स्वाइन फ्लू से बचाव के घरेलू नुस्खे

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 19, 2008
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • स्वाइन फ्लू ऐसी संक्रामक बीमारी है।
  • संक्रमण का खतरा अधिक रहता है।
  • हल्दी का दूध पीने से संक्रमण बचाव।
  • विटामिन-सी से प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा।

सुखी जीवन व्यतीत करने के लिए जरूरी है कि स्वस्थ रहा जाए। स्वस्थ रहने के लिए हेल्दी  डाइट लेना, हाई कैलोरी युक्त भोजन लेना अच्छा रहता है। लेकिन मौसम बदलते ही स्वस्थ व्यक्ति भी बीमारियों की चपेट में आने से अपने आपको नहीं बचा पाता। स्वाइन फ्लू ऐसी संक्रामक बीमारी है जो किसी भी आयु वर्ग के व्यक्ति को आसानी से संक्रमित कर सकती है। वैसे तो स्वाइन फ्लू से सावधान रहकर और बचाव के तरीकों को अपनाकर बचा जा सकता है। दवाईयों से बेहतर इलाज स्वाइन फ्लू का घरेलू नुस्खों में ही छिपा है। आइए स्वाइन फ्लू से ऐसे करें बचाव।

home remedies for swine flu in hindi

स्वाइन फ्लू में मददगार घरेलू नुस्‍खे

  • घरेलू नुस्खों में सबसे कामगार होती है तुलसी। प्रतिदिन सुबह उठकर तुलसी की पांच पत्तियां धोकर खानी चाहिए।
  • जिन लोगों की प्रतिरोधक क्षमता कम होती है उन्हें स्वाइन फ्लू संक्रमण का खतरा अधिक रहता है। ऐसे में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए लहसुन के दो पीस सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ लेने से प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा होगा।
  • स्‍वाइन फ्लू से लड़ने और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए गिलोय की एक फुट लंबी डाल का हिस्सा, तुलसी की पाँच-छः पत्तियों के साथ कुछ देर तक उबालें। उसमें सेंधा नमक या मिश्री भी मिला सकते हैं। काढ़ा बनने पर इसे निवाय करके पी लें।
  • हल्दी का दूध पीने से भी संक्रमण से बचा जा सकता है। रात को सोते समय हल्दी का दूध जरूर पीना चाहिए।
  • स्वाइन फ्लू से घरेलू बचाव में थायमॉल, मेंथॉल और कपूर को बराबर मात्रा में मिला कर तैयार 'यू वायरल' के घोल की बूंदों को रुमाल या टिश्यू पेपर पर डालकर सूंधने से स्वाइन फ्लू होने का खतरा नहीं रहेगा साथ ही इसके बाद मास्‍क की जरूरत भी नहीं पड़ती।
  • पान के पत्ते पर स्वाइन फ्लू निरोधी दवा की कुछ बूँदें डालकर सप्ताह भर तक दिन में दो बार खाने से स्वाइन फ्लू से बचाव किया जा सकता है।
  • 100 मि.ली. पानी में तीन ग्राम नीम, गिलोय, चिरैता के साथ आधा ग्राम काली मिर्च और एक ग्राम सोंठ का काढ़ा बना कर पीना लाभदायक होता है। इसी मिश्रण का काढ़ा बनाकर एक सप्ताह तक खाली पेट पीने से स्वाइन फ्लू से लड़ने की ताकत बढ़ जाती है यानी व्यक्ति के शरीर में प्रतिरोधक क्षमता अधिक हो जाती है।
  • त्रिफला, त्रिकाटू, मधुयास्ती और अमृता को समान मात्रा में एक चम्मच लेने से न सिर्फ बुखार में कमी आती है बल्कि प्रतिरोधक क्षमता में भी इजाफा होता है।
  • महीने में एक या दो बार कपूर की गोली पानी के साथ निगलने से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और स्वाइन फ्लू जैसी महामारियों से लड़ने में मदद मिलती है।
  • रसदार फल और जूस का सेवन खूब करना चाहिए। हरी सब्जियों खासकर आंवले का सेवन करना चाहिए। इससे विटामिन सी भरपूर होता है।
  • ग्वारपाठे का एक चम्मच गूदा रोज पानी के साथ लें। इससे जोड़ों के दर्द कम होने से साथ-साथ रोगों से लड़ने की क्षमता भी बढ़ेगी।
  • प्रतिदिन व्यायाम करें। साथ ही खूब पानी पीएं और प्राणायाम करें यानी खुली हवा में जोर-जोर से सांस लें।
  • ज्यादा से ज्यादा फिट रहने का प्रयास करें जिससे किसी भी बैक्टेरिया अथवा वायरस के हमले का सामना कर सकें।
  • कुछ भी खाने से पहले एंटीबायोटिक साबुन या अल्कोहोलिक क्लींजर से अपने हाथ धोएं।

घरेलू नुस्खों को अपनाकर और थोड़ी सी सावधानी बरतकर न सिर्फ आप स्वाइन फ्लू से बचाव कर सकते हैं बल्कि स्वाइन फ्लू से सावधान रहने के साथ-साथ गंभीर बीमारियों से लड़ने की क्षमता भी प्राप्त कर सकते हैं।

Image Source : Getty
Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES4 Votes 12235 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर