एसटीडीज़

एसटीडीज़

STDs in Hindi-एसटीडीज़ जानकारी–एसटीडीज़ के लक्षण,एसटीडीज़ के कारण, चिकित्सा, एसटीडीज़ के बचाव, एसटीडीज़ के विषय में जानकारी व लेख पढ़ें और संपूर्ण जानकारी पायें|

Health Articles
एसटीडीज़
  • एड्स से संबंधी भ्रम और तथ्य

    एड्स से संबंधी भ्रम और तथ्य

    एड्स से संबंधी भ्रम और तथ्य: एड्स एक जानलेवा बीमारी है, लेकिन इसको लेकर लोगों में बहुत ज्‍यादा भ्रम है। इन बातों को ध्‍यान में रखकर आप एड्स जैसी बीमरी से बच सकते हैं।

  • एड्स: जानकारी ही बचाव है

    एड्स: जानकारी ही बचाव है

    एड्स का पूरा नाम है 'एक्वायर्ड इम्यूलनो डेफिसिएंशी सिंड्रोम' है और यह बीमारी एचआईवी वायरस से होती है। सकारात्मतक सोच के साथ अपने स्‍वास्‍थ्‍य पर थोड़ा ध्यान देकर एचआईवी पाजिटिव भी एक आम इन्सान की तरह जीवन यापन कर सकता है।

  • विश्व एड्स दिवस 2014: भारत की स्थिति और चुनौतियां

    विश्व एड्स दिवस 2014: भारत की स्थिति और चुनौतियां

    तमाम स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी मुद्दों और सेक्‍स जैसे विषय को लेकर व्‍यापक वर्जना के बावजूद भारत ने इस क्षेत्र में काफी अच्‍छा काम किया है। सरकारी प्रयासों ने भी लोगों में जागरुकता फैलाने का काम किया है। हालांकि इसके बावजूद अभी भी भारत के समक्ष कई सामाजिक और स्‍वास्‍थ्‍यगत चुनौतियां खड़ी हैं।

  • एड्स क्या‍ है

    एड्स क्या‍ है

    एच.आई.वी. पाजी़टिव होने का मतलब है, एड्स वायरस आपके शरीर में प्रवेश कर गया है, इसका अर्थ यह नहीं है कि आपको एड्स है।

  • बढ़ रहे हैं एड्स रोगी

    बढ़ रहे हैं एड्स रोगी

    एड्स रोगियों की संख्‍या भारत के कुछ जिलों में लगातार बढ़ रही है। यदि समय रहते इस रोग पर लगाम नहीं लगाया गया तो आने वाले समय से इसके खतरे से निबटना आसान नहीं होगा।

  • एड्स जानलेवा यौन रोग

    एड्स जानलेवा यौन रोग

    एचआईवी वायरस के शरीर में प्रवेश करने, शरीर में सुप्तावस्था में रहने की क्रिया, एचआईवी संक्रमण कहलाती है।

  • विश्‍व एड्स दिवस

    विश्‍व एड्स दिवस

    हर साल एक दिसंबर को विश्‍व एड्स दिवस मनाया जाता है। जिसका उद्देश्य लोगों को एड्स के प्रति जागरूक करना है। जागरूकता के तहत लोगों को एड्स के लक्षण, इससे बचाव, उपचार, कारण इत्यादि के बारे में जानकारी दी जाती है और कई अभियान चलाए जाते हैं जिससे इस महामारी को जड़ से खत्म किया जा सकें। साथ ही एचआईवी एड्स से ग्रसित लोगों की मदद की जा सकें।

  • एड्स की रफ्तार थमी

    एड्स की रफ्तार थमी

    भारत में एड्स की क्या स्थिति है, यह विश्व एड्स दिवस पर जानना जरूरी हैं। आइए जानें एड्स की रफ्तार भारत में थमी है या बढ़ी है।

  • बढ़ रही है एड्स के प्रति जागरूकता

    बढ़ रही है एड्स के प्रति जागरूकता

    एड्स के नए मरीजों की संख्‍या में कमी का एक मुख्य कारण है लोगों का जागरूक होना।

  • एड्स पर शोध

    एड्स पर शोध

    उम्मीद जगी है कि एचआईवी संक्रमित लोगों के लिए कारगर दवा जल्द तैयार कर ली जाएगी।

एसटीडीज़ पर कुल लेख :11