फूड पाइज़निंग

फूड पाइज़निंग

Food Poisoning in Hindi-फूड पाइज़निंग- फूड पाइज़निंग के विषय में जानकारी व लेख पढ़ें और उसके लक्षण, कारण, चिकित्सा, बचाव के बारे में संपूर्ण जानकारी |

Health Articles
फूड पाइज़निंग
  • गर्मियों में क्‍यों होता है उल्‍टी, दस्‍त और पेटदर्द, जानें कारण और उपचार

    गर्मियों में क्‍यों होता है उल्‍टी, दस्‍त और पेटदर्द, जानें कारण और उपचार

    यदि डायरिया हो जाए तो रोगी को ओआरएस अथवा नमक, पानी, चीनी का घोल बनाकर दिन में कई बार दें। साथ ही किसी अच्छे डाक्टर से सम्पर्क करें। वैसे तो डायरिया रोग किसी भी आयुवर्ग के व्यक्ति को हो सकता है, लेकिन  छोटे बच्चों, बुजुर्गों और शारीरिक रूप से कमजोर लोगों में इस मर्ज की समस्या कहींज्यादा गंभीर रूप अख्तियार कर लेती है।

  • हैजा होने पर क्या खाएं और क्या न खाएं

    हैजा होने पर क्या खाएं और क्या न खाएं

    हैजा में खाने पीने का विशेष ध्यान रखना होता है। खान पान में सावधानियां नहीं बरतने पर यह बिमारी दोबारा अटैक कर सकती है।। दूषित पानी व खाने से फैलने वाला यह रोग आपकी आंतों में होता है।

  • जीवनरक्षक घोल है ओआरएस

    जीवनरक्षक घोल है ओआरएस

    बच्‍चों में डायरिया के बाद निमोनिया को दूसरी सबसे खतरनाक बीमारी माना जाता है। डायरिया से बचने के लिए ओआरएस एक बेहद प्रभावी तरीका है।

  • नोरोवायरस क्‍या है और इससे कैसे बचा जाए

    नोरोवायरस क्‍या है और इससे कैसे बचा जाए

    नोरोवायरस एक प्रकार का कीड़ा है जो पेट में पाया जाता है और इसके कारण उल्‍टी और दस्‍त की समस्‍या हो सकती है, सर्दी के मौसम में यह अधिक होता है।

  • डायरिया से कैसे बचें

    डायरिया से कैसे बचें

    मौसम के बदलाव में डायरिया व अन्‍य कई बीमारियां आपको घेर सकती हैं। इसके लिए जरूरी है कि आप अपने खाने-पीने का ध्‍यान रखें और जरूरी चिकित्‍सीय सलाह लें। 

फूड पाइज़निंग पर कुल लेख :5