हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

क्यों सेक्स पर बात नहीं करतीं भारतीय महिलाएं

By:Shabnam Khan , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jan 25, 2015
जहां बात भारतीय महिलाओं की आती है तो वो तो सेक्स के विषय पर इतनी अनजान बन जाती हैं जैसे कि उनका इससे कोई ताल्लुक ही न हो। लेकिन, महिलाओं के इस रवैये के पीछे कुछ सामाजिक व पारिवारिक कारण होते हैं।
  • 1

    भारतीय महिलाएं करती हैं सेक्स के विषय पर बात करने से परहेज

    भारत में सेक्स जैसे बोल्ड विषय को टैबू माना जाता है। इस विषय पर खुलकर और खुले में बात करना स्वाभाविक नहीं माना जाता जबकि ये एक ऐसी चीज है जो हर शख्स की जिंदगी का एक अहम हिस्सा है। जहां बात भारतीय महिलाओं की आती है तो वो तो सेक्स के विषय पर इतनी अनजान बन जाती हैं जैसे कि उनका इससे कोई ताल्लुक ही न हो। लेकिन, महिलाओं के इस रवैये के पीछे कुछ सामाजिक व पारिवारिक कारण होते हैं। आइये जानते हैं किन कारणों की वजह से भारतीय महिलाएं सेक्स के विषय पर बात नहीं करती।

    Image Source - Getty Images

    भारतीय महिलाएं करती हैं सेक्स के विषय पर बात करने से परहेज
  • 2

    चिंता चरित्र की

    भारतीय महिलाओं को महिलाओं को अपने चरित्र की सबसे ज्यादा चिंता होती है। उन्हें लगता है कि अगर वो सेक्स जैसे विषय पर खुलकर बात करने लगेंगी तो लोग उनके चरित्र को गलत समझेंगे। और हमारे समाज में जब महिला के चरित्र पर एक बार सवाल उठा दिये जाए तो उसके लिए हर चीज मुश्किल हो जाती है।

    Image Source - Getty Images

    चिंता चरित्र की
  • 3

    परिवार वालों को शर्मिंदगी से बचाना

    भारतीय समाज में परिवार के मूल्यों और इज्जत का जिम्मा महिलाओं के कंधों पर ही डाल दिया जाता है। वो अपने जीवन में भले ही जाहिरी तौर पर आजाद हों, लेकिन मानसिक रूप से वो अपने परिवार के मूल्यों के साथ बंधी होती हैं। उनको लगता है कि अगर उन्होंने सेक्स पर खुलकर बात की तो उनके परिवार वालों को शर्मिंदगी उठानी पड़ेगी।

    Image Source - Getty Images

    परिवार वालों को शर्मिंदगी से बचाना
  • 4

    पुरुषों की नजर में छवि न बिगाड़ना

    महिलाओं की जिंदगी के अहम फैसले किसी न किसी तरह से पुरुषों से जुड़े हुए होते हैं। ये विषय भी पुरुषों से जुड़ा हुआ ही है। दरअसल, भारतीय समाज के पुरुष महिलाओं को लेकर स्टीरियोटाइप हैं। महिलाओं की किसी आम सी आदत या बात को उसकी छवि से जोड़ देते हैं। महिलाएं पुरुषों की नजर में अपनी छवि बिगड़ने से बचाने के लिए सेक्स जैसे बोल्ड विषय पर बात नहीं करती। उनको लगता है कि ऐसा करने से पुरुष की नजर में उनकी छवि साफ-सुथरी रहेगी।

    Image Source - Getty Images

    पुरुषों की नजर में छवि न बिगाड़ना
  • 5

    शादी न हो पाने का डर

    अविवाहित महिलाओं के सेक्स जैसे बोल्ड विषय पर बात करने से उनके सामने एक बड़ी मुश्किल आ जाती है। दरअसल, हमारे समाज में इतने बोल्ड विषय पर बात करने वाली लड़कियों को तेज समझा जाता है, और इस वजह से उनके लिए शादी के रिश्ते आने में मुश्किल होती है। कोई भी लड़की नहीं चाहेगी कि उसकी शादी में इस वजह से परेशानी हो। इसलिए वह सेक्स पर बात करने से डरती है।

    Image Source - Getty Images

    शादी न हो पाने का डर
  • 6

    जानकारी का अभाव

    भारतीय परिवारों में बच्चों को सेक्स की शिक्षा नहीं दी जाती। वहीं दूसरी ओर, अभी भारतीय स्कूल भी सेक्स शिक्षा को लेकर डिबेट ही कर रहे हैं। फिर, हमारा समाज सेक्स पर बातचीत को टैबू मानता है। लिहाजा, महिलाओं को इस विषय पर अधिक जानकारी नहीं होती। अब जब किसी चीज की जानकारी ही नहीं होगी तो इंसान उसके बारे में बात कैसे करेगा भला?

    Image Source - Getty Images

    जानकारी का अभाव
  • 7

    अत्यंत निजी बात समझना

    भारतीय महिलाएं मासिक धर्म, अपने अंत:वस्त्रों, रिलेशनशिप के साथ ही साथ सेक्स से जुड़ी बातों को भी बहुत निजी समझती हैं। वो खुलकर इस बारे में न ही केवल अपने परिवार बल्कि अपने दोस्तों से बात करना भी पसंद नहीं करतीं।

    Image Source - Getty Images

    अत्यंत निजी बात समझना
  • 8

    महिलाओं की चर्चा का विषय नहीं

    भारत में लिंग भेद इतना अधिक है कि महिलाओं और पुरुषों में चर्चा के विषय भी बंट गए हैं। घर के काम की बात हो तो वो महिलाओं का विषय, ऑफिस के काम की बात हो तो वो पुरुष का विषय। इसी तरह से सेक्स को ऐसा विषय नहीं माना जाता जिस पर वे चर्चा करें।

    Image Source - Getty Images

    महिलाओं की चर्चा का विषय नहीं
  • 9

    जरूरी न समझना

    सेक्स हर इंसान की बेसिक जरूरत है। एक उम्र के बाद सेक्स लगभग हर शख्स की जिंदगी का हिस्सा बन जाता है। लेकिन भारतीय परिवारों में इस विषय पर कभी चर्चा नहीं होती। शायद, यही वजह है कि महिला इसे इतना जरूरी नहीं समझती। महिलाएं अमूमन भावनात्मक रिश्तों को महत्व देती हैं।

    Image Source - Getty Images

    जरूरी न समझना
  • 10

    बच्चों पर गलत असर पड़ने का डर

    भारतीय महिलाओं को ज्यादातर अपने बच्चों के लिए आदर्श बनना पड़ता है। महिलाओं पर बच्चे के पालन-पोषण और उन्हें संस्कार देने की जिम्मेदारी होती है। ये जिम्मेदारी अक्सर पुरुषों पर नहीं होती। इस वजह से महिलाओं को लगता है उनका हर कदम उनके बच्चे के पालन-पोषण पर प्रभाव डालेगा। उन्हें लगता है कि अगर वो सेक्स के बारे में खुलकर बातें करेंगी तो उनके बच्चों पर इसका गलत असर पड़ सकता है। उनके बच्चों के संस्कारों में कमी आ सकती है।

    Image Source - Getty Images

    बच्चों पर गलत असर पड़ने का डर
  • 11

    हमारी संस्कृति का हिस्सा न समझना

    ऐसी भारतीय महिलाओं की कमी नहीं है जो सेक्स को भारतीय संस्कृति के साथ नहीं जोड़ती। ऐसी महिलाओं को लगता है कि सेक्स पर बात करना अमेरिका या फिर किसी और पश्चिमी देश की संस्कृति का हिस्सा है। हमारी भारतीय संस्कृति में सेक्स के लिए कोई जगह नहीं है। इसलिए वो इस पर बात नहीं करती।

    Image Source - Getty Images

    हमारी संस्कृति का हिस्सा न समझना
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर