गर्भावस्था की समस्‍याओं को इन घरेलू नुस्‍खों से दूर करें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 17, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • गर्भावस्‍था के दौरान सिरदर्द, पीठ दर्द की होती है शिकायत।
  • सर्दी-जुकाम, मुहांसे, पेट की समस्‍या इस दौरान है आम।
  • सिरदर्द के लिए लहसुन को नींबू और शहद के साथ खायें।
  • ताजे फल, हरी सब्जियां खायें और नियमित व्‍यायाम करें।

गर्भावस्था के दौरान महिला की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमज़ोर हो जाती है, जिसके कारण उन्‍हें कई प्रकार की समस्‍याओं का सामना करना पड़ता है। इसके कारण सर्दी, कफ, खांसी, सरदर्द, पीठ दर्द जैसे कई सामान्‍य रोगों का शिकार भी हो जाती हैं। दरअसल गर्भावस्‍था के दौरान हार्मोन असंतुलन के कारण शारीरिक समस्‍यायें होती हैं। इस दौरान यदि घरेलू उपचार आजमाया जाये तो इन सामान्‍य समसस्‍याओं से निजात मिल सकती है। इस लेख में हम आपको बता रहे हैं कि गर्भावस्‍था के दौरान घरेलू उपचार से कैसे ठीक करें अपनी सामान्‍य स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍यायें।

pregnancy problem in hindi

इसे भी पढ़ें : गर्भवती को होती है डिस्‍चार्ज की समस्‍या

सिरदर्द

गर्भावस्था के दौरान सिरदर्द एक आम समस्या होती है ऐसे मामले में दवाइयों का सेवन करने के बदले गर्म पानी में सुरभित तेल मिलाकर उससे नहाने से काफी लाभ मिलता है।

 

सर्दी जुकाम में

कोल्‍ड की समस्‍या होने पर जिन्सेंग या लहसुन का सेवन करें। लहसुन को खाने के अलावा आप एक ग्लास गुनगुने पानी में नींबू और शहद मिलाकर भी सेवन कर सकते हैं। गले की खराश को ठीक करने के लिए आप गरम सूप का सेवन करें या एक ग्लास गुनगुने पानी में नमक मिलाकर उससे गरारे करें।

 

पीठ दर्द

पीठ का दर्द भी गर्भावस्था में काफी परेशान कर देता है इसे ठीक करने के लिए आप मालिश करवाएं और पेट की मांसपेशियों को मज़बूत करने के लिए हल्का व्यायाम करें।


पेट की समस्‍या  

जैसे-जैसे बच्चा बढ़ता जाता है वैसे वैसे गर्भवती महिला के पेट में जगह की कमी होने लगती है इससे पेट में एसिड का निर्माण होता है जो कि भोजन-नलिका में वापस भेज दिया जाता है जिसके कारण एसिडिटी या सीने में जलन का एहसास होता है। गुनगुने पानी में नींबू और शहद मिलाकर सेवन करने से फायदा होता है। तुलसी के पत्तों की चाय के सेवन करने से भी एसिडिटी की शिकायत दूर होती है।

Pregnancy Problem

इसे भी पढ़ें : गर्भावस्था में उल्टियों से ऐसे निपटें

मुहांसे होने पर

गर्भावस्था में मुहांसे होने का भी खतरा बढ़ जाता है, ऐसे में सौन्दर्य प्रसाधनों का बिलकुल भी प्रयोग न करें जिनमें हाइड्रोकोर्टीसोल, सल्फासेटेमाइड, ट्रेटीनोइन जैसे हानिकारक तत्‍व मिले होते हैं। इसके स्‍थान पर ढेर सारा पानी पियें।


अन्‍य घरेलू नुस्‍खे

  • अगर आप शाकाहारी हैं तो अलसी के तेल का सेवन करें, क्योंकि अलसी में भी भरपूर मात्रा में ओमेगा3 फैटी एसिड्स पाए जाते हैं।
  • तुलसी के पत्तों के सेवन से भी आपको ओमेगा3 फैटी एसिड्स मिलेगा, रोजाना सुबह तुलसी के 10-12 पत्ते चबायें, या फिर तुलसी की चाय पियें।
  • गर्भवती महिलाओं को विटामिन बहुत जरूरी होता है, इसके लिए ताजे फल और पत्‍तेदार सब्जियों का सेवन करें।

इसके अलावा रोजाना हल्के व्यायाम करने से भी आप गर्भावस्था के दौरान होने वाली परेशानियों से बच सकते हैं।


इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते हैं।

Image Source : Getty 

            
Read More Articles On Pregnancy Care In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES5 Votes 47127 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर