनी से मुक्ति पानी है। आपको इसी पर टिके ही नहीं रहना है। अगर आपको डायबिटीज है, तो चीनी आपकी सबसे बड़ी दुश्मन है और इससे जितनी जल्द हो सके छुटकारा पाना बेहतर है।

 

Image Courtesy- Getty Images

 

Read More Articles on Diabetes in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES26 Votes 3071 Views 1 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • snehlata16 Jun 2014

    बहुत ही अच्छी जानकारी दी है आपने। इसकी मदद से हम आपनी आंखों का आराम दे सकते हैं। इससे हमें काफी फायदा होगा। कृप्या ऐसी ही जानकारी हमें देते रहें।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर