हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

इन 5 अचूक तरीकों से दूर होगी प्रोस्‍टेट ग्‍लैंड की समस्‍या

By:Atul Modi, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Apr 12, 2017
प्रोस्‍टेट ग्‍लैंड संबंधी समस्‍या सुनकर अक्‍सर लोग घबरा जाते हैं। लोगों को इस बात का डर सताने लगता है कि कहीं उन्‍हें प्रोस्‍टेट कैंसर तो नही। तो आइए हम आपको बता रहें है प्रोस्‍टेट समस्‍या से बचने के उपाए।
  • 1

    प्रोस्टेट समस्‍या

    प्रोस्टेट पुरुषों में पाई जाने वाली एक ग्‍लैंड (ग्रंथि) है, जो वास्‍तव में कई छोटी-छोटी ग्रंथियों से मिलकर बनी होती है। यह ग्रंथि पेशाब के रास्‍ते को घेर कर रखती है। एक उम्र के बाद प्रोस्टेट ग्रंथि के टिश्यू स्‍वाभाविक रूप से बढ़ जाते हैं। ऐसा नही कहा जा सकता है कि ये ग्रंथियां जानलेवा होती हैं लेकिन एक स्थिति के बाद ये बहुत ही खतरनाक हो सकती हैं। इनके ज्‍यादा बढ़ने पर प्रोस्‍टेट कैंसर होने का खतरा बढ़ने लगता है। क्‍योंकि प्रोस्‍टेट के अंदर ऐसी कोशिकाएं मौजूद होती हैं जो कैंसर को बढ़ावा देती हैं जिनके बढ़ने के साथ ही कैंसर होने की संभावना भी बढ़ जाती है। हालांकि प्रोस्‍टेट की समस्‍याओं को नियंत्रित रखने के प्राकृतिक उपाय भी हैं। आइए जानते हैं इस स्‍लाइड शो से-

    प्रोस्टेट समस्‍या
  • 2

    कद्दू के बीज

    कद्दू के बीज ड्यूरेटिक (मूत्रवर्धक) रूप से कार्य करते हैं जो कि कई बीमारियों में लाभकारी हैं। खासकर मूत्र और प्रोस्टेट से संबंधित रोगों में बेहद फायदेमंद हैं। कद्दू के बीज में जिंक की मात्रा अधिक होती है, जोकि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करता है। कद्दू के बीजों को कच्‍चा खाने से प्रोस्‍टट की समस्‍याएं तेजी से दूर होती है। इनके बीजों की चाय बनाकर भी पी सकते हैं।

    कद्दू के बीज
  • 3

    विटामिन डी

    विटामिन डी की उचित मात्रा होने से प्रोस्टेट कैंसर होने का खतरा नहीं रहता। यह न केवल प्रोस्टेट कैंसर से रक्षा करता है बल्कि होने के बाद इससे उपचार भी संभव है। फोर्टिफाइड दालें और ठंडे पानी में रहने वाली मछलियां विटामिन डी की अच्छी स्रोत होती हैं। इसके साथ ही आप विटामिन डी थ्री के सप्लीमेंट भी ले सकते हैं।

    विटामिन डी
  • 4

    ओमेगा-3 का स्रोत है मछली

    मछली ओमेगा 3 की अच्छी स्रोत होती है, जो कि कैंसर से बचाव में सहायक है। इसके अलावा फ्लैक सीड भी ओमगा 3 के अच्छे स्त्रोत होते हैं। शरीर में ओमेगा 3 की मात्रा बढ़ाने के लिए फिश ऑयल के कैप्सूल सप्लीमेंट के रूप में भी लिए जा सकते हैं।

    ओमेगा-3 का स्रोत है मछली
  • 5

    ग्रीन टी

    ग्रीन टी एक ऐसी हर्ब है जिसमें बहुत से गुण होते हैं और यह प्रोस्टेट कैंसर के उपचार में भी सहायक है। ग्रीन टी में पोलीफिनोल्स उचित मात्रा में होते हैं जो कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं को मार देते हैं।

    ग्रीन टी
  • 6

    अदरक भी है उपयोगी

    अदरक की जड़ प्रोस्टेट कैंसर से बचाव के लिए बहुत ही प्रभावी है। अदरक में एंटीफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीप्रोलिफिरेटिव गुण होते हैं जो कैंसर को बढ़ावा देने वाले सेल्‍स को खत्म कर देते हैं। ऐसे में अदरक खाना प्रोस्टेट कैंसर से बचाव और आराम दोनों दे सकता है।

    अदरक भी है उपयोगी
  • 7

    अनार

    रिसर्च में भी यह बात सामने आ चुकी है कि प्रोस्टेट कैंसर से बचाने में अनार बहुत ही मददगार है। अनार में मौजूद तत्व कैंसर को पैदा करने वाले सेल्स को मार देते हैं जिससे कैंसर नहीं होता। आप अनार के दानों को खा सकते हैं या जूस पी सकते हैं।

    Image Source : Getty

    अनार
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर