गर्भावस्‍था में खान-पान की अतिरिक्‍त जरूरत को पूरा करता है सुबह का आहार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 07, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • 300 अतिरिक्‍त कैलोरी की जरूरत होती हैं गर्भवती के लिए।   
  • गर्भावस्‍था में स्किम्ड दूध, दही, छाछ, पनीर आदि का सेवन करें।
  • विटामिन, प्रोटीन और फाइबर मौजूद होता हैं साबुत अनाज में।
  • कैल्शियम, प्रोटीन, सिलिकॉन मौजूद होता है मौसमी फलों में।  

गर्भवती होने के बाद महिला को 300 अतिरिक्‍त कैलोरी की आवश्‍यकता होती है। इसके लिए महिला को खान-पान पर विशेष ध्‍यान देने की जरूरत होती है। अतिरिक्‍त कैलोरी को पूरा करने में सुबह का नाश्‍ता बहुत महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है। नाश्‍ता रात के खाने के बाद पहला आहार होता है। गर्भवती महिला को नाश्‍ता 7 बजे से पहले कर लेना चाहिए।

Healthy Breakfast for Healthy Pregnancyसुबह का नाश्‍ता न केवल स्‍वस्‍थ गर्भावस्‍था में मदद करता है, बल्कि यदि आप नियमित रूप से हेल्‍दी ब्रेकफास्‍ट कर रही हैं तो गर्भावस्‍था की जटिलतायें भी कम होती है। सुबह का नाश्‍ता करने से तनाव और थकान नही होती और दिनभर आप खुद को तरोताजा महसूस करती हैं। इसके लिए साबुत अनाज, डेयरी उत्‍पाद, फल और सब्जियां खायें।



गर्भावस्‍था में सुबह का आहार


दूध और डेयरी उत्पाद

गर्भवती महिला सुबह के नाश्‍ते में डेयरी उत्‍पाद का सेवन करना चाहिए। सुबह के नाश्‍ते में स्‍नैक्‍स के साथ एक गिलास दूध लेना फायदेमंद रहेगा। इसके अलावा स्किम्ड दूध, दही, छाछ, पनीर आदि का सेवन कर सकती हैं। डेयरी उत्‍पादों में कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन बी-12 होता है। यह मां और बच्‍चे दोनों के लिए बहुत फायदेमंद है।


फल और जूस

गर्भावस्‍था के दौरान नाश्‍ते में फल और जूस लीजिए। लेकिन आप कोशिश यह कीजिए कि ताजे फलों का ही जूस पियें, डिब्‍बाबंद जूस पीने से बचें। फलों में कैल्शियम, प्रोटीन, सिलिकॉन मौजूद होता है। यह आसानी से पचता है, और जूस पीने से शरीर दिनभर ऊर्जावान रहता है। जूस पीने से पानी की कमी भी दूर होती है। सेब, संतरा, अनार, मौसमी आदि का सेवन फायदेमंद है।


साबुत अनाज

साबुत अनाज में विटामिन, कैल्शियम, प्रोटीन और फाइबर जैसे तत्‍व मौजूद होते हैं। इसलिए सुबह के नाश्‍तें में साबुत अनाज का सेवन करें। दालें, ब्राउन राइस, दलिया, कॉर्न आदि का सेवन सुबह के आहार में किया जा सकता है। गेंहू को पीसकर खा सकती हैं, इसमें ढेर सारा रेसा और विटामिन-बी कॉम्‍प्‍लेक्‍स होता है। ब्राउन राइस में फाइबर, मैग्‍नीशियम जैसे अन्‍य एंटी ऑक्‍सीडेंट्स होते हैं।


अंडा या ऑमलेट

गर्भवती महिलायें नाश्‍ते में अंडा या अंडा का ऑमलेट ले सकती हैं। पालक के साथ भी ऑमलेट ले सकती हैं। गर्भावस्‍था में पालक बहुत ही पसंदीदा नाश्‍ता है, इससे 41 कैलोरी के साथ कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, फोलिक एसिड मिलता है जो गर्भवती महिला के लिए बहुत जरूरी है।


फलों-सब्जियों का सलाद

इससे अच्छी क्‍या होगी कि आप जिस खाने से दिन की शुरूआत कर रही हैं उसमें सारे पौष्टिक तत्‍व मौजूद हों, सभी खाद्य-पदार्थ के साथ संभव नहीं है, लेकिन सलाद आपकी यह शर्त पूरी कर सकता है। सलाद हरी पत्‍तेदार सब्जियों जैसे पालक, पत्ता गोभी, खीरा, ककड़ी और मिर्च से बना सकती हैं। सलाद विटामिन बी-12 का अच्छा स्रोत है। इसमें मूड अच्छा करने वाले सेरोटोनिन और डोपामाइन रसायन मिलते हैं, जिसकी कमी से थकावट ओर झुंझलाहट होती है।


ढेर सारा पानी

गर्भवस्‍था के दौरान खूब सारा पानी पियें, साफ और फिल्‍टर्ड पानी का ही सेवन करें। इसके लिए पानी को उबाल लें या फिल्‍टर्ड कर लें। घर से बाहर अगर पानी पियें तो एक प्रतिष्ठित ब्रांड का बोतल बंद पानी पीना ही पियें। क्योंकि अधिकांश रोग जलजनित वायरस की वजह से होते हैं।

 

 

Read More Articles on Diet During Pregnancy In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES251 Votes 13882 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर