हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

सुबह के समय क्यों होता है इरेक्शन? जानें कारण

By:Gayatree Verma , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Sep 08, 2016
सुबह-सुबह आप भी अपने लिंग में उत्तेजना महसूस करते हैं तो घबराए नहीं। ये प्राकृतिक है और इसके कई कारण हो सकते हैं। तो घबराएं नहीं और इसके सुबह-सुबह उत्तेजित होने के कारण जानें।
  • 1

    सुबह-सुबह उत्तेजित रहना

    आपने कई बार देखा होगा कि सुबह-सुबह जब आप उठते हैं तो आपको अपने लिंग में काफी उत्तेजना महसूस होती होगी। ऐसा पंद्रह साल के या उनसे बड़े  उम्र के लड़कों को भी होती है। ऐसे में जब ये बच्चों को भी होता तो तर्क दिया जाता था कि भोजन अच्छे से ना पचने के कारण ऐसा हो रहा है। लेकिन ऐसा कुछ नहीं है। ये कई कारणों से होता है जिमने से ये दो कारण प्रमुख हैं-
    पहला- सेक्स की भावनाओं के कारण आई लिंग उत्तेजना
    दूसरा- नींद में रैपिड आई मूवमेंट (आरईएम ) के दौरान या कोई गहरा सपना देखने की स्थिति में।

    सुबह-सुबह उत्तेजित रहना
  • 2

    मस्तिष्क की सक्रियता होती है आरईएम

    अब कोई लोगों के मन में ये सवाल आ रहा होगा कि, क्या है ये रैपिड आई मूवमेंट (आरईएम )? जबकि पुरुषों को आरईएम से संबंधित इरेक्शन होना सामान्य बात है। इस तरह का इरेक्शन दिमाग के उस हिस्से के सक्रिय होने के कारण होता है जो सेक्सुअल इरेक्शन के दौरान निष्क्रिय रहता है। मनोवैज्ञानिक दृष्टिकोण के तौर पर दोनों में केवल इरेक्शन होना ही समान, बाकि ये दोनों एक-दूसरे से काफी अलग हैं। जबकि महिला पार्टनर इस तरह का इरेक्शन देखती है तो ये सोच कर दुकी हो जाती है कि पार्टनर को रात में पूरा यौन सुख हासिल नहीं हुआ इसलिए सुबह इरेक्शन हो गया है।

    मस्तिष्क की सक्रियता होती है आरईएम
  • 3

    मॉर्निंग वुड

    इसे लोकल भाषा में बिना बुलाया मेहमान भी कहते हैं जिससे खुद पुरुष भी परेशान रहते हैं। क्योंकि ये जल्दी सामान्य भी नहीं होता। सेक्स करने के बावजूद भी नहीं। जबकि सुबह की उत्तेजना में सेक्स की भावना बिल्कुल नहीं होती फिर भी ये सेक्स के दौरान होने वाली उत्तेजना से कहीं अधिक सख्त एवं प्रभावशाली होता है। इस कारण इसे मनोवैज्ञानिक 'मॉर्निंग वुड' भी कहते हैं। मनोवैज्ञानिक कहते हैं कि इस अवस्था में किया गया सेक्स काफी हद तक भावना विहीन होता है।

    मॉर्निंग वुड
  • 4

    सेक्स भावना

    कई बार ये सेक्स भावना के कारण भी होता है। जब कोई पुरुष सपने में कोई सेक्सी सपना देखता है या उसके दिमाग में पिछले कई दिनों से सेक्स की भावना को लेकर उथल-पुथल चल रही होती है तो इसका परिणाम सुबह-सुबह उत्तेजना के रुप में मिलता है। लोग कहते हैं कि ऐसा ब्लेडर खाली ना होने के कारण होता है। लेकिन ऐसा कुछ नहीं है। कई पुरुषों को ब्लेडर के फुल होने के बाद भी लिंग में उत्तेजना महसूस नहीं होती। ये केवल सेक्स की भावना के कारण होता है खासकर तब जब वो सेक्स का आनंद लेने के लिए बेकरार हो। और ये कई रिसर्च में प्रमाणित भी हुआ है कि पुरुषों को सुबह-सुबह सेक्स करना काफी पसंद होता है।

    सेक्स भावना
  • 5

    नाइट्रिक ऑक्साइड

    कई अध्ययन में ये भी पुष्टि हुई है कि ऐसा नाइट्रिक ऑक्साइड के कारण भी होता है। जब कुछ कोशिकाएं नाइट्रिक ऑक्साइड रीलिज करती हैं तो शरीर के इस हिस्से तक बल्ड सर्कुलेशन बढ़ जाता है और लिंग के खड़े होने का कारण बनता है। ऐसे में ब्लड सर्कुलेसन को सामान्य होने में समय लगता है जिस कारण ये काफी देर तक रहता है। तो अगर आगे से आप या आपकी पार्टनर उत्तेजना को लेकर परेशान हों तो इन कारणों के बारे में एक बार सोच लें और फिर बेफिक्र हो जाएं।

    नाइट्रिक ऑक्साइड
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर