सेहतमंद नाश्‍ता यानी सेहतमंद आप

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 02, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

कहते हैं शुरुआत अच्‍छी हो तो सारा दिन अच्‍छा बीतता है। और नाश्‍ता इसी शुरुआत का हिस्‍सा है। एक स्‍वस्‍थ नाश्‍ता आपको दिन भर काम करने के लिए ऊर्जा प्रदान करने में मदद करता है।

सेहतमंद नाश्‍तादफ्तर के लिए देरी हो रही हो, या फिर वजन कम करने की कवायद हो, सबसे पहले हम नाश्‍ते की ही बलि चढ़ाते हैं। नाश्‍ता न करके हम अपना 'जरूरी' वक्‍त तो बचा लेते हैं, लेकिन इससे हमें नुकसान ज्‍यादा होता है। रोजमर्रा की भागदौड़ भरी जिंदगी में वक्‍त की कमी हम सबको है। और इस वक्‍त के साथ कदमताल करने के चक्‍कर में नाश्‍ता न करना हमारी आदत बनता जा रहा है। लेकिन, क्‍या आप जानते हैं कि नाश्‍ता न करना आपको कई बीमारियों की गिरफ्त में डाल सकता है।

क्‍या है नाश्‍ता
ब्रेकफास्‍ट यानी रात भर का 'उपवास' तोड़ना। सारी रात भर आप कुछ नहीं खाते और ऐसे में सारा दिन आपका शरीर सही प्रकार से कार्य करता रहे इसके लिए जरूरी है कि आपका नाश्‍ता पोषक तत्‍वों से भरपूर हो। अगर आप अपना नाश्‍ता नहीं करता हैं, तो अधिक समय तक भूखा रहने के कारण, आपको कई परेशानियां हो सकती हैं। इसका असर आपके व्‍यवहार पर भी पड़ सकता है।

इसके अलावा कई ऐसे कारण हैं जिनके कारण आपको अपना नाश्‍ता नहीं छोड़ना चाहिये। य‍ह दिन का आपका पहला भोजन होता है और आपका दिन कैसा बीतेगा यह काफी कुछ आपके नाश्‍ते पर निर्भर करता है।


[इसे भी पढ़ें- नाश्‍ता जो वजन घटाये]


अस्‍वस्‍थ जीवनशैली

हे‍लसिंकी यूनिवर्सिटी के शोध के मुताबिक बिना नाश्‍ता किए अपना दिन शुरू करना, अस्‍वस्‍थ जीवनशैली की निशानी है। यह आदत आपको खानपान की बुरी आदतों की ओर धकेल सकती है। इसमें फिनलैंड के पांच हजार पांच सौ टीनएजर्स और उनके माता-पिता पर शोध किया गया। इस शोध पर इस बात पर ध्‍यान दिया गया कि सामान्‍यत: वे कितने दिनों में नाश्‍ता करता है। इसके साथ ही शोधकर्ताओं ने उनकी शिक्षा, वजन और पीने की आदतों पर भी शोध किया।

इस रिसर्च में यह बात सामने आयी कि जो माता-पिता अपना नाश्‍ता नहीं करते थे, उन्‍होंने अपने बच्‍चों को भी इसी आदत के लिए प्रेरित किया। ऐसे अभिभावकों में तम्‍बाकू और एल्‍कोहल के सेवन की स्‍वास्‍थ्‍य को नुकसान पहुंचाने वाली आदतें अधिक देखी गयीं। नाश्‍ता न करने से दिन में खानपान से जुड़ी बुरी आदतें भी देखने को मिलती हैं। ऐसा देखा गया है कि ऐसे लोगों में फास्‍ट-फूड अधिक खाते हैं।

 

[इसे भी पढ़ें- पीठ में दर्द है तो नाश्‍ते में पियें कॉफी]

 

बीमारियों का खतरा

नाश्‍ता न केवल आपके शरीर में ऊर्जा का सही स्‍तर बनाये रखने में मदद करता है, बल्कि यह चयापचय (मेटाबॉलिज्‍म) को भी दुरुस्‍त रखता है। जब आप नाश्‍ता नहीं करते हैं तो इससे आपका मेटाबॉलिज्‍म तो बिगड़ता ही है साथ ही आपको कई अन्‍य परेशानियां जैसे, वजन बढ़ना और हृदय रोग आदि होने का खतरा भी बढ़ जाता है। इससे आपको चिड़चिड़ापन और मूड में तेजी से बदलाव जैसी परेशानियां भी हो सकती हैं। साथ ही मासिक धर्म में अन‍ियमितता, याददाश्‍त का कमजोर होना और हार्मोन सम्‍बन्‍धी कठिनाइयां भी हो सकती हैं। वे लोग जो नाश्‍ता नहीं करते उन्‍हें बैड कोलेस्‍ट्रॉल अधिक होने का खतरा भी बना रहता है।

थकान का कारण हो सकता है

अगर आप नाश्‍ता नहीं करते हैं तो आप सारा दिन थके-थके से रहते हैं। इसके साथ ही इसका असर आपकी एकाग्रता पर भी पड़ता है। आपको एक पौष्टिक नाश्‍ता करना चाहिये। इससे आपका मेटाबॉलिज्‍म स्‍तर कम होता है और वजन कम करना आपके लिए मुश्किल हो जाता है।
 
इनसुलिन के प्रति अधिक रिस्‍पॉन्‍स

जब आप नाश्‍ता नहीं करते और बाद में कैलोरी ले लेते हैं, तो इससे शरीर की इंसुलिन प्रक्रिया पर भी बुरा असर पड़ता है। इससे रक्‍त में इंसुलिन का स्‍तर ग्‍लूकोज के स्‍तर से अधिक हो जाता है। यह एक प्रकार का मेटाबॉलिक डिस्‍ऑर्डर है, जिससे मोटापा बढ़ सकता है।

भूख रखे काबू में

यूरोपियन जर्नल ऑफ क्लिनिकल इन्‍वेस्टिगेशन में प्रकाशित एक स्‍टडी के अनुसार भरा पेट वजन और भूख दोनों को काबू रखता है। तीन हजार से अधिक अमेरिकियों पर किये गए इस शोध में पाया गया कि जो लोग नियमित तौर पर नाश्‍ता करते हैं, उनके मोटापे या डायबिटीज से ग्रस्‍त होने की आशंका कम होती है।


तो, इंतजार किस बात का, उठिये नाश्‍ता आपका इंतजार कर रहा है।

 

Read More Articles on Diet and Nutrition in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES16 Votes 3960 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर