कुछ मिनटों की आदतों से दांतों को हमेशा रखें स्‍वस्‍थ

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 17, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • दांतों को स्‍वस्‍थ रखने के लिए कुछ मिनट देना पर्याप्‍त है।
  • दांतों को अस्‍वस्‍थ होने से दिल के रोगों की संभावना अधिक।
  • फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट के प्रयोग से स्‍वस्‍थ रहते हैं दांत।
  • ऐसे में खानपान की आदतों का खयाल रखना बहुत जरूरी।

स्वस्थ दांत स्वस्थ शरीर की निशानी होती है। कई बार हम अपने शरीर की देखभाल तो अच्छे से करते हैं मगर दांतों की अनदेखी कर जाते हैं। आपको यह जानकर बेहद आश्चर्य होगा कि दांतों की स्वच्छता का सीधा रिश्ता हृदय रोगों से होता है। जो लोग अक्सर अपने दांतों को साफ नहीं रखते, उन्हें दिल संबंधी बीमारियां होने की 70 फीसदी से भी अधिक संभावना होती है। इसलिए अधिकांश दंत रोग विशेषज्ञों की यह सलाह है कि प्रतिदिन दांतों की सफाई पर विशेष ध्यान दें।

Dental care

दांतों की बीमारी के कारण

खाने-पीने के बाद दांतों को अच्छी तरह से साफ न करने के कारण हमारे दांतों में फंसे भोजन पर कीटाणु घर बना लेते हैं। इस वजह से हमारे दांतों में कई बीमारियां पनपने लगती हैं। जिन्जीवाइटिस का इलाज ठीक प्रकार से नहीं किया जाता है तो यह बीमारी पेरियोडॉन्टाइटिस जैसी बीमारी के रूप में उभर कर आ सकती है। पेरियोडॉन्टाइटिस में दांतों को सहारा देने वाले दातों से जुड़े टिशू नष्ट हो जाते हैं जिससे दांत अपनी जगह नहीं रह पाते हैं। दांतों में इन्फेकशन होने के कारण दांतों को कवर करके रखने वाली नर्व हट जाती है। इस कारण हमारे दांतों में ठंडा-गर्म लगने लगता है। इसे सेंसेविटी कहते हैं। दांतों में खाना फंसा रह जाने पर दर्द होने लगता है और मुंह से दुर्गन्ध आने लगती है। दांतों में पायरिया होने पर दांतों का रंग पीला पड़ने लगता है।

 

दिन में कम से कम दो बार ब्रश करें    

घंटों ब्रश करने से दांतो को कोई लाभ नहीं मिलता, 2 से 5 मिनट तक ब्रश करना ही काफी है। दिन में दो बार ब्रश करें। आज दांतों और मसूडो की समस्याएं हर उम्र के लोगों में आम हैं। इनसे बचने के लिए कुछ भी मीठा खाने के बाद पानी ज़रूर पीयें। दांतों की सफाई के साथ ही फ्लास भी करें। दांतों मे बीच में फ्लास डालें और फिर उसे बाहर निकालें। फ्लास करने से दांतों में प्लेक की सम्भावना कम होती है। प्लेक जैसी समस्या पर ना ध्यान देने से दांतों में सड़न हो सकती है। ब्रश खरीदते समय बहुत मुलायम और बहुत सख्त ब्रश ना खरीदें। अपने दांतों की बनावट के अनुसार ब्रश का चयन करें।

फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट का प्रयोग करें

फ्लोराइड दांतों की बाहरी परत इनेमल को मजबूत बनाता है इसलिए फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट का प्रयोग करें। यह दांतों को सड़न से बचाने में कहीं ज्यादा कारगर है। आज बाज़ार में बहुत से माउथवाश और टूथपेस्ट फ्लोराइडयुक्त आ रहे हैं। माउथवाश का प्रयोग करके आप तरोताज़ा महसूस करेंगे और यह दांतों के आसपास रहने वाले सूक्ष्मजीवों को भी नष्ट करता है।


Dental Care

इन बातों का ध्‍यान रखें

अपने खाने में शुगर की मात्रा कम कर दें। सोडा ड्रिंक से भी कैविटी होती हैं, इनसे भी दूर रहें। धूम्रपान और तम्बाकू का सेवन ना करें। तम्बाकू के सेवन से सिर्फ स्वास्थ्य समस्याएं ही नहीं होती बल्कि दांत भी खराब होते हैं। धूम्रपान करने से दांतों में पीलापन हो जाता है जिसे साफ करना भी मुश्किल हो जाता है।

दांतों की सफाई के लिए खीरा, गाजर, मूली तथा सेब अच्‍छे से चबा-चबा कर खाना भी लाभदायक होगा।

 

ImageCourtesy@GettyImages

Read More Article on Dental Care In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES29 Votes 6029 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर