हृदयाघात के जोखिम को ऐसे करें कम

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 24, 2015
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • बढ़ती जा रही हैं लोगों में दिल की बीमारियां।
  • हृदयाघात के मामले युवाओं में बढ़ रहे हैं।
  • हृदयाघात होने पर आपातकालीन उपचार जरूरी।
  • दिल की सेहत का खयाल रखकर बचाव संभव।

आज युवाओं में हृदयाघात और हृदय की बीमारियों की बढ़ती संख्या, चिंता का विषय बन रही है। पहले जहां 30 से 40 वर्ष तक के बीच हृदय की समस्याएं आंकी जाती थीं, आज यह 20 वर्ष से कम उम्र के लोगों में भी होने लगी है। ऐसे में हृदय की समस्याओं से बचने का एक ही उपाय है कि आप खुद अपनी कुछ सामान्य जांच करें और हृदय संबंधी सामान्य समस्याओं को भी गंभीरता से लें।


मेदांता मेडीसिटी के कार्डियोलाजिस्ट डाक्टर रजनीश कपूर के अनुसार अगर आप अपने शरीर के बारे में नहीं जानते हैं, तो उन्हें जानने की कोशिश करें:

  • ब्लड प्रेशर की जांच करायें।
  • कोलेस्ट्राल के स्तंर पर नज़र रखें।
  • अपने आहार का मूल्यांकन करें।
  • हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के विषय में अपना पारिवारिक इति‍हास जानें।

 

heart health

 

ध्यान रखें

 

  • यदि किसी व्यक्ति को उच्च कोलेस्ट्राल, रक्तचाप जैसी समस्याएं होती हैं, तो उसमें हृदयाघात का अधिक जोखिम रहता है। गुड कोलेस्ट्राल का 50 से कम होना और बैड कोलेस्ट्राल का 100 से अधिक होना खतरनाक है। 
  • ब्लड प्रेशर का 130/85 से अधिक होना ठीक नहीं। 


हृदयाघात में आपातकालीन उपचार

  • तुरंत ऐम्बुलैंस बुलायें। 
  • ऐम्बुलैंस बुलाने के बाद अपने प्रियजनों को सम्पर्क करें। 
  • ऐस्कार्ट हृदय संस्थालन के डाक्टर अनिल सक्सेमना का कहना है, कि हृदयाघात के लक्षण महसूस होते ही मरीज़ को एस्प्रिन की टैबलैट दें।
  • ध्यान रखें अगर मरीज़ को एस्प्रिन से एलर्जी है, तो उसे यह टैबलेट ना दें।
  • अस्पताल पहुंचते ही मरीज़ की ईसीजी करायें, इससे चिकित्सक को हृदय की स्थिति का अंदाज़ा लगाने में आसानी होगी।

 

heart attack in hindi

 

दिल की सेहत के लिए टिप्स

  • अच्छा भोजन पौष्टिक तत्व से भरपूर आहार लेने से हमारा शरीर तो बेहतर रहता ही है, साथ ही तनाव भी कम होता है। इससे हमारा दिल भी सेहतमंद रहता है। ऐसे भोजन से बचें जिनमें ज्यादा मात्रा में ट्रांस फैट पाए जाते हैं।
  • अपने वजन को नियंत्रण में रखना होगा मोटापा दिल से संबंधित कई बीमारियों की जड़ है। आप यह पता करें कि आपकी लंबाई के हिसाब से कितना वजन आपके लिए सही है। इसपर नियमित रूप से नजर बनाए रखें।
  • रोज एक्सरसाइज और योगा करें कोई भी एक फिजिकल एक्टिविटी चुन लें और उसे रोज करें। स्पोर्ट्स, एरोबिक्स और डांसिंग से भी हमारे दिल सेहतमंद रहता है।
  • एक्‍टिव रहें ज्यादा से ज्यादा फिजिकली एक्टिव रहें। अगर आप पूरे दिन ऑफिस में बैठ कर काम करते हैं, तो खुद को फिजिकली एक्टिव रखने के लिए सुबह या शाम में वॉक पर जाएं या साइकलिंग करें।
  • गंदी आदत छोडे़ स्मोकिंग, एल्कोहल और दूसरे नशे को छोड़ दें। यह हमारे शरीर और दिल को काफी नुकसान पहुंचाता है। इन आदतों को धीरे-धीरे छोड़ने की कोशिश करें, पर छोड़ें जरूर।
  • स्‍ट्रेस ना लें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितने महत्वकांक्षी हैं। अपने काम और पर्सनल लाइफ से तनाव कम करने की कोशिश करें। आप बेशक अपने करियर पर ध्यान दें पर जिंदगी को एंज्वॉय भी करें। ज्यादा तनाव से दिल की कई बीमारियां होती है।
  • ऑयली फिश का सेवन करें ऑयली फिश और ओमेगा-3 वाली चीजें खाएं। यह दिल की सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। मैकरल, सार्डीन, ट्यूना और सैमन जैसी मछलियां से बड़ी मात्रा में ओमेगा3 फैट मिलता है, जो हमें दिल की कई बीमारियों से बचाता है।

दिल का स्वास्थ्य आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी होता है। इसलिए दिल का खयाल रखना पहली प्राथमिकता होनी चाहिए।

 

Image Source - Getty Images

Read More Articles on Heart Health in Hindi

 

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES44 Votes 16354 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर