हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

शरीर को सही शेप में लाने के लिए अपनायें ये व्‍यायाम

By:Bharat Malhotra, Onlymyhealth Editorial Team,Date:May 05, 2014
शरीर का आकार 'सेब' की तरह है, तो आपको अपने शरीर पर जमा अतिरिक्‍त चर्बी कम करने की जरूरत है। इसके लिये तैराकी अथवा साइक्लिंग आदि का सहारा ले सकते हैं।
  • 1

    व्‍यायाम बनाये शरीर को फिट

    यदि आपके शरीर का आकार 'सेब' की तरह है, तो उससे निजात पाने के लिए आपको अपने शरीर पर जमा अतिरिक्‍त चर्बी कम करने की जरूरत है। आप इसके लिए कार्डियोवस्‍कुलर व्‍यायाम जैसे रस्‍सी के सहारे ऊपर चढ़ना, तैराकी अथवा साइक्लिंग आदि का सहारा ले सकते हैं। इससे आपके घुटने और टखने भी सुरक्षित रहेंगे। सीढि़यां चढ़ना और इनक्‍लाइन पर ट्रेडमिल का इस्‍तेमाल करना वजन कम करने में काफी मदद करते हैं। इसके साथ ही इन व्‍यायाम से आपकी टांगों की मांसपेशियां भी मजबूत होती हैं। फिट रहने और वजन कम करने के लिए सप्‍ताह में तीन से पांच बार 40-70 मिनट तक कार्डियोवस्‍कुलर व्‍यायाम करना जरूरी है।

    व्‍यायाम बनाये शरीर को फिट
  • 2

    दौड़ लगाइए

    दौड़ लगाने से पैदल चलने के मुकाबले अधिक कैलोरी बर्न करने में मदद मिलती है। रनिंग ऐसा व्‍यायाम है जिसे कोई भी कर सकता है। वे लोग जो कम समय में अधिक वजन और कैलोरी खर्च करना चाहते हैं, उनके लिए रनिंग काफी अच्‍छा व्‍यायाम है। क्‍योंकि दौड़ने में अधिक ऊर्जा की खपत होती है, इसलिए रनिंग से अधिक मात्रा में कैलेारी खर्च होती है।

    दौड़ लगाइए
  • 3

    स्‍टेंथनिंग एक्‍सरसाइज

    सेब के आकार यानी भारी भरकम लोगों की कमर के आसपास काफी अधिक चर्बी होती है। तो इसलिए जरूरी है कि वे वजन कम करने के लिए प्‍लैंक और साइड प्‍लैंक व्‍यायाम कर सकते हैं। प्‍लैंक मांसपेशियों को मजबूती प्रदान करने में मदद करता है। इसे करने के लिए जमीन की ओर मुंह करके लेटें। अपना वजन बाजुओं और पंजों पर रखें। आपकी हथेलियां जमीन पर होनी चाहिए और साथ ही कमर बिलकुल सीधी होनी चाहिए। इस पोजीशन में एकाध मिनट रुकें और फिर कुछ बाद इसे दोहरायें।

    स्‍टेंथनिंग एक्‍सरसाइज
  • 4

    स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग

    एक स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग प्रोग्राम कीजिए। इसके कम से कम 12 से 20 रिपिटेशन भी कीजिए। हर रिपिटेशन के बीच तीस से 60 सेकेंड का ब्रेक भी लीजिए। प्रतिरोधकता वाले व्‍यायाम मांसपेशियां बनाने में मदद करते हैं। इसके साथ ही ये पुरानी मांसपेशियों को शक्ति भी देते हैं। इसके साथ ही ये कैलोरी तो बर्न करते ही है साथ ही वसा का अवशोषण भी कम करते हैं।

    स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग
  • 5

    सप्‍ताह में दो बार करें स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग

    सप्‍ताह में कम से कम दो बार स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग वर्कआउट जरूर करें। एक्‍ससाइज बैंड्स, फ्री वेट्स और मशीन पर कई प्रकार के व्‍यायाम करने से आपको न केवल वजन कम करने में मदद मिलेगी, बल्कि आपके शरीर में नयी मांसपेशियों का निर्माण भी होगा।

    सप्‍ताह में दो बार करें स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग
  • 6

    खेल खेलें

    कई आउटडोर गेम्‍स वजन करने में काफी मदद करते हैं। आप टेनिस खेल सकते हैं, इससे कमर के आसपास वजन कम करने में बहुत मदद मिलती है। यदि आप एक घंटे तक टेनिस खेलते हैं तो आप 500 से ज्‍यादा कैलोरी खर्च कर सकते हैं।

    खेल खेलें
  • 7

    योग

    योग आपको वजन कम करने में बहुत मदद करता है। वजन कम करने के लिए आप भुजंगासन, बलासन और पश्चिमोत्‍तासन का प्रयोग कर सकते हैं। भुजंगासन से न सिर्फ पेट की चर्बी कम होती है बल्कि बाजुओं, कमर और पेट की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है। बलासन योगासन की शुरुआत करने वालों के लिए काफी अच्‍छा है। यह पेट की चर्बी को कम कर मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। गर्भवती महिलाएं या घुटने के रोग से पीड़ित लोग इसे न करें। पश्चिमोत्तानासन पेट की चर्बी कम करने के लिए बेहद आसान और प्रभावी आसन है।

    योग
  • 8

    सीधे खड़े हों

    हो सकता है कि आपको यह आसन बहुत आसान लग रहा हो, लेकिन सिर्फ सीधे खड़े रहने से आपको काफी फायदा होता है। अपने पेट को अंदर की ओर खींचकर रखें। इससे आपके पेट की मांसपेशियां कड़ी और मजबूत होती हैं।

    सीधे खड़े हों
  • 9

    कार्डियो बदलते रहें


    अपने कार्डियो में लगातार बदलाव करते रहें। किसी भी कार्डियो व्‍यायाम को एक महीना से ज्‍यादा न करें। विशेषतौर पर यदि आप अपनी उम्र के बीच के पड़ाव में हों। वसा कोशिकायें, व्‍यायाम के जरिये हुए नुकसान की भरपाई के लिए एस्‍ट्रोजन का निर्माण शुरू कर देती हैं। इससे आपका कम हुआ वजन दोबारा बढ़ जाता है। भले ही आपके व्‍यायाम और खानपान की आदतों में कोई बदलाव नहीं आया हो।

    कार्डियो बदलते रहें
  • 10

    टांगों का करें अधिक व्‍यायाम

    इस प्रकार के व्‍यक्तियों में लोअर बॉडी का अनुपात अधिक बिगड़ा हुआ होता है, तो ऐसे में उन्‍हें शरीर के इस हिस्‍से के व्‍यायाम पर अधिक जोर देने की जरूरत होती है। इसके लिए आपको स्‍वाक्‍ट्स, लंज, लेग प्रेस और डेड लिफ्ट जैसे व्‍यायाम करने चाहिए।

    टांगों का करें अधिक व्‍यायाम
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर