हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

किस तरह का दूध आपके लिए है फायदेमंद

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jun 20, 2015
कुछ लोग लैक्‍टोज असहिष्‍णुता तो कुछ शाकाहारी होने के कारण दूध से दूर भगाते हैं। और अगर आप ऐसा करते हैं तो इसका विकल्‍प क्‍या हैं? आइए हम दूध के 6 अन्‍य सूत्रों के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों पर नजर डालते हैं।
  • 1

    लैक्‍टोज असहिष्‍णु के कारण दूध से दूरी

    दुनिया की आबादी में से कम से कम 75 प्रतिशत लोग लैक्‍टोज असहिष्‍णु है। लैक्टोज दूध के उत्‍पादों में पाया जाने वाला प्राकृतिक शुगर है। जब किसी व्‍यक्ति को दूध हजम नहीं हो पाता है तो उसे लैक्‍टोज असहिष्‍णुता की समस्‍या होती है। लैक्टोज असहिष्णु‍ता की समस्‍या से पेट में दर्द, सूजन, गैस, पेट के फूलने जैसी समस्‍या हो सकती है। इसके कारण उल्टी, दस्त, मिचली, खाना न पचने जैसी समस्याएं भी होती हैं। कई लोग इस कारण से तो कुछ शाकाहारी होने के कारण दूध से दूर भगाते हैं। और अगर आप ऐसा करते हैं तो इसका विकल्‍प क्‍या हैं? आइए हम दूध के 6 अन्‍य सूत्रों के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों पर नजर डालते हैं।
    Image Source : Getty

    लैक्‍टोज असहिष्‍णु के कारण दूध से दूरी
  • 2

    दूध के प्रकार और फायदे

    शरीर को पोषण की आवश्‍यकता होती है और अगर आप दूध का सेवन नहीं करते तो समझो कि आप शरीर के लिए बहुत से विटामिन और मिनरल खो रहे हैं। बहुत से लोग मानते हैं कि दूध से केवल कैल्शियम मिलता है और यह सिर्फ बढ़ते बच्चों के लिए ही सेहतमंद होता है। अगर आप लैक्‍टोज असहिष्‍णु तो घबराइए नहीं क्‍योंकि आजकल दूध के अनेक विकल्प मौजूद हैं। इसलिए आप अपनी पसंद का दूध चुन सकते हैं।
    Image Source : Getty

    दूध के प्रकार और फायदे
  • 3

    बादाम का दूध

    बादाम का दूध बादाम से बनता है, इसमें अन्‍य दूध की तुलना में कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। यह कोलेस्ट्रॉल, संतृप्त वसा से मुक्त होता है, और प्राकृतिक रूप से लैक्टोज मुक्त भी है। इसे पीने से पेट काफी देर तक भरा रहता है और यह शाकाहारी लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प है। यह प्रोटीन, विटामिन ई, मैग्नीशियम, मोनोअनसेच्युरेटिड फैट, मैंगनीज, तांबा और राइबोफ्लेविन आदि से भरपूर है। यह दिल की बीमारियों को दूर करता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। लेकिन इसमें कैल्शियम नहीं होता जो ऑस्टियोपोरोसिस जैसी समस्‍याओं वाले लोगों के लिए महत्वपूर्ण होता है।
    Image Source : Getty

    बादाम का दूध
  • 4

    सोया मिल्क

    सोया मिल्‍क सोयाबीन से बनता है। यह उन लोगों के लिए अच्छा विकल्प है, जो शाकाहारी है और जिनको लैक्टोज सहन नहीं होता है। सोया मिल्क में फैटी एसिड, प्रोटीन, फाइबर, विटामिन और मिनरल होते हैं। यह दिल के लिए बहुत अच्छा होता है क्योंकि यह बैड कोलेस्ट्रोल को कम करता है और वजन कम करने में भी मददगार है। सोया मिल्क में मौजूद ओमेगा 3 और ओमेगा 6 रुधिर वाहिनियों को मजबूत करता है और प्रोस्टेट कैंसर और ऑस्टियोपोरोसिस सिंड्रोम से रक्षा करता है। लेकिन ध्‍यान रखें कि सोया मिल्‍क के थॉयरायड की समस्‍या वाले लोगों को इसका अधिक सेवन नहीं करना चाहिए।
    Image Source : Getty

    सोया मिल्क
  • 5

    कोकोनट मिल्क

    नारियल के गूदे से निकाला जाता है। इस दूध के रंग और मीठे स्वाद का श्रेय इसमें उपस्थित उच्च शर्करा स्तर और तेल को दिया जा सकता है। कोकोनट मिल्क यह भारत में मिलने वाला सबसे अच्छा दूध है। कोकोनट मिल्क में प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, विटामिन, मिनरल और फाइबर आदि भरपूर मात्रा में होते है। कोकोनट मिल्क में विटामिन सी, ई और विटामिन बी कॉम्प्लेक्स पाया जाता है। यह गॉलब्‍लैडर स्‍टोन से रक्षा करता है, आपके इम्यून सिस्टम को बढ़ाता है। साथ ही  वजन कम करने, सूजन और त्वचा की बीमारियों से लड़ने में भी मददगार होता है।
    Image Source : Getty

    कोकोनट मिल्क
  • 6

    राइस मिल्‍क

    राइस मिल्‍क चावल और पानी से बनाया जाता है। यह एलर्जिक नहीं होता, इसलिए नट्स एलर्जी और लैक्‍टोज से ग्रस्‍त लोगों के लिए एक अच्‍छा विकल्‍प है। हालांकि यह सोया और बादाम की तरह प्राकृतिक स्रोत नहीं है लेकिन फिर भी इसमें कैल्शियम और विटामिन डी पाया जाता है। यह कैल्शियम को बहुत अच्‍छा स्रोत है। और यह शाका‍हारियों द्वारा इस्‍तेमाल किया जा सकता है। राइस मिल्‍क में कार्बोहाइड्रेट बहुत ज्‍यादा और प्रोटीन बहुत कम होता है।
    Image Source : seriouseats.com

    राइस मिल्‍क
  • 7

    ओट्स मिल्‍क

    जो लोग डेयरी मिल्‍क से बचते है उन लोगों के लिए यह बहुत अच्‍छा विकल्‍प है। ओट्स मिल्‍क हर दिन प्राकृतिक रूप से आवश्‍यक पोषण प्राप्‍त करने का बढि़या तरीका है। साथ ही यह लैक्टोज मुक्‍त होता है। ओट्स में कई चिकित्‍सक गुण होते है और यह उच्च प्रोटीन और फाइबर सामग्री और कोलेस्ट्रॉल को कम करने की क्षमता के लिए जाना जाता है। ओट्स प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने, हृदय रोगों को रोकने, स्वस्थ कोलेस्ट्रॉल और रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखने, प्राकृतिक संयंत्र प्रोटीन और शर्करा से शक्ति और ऊर्जा प्रदान करने और आपकी त्वचा और बालों के स्वास्थ्य में सुधार करने में मददगार होता हैं।
    Image Source : allhealthalternatives.com

    ओट्स मिल्‍क
  • 8

    लैक्टोज मुक्त दूध

    लैक्‍टोज मुक्‍त मिल्‍क में लैक्‍टोज नहीं होता है। दूध उत्पादों में पाई जाने वाली प्राकृतिक चीनी। अन्य दूध की तरह लैक्टोज मुक्त दूध प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन और मिनरल का एक अच्छा स्रोत है। लैक्टोज रहित दूध में वसा और कोलेस्ट्रॉल सामग्री 2 प्रतिशत, 1 प्रतिशत, और वसा रहित किस्मों में आती और बदलती रहती है।
    Image Source : tradeindia.com

    लैक्टोज मुक्त दूध
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर