Health Videos »

कैसे पता लगाएं की नवजात गंभीर रूप से बीमार है

Onlymyhealth Editorial Team, Date:2015-01-20

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

शिशु बहुत आसानी से बीमार हो जाते हैं। जब शिशु बीमार होता है तो आपको आसानी से उसकी बीमारी की गंभीरता का पता नहीं चल पाता। शिशुओं की बीमारी इतनी जल्दी बढ़ती है कि जब तक उसका पता चल पाता है और उसे उपचार दिया जाता है, तब तक बहुत देर हो चुकी होती है। इसलिए अगर आप अपने शिशु को सुरक्षित और स्वस्थ रखना चाहते हैं तो जरूरी है कि आपको उन लक्षणों के बारे में मालूम हो जो शिशु के बीमार होने पर सामने आते हैं। शिशु की बीमारियों के कुछ खास लक्षण होते हैं, जैसे कि चिड़चिड़ापन, लगातार रोना, स्तनपान के पैटर्न में बदलाव आना, स्तनपान के दौरान शिशु के होंठों और चेहरे के रंग का बदल जाना, उसकी श्वसन प्रक्रिया में बदलाव, बुखार, मल में खून आना, पेट फूलना आदि। इसके अलावा भी, कई और ऐसे लक्षण होते हैं जो शिशु के बीमार होने पर सामने आते हैं। इस तरह के लक्षण आपके शिशु की खराब सेहत और कई बार उसकी गंभीर बीमारी की ओर इशारा करते हैं। इन लक्षणों के सामने आने पर अपने शिशु को तुरंत डॉक्टर के पास ले जाना चाहिए।
Related Videos
  • कैसे पता लगाएं कि सिरदर्द माइग्रेन हैकैसे पता लगाएं कि सिरदर्द माइग्रेन है

    माइग्रेन एक प्रकार का ऐसा सिरदर्द है जो असहनीय होता है, लेकिन कई बार सिरदर्द भी बहुत तेज होता है। लेकिन सिरदर्द माइग्रेन से पूरी तरह अलग होता है।

    read more
  • नवजात को संक्रमण से कैसे बचाएंनवजात को संक्रमण से कैसे बचाएं

    नवजात पैदाइश के बाद एक बेहद साफ वातावरण से निकलकर एक ऐसे वातारवरण में आ जाता है जहां चारों तरफ हर किस्म के कीटाणु, बैक्टीरिया, वायरस, फंगस आदि होते हैं, ये सब शिशु की सेहत के लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकते हैं।

    read more
Post Comment

प्रतिक्रिया दें

Disclaimer +

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।