हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

रोटी और ब्रेड में से क्या हे ज्यादा हेल्थी? जानें

By:Aditi Singh , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Sep 21, 2015
ब्रेड और रोटी की तुलना अक्सर ही सभी घरों में होती है, लेकिन ब्रेड की तुलना में रोटी को अधिक स्‍वास्‍थ्‍यवर्द्धक माना जाता है, इस स्‍लाइडशो में जानिए ऐसा क्‍यों है।
  • 1

    स्वास्थ्यवर्द्धक रोटी या ब्रेड!

    घर की बनी रोटी खाने में अक्सर बच्चे नाटक करते है। वहीं बाजार में मिलने वाली विभिन्न प्रकारों की वैराइटी की ब्रेड उन्हें लुभाती है। लेकिन वो रोटी और ब्रेड के बीच के अंतर के बारे में ज्यादा नहीं समझते। कई बार ये आटे से बनी ब्रेड की तुलना वो रोटी से कर देते है तो ठीक नहीं है। रोटी और ब्रेड को बनाने का तरीका उनके पोषक तत्वों को प्रभावित कर देता है। इसलिए बाजारों में मिलने वाले वाइट ब्रेड, फ्लोर ब्रेड, मल्टी ग्रेन ब्रेड और रोटी के बीच को अंतर को समझने के लिए ये लेख पढ़े।

    Image Source-Getty

    स्वास्थ्यवर्द्धक रोटी या ब्रेड!
  • 2

    रेशेदार होती है रोटी

    रोटी घर पर बनाई जा सकती है, जिसमें किसी भी प्रकार का प्रिजर्वेटिव नहीं मिला होता है। यह साबुत अनाज से बनाई जाती है, जैसे जौ, बाजरा, गेहूं या फिर बाजरा आदि। इसको बनाने के लिये अनाज के आटे का प्रयोग किया जाता है। आटा बनाते वक्‍त उसमें से रेशा नहीं निकाला जाता है। रोटी को बनाने के लिये किसी प्रकार के यीस्‍ट का उपयोग नहीं किया जाता। जब  बात पाचन की आती है, तब कई लोंगो को यीस्‍ट हजम करने में समस्‍या आती है।
    Image Source-Getty

    रेशेदार होती है रोटी
  • 3

    यीस्ट से पकती है ब्रेड

    ब्रेड को पानी, आटा और कभी-कभार कई अन्‍य अनाज मिला कर बनाई जाती है। ब्रेड या तो बेक की जाती है या फिर स्‍टीम और फ्राई। ब्रेड को बेक करने के लिये यीस्‍ट का प्रयोग होता है। जब ब्रेड को पकाया जाता है, तब इसमें से भारी मात्रा में रेशा हटा दिया जाता है। हां सफेद ब्रेड की जगह पर ब्राउन ब्रेड खाना ज्‍यादा उचित रहता है।
    Image Source-Getty

    यीस्ट से पकती है ब्रेड
  • 4

    रोटी के फायदे

    जैसे की रोटी को साबुत अनाज से बनाया जाता है तो इसे खाने से पेट तो भर ही जाता है बल्कि यह आसानी से पच भी जाती है।साबुत अनाज में फाइबर पाया जाता है जिसे खाने से कब्‍ज जैसी पेट की बीमारी दूर होती है। बाजरा के आटे की बनी रोटी रोजाना खाने से डीहाइड्रेशन भी हो सकता है। हमेशा गेहूं की ही रोटी खाएं।रोटी बनाने से पहले हम उसे तुरंत ही सानते हैं इसलिये वह हमेशा फ्रेश रहती है और शरीर के लिये हेल्‍दी भी। इसके आटे में ना कोई रसायन मिला होता है और ना ही यह कैलोरी से भरी होती है।इसमें पाया जाने वाला विटामिन ई, घुलनशील फाइबर और सेलीनियम होता है जो कि शरीर में कैंसर होने का चांस कम करता है।
    Image Source-Getty

    रोटी के फायदे
  • 5

    ब्रेड के नुकसान

    चाहे ब्रेड किसी भी रंग, रूप या आकार में हो, यह आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिये हानिकारक है। न ही इसमें किसी प्रकार का प्रोटीन और विटामिन होता है और न ही फाइबर।ब्रेड में हाई लेवल का सोडियम होता है जो कि ब्‍लड प्रेशर और हार्ट की बीमारी को बढाता है। भले ही ब्रेड में थोड़ी ही कैलोरी मिलती हो लेकिन इसे सुबह लेने से शरीर में बहुत ज्‍यादा कैलोरी की मात्रा बढ जाती है। इसे केक या बर्गर के रूप में लेने से, इसमें मौजूद एक्‍स्‍ट्रा सॉल्‍ट और शुगर वेट बढाने में मदद करता है।
    Image Source-Getty

    ब्रेड के नुकसान
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर