हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

आठ उपाय जो इच्‍छाशक्ति बढ़ायें

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Sep 04, 2014
संकल्‍प शक्ति को दृढ़ बनाकर हम अपनी सोच के अनुसार चीजों को पा सकते हैं। यह सब किसी जादू का नहीं बल्कि श्रेष्ठ और शक्तिशाली संकल्प शक्ति का ही कमाल होता है।
  • 1

    संकल्‍प शक्ति

    किसी श्रेष्ठ सोच-विचार और भाव को जीवन में साकार कर दिखाने की शक्ति को इच्‍छाशक्ति कहते है। सफलता की समस्त दिशाओं में फिर वह चाहे भौतिक हो या आध्यात्मिक, संकल्प शक्ति एक सर्वाधिक उत्तम, महत्त्वपूर्ण और उपयोगी औजार है।
    image courtesy : getty images

    संकल्‍प शक्ति
  • 2

    आखिर क्‍यों होते हैं असफल

    जब इतना महत्‍वपूर्ण औजार हमारे पास उपलब्‍ध है फिर हम असफल क्‍यों हो जाते हैं। ऐसा इसलिये होता हैं क्‍योंकि हम अपनी इच्‍छाशक्ति को अनदेखा कर देते हैं। संकल्‍प शक्ति को दृढ़ बनाकर हम अपनी सोच के अनुसार चीजों को पा सकते हैं। यह सब किसी जादू का नहीं बल्कि श्रेष्ठ और शक्तिशाली संकल्प शक्ति का ही कमाल होता है। आइए संकल्‍प शक्ति को बढ़ाने के उपायों के बारे में जानें। image courtesy : getty images

    आखिर क्‍यों होते हैं असफल
  • 3

    क्‍या कहता है शोध

    केली मैकगोनिगल पीएचडी एंड लेखक ऑफ विलपॉवर इंस्टिंक्ट के अनुसार, इच्‍छाशक्ति एक प्रतिक्रिया है। जो मस्तिष्‍क और शरीर दोनों से आती है। प्रीफ्रंटल कोर्टेक्स (माथे के पीछे मस्तिष्क का खंड) वह हिस्‍सा है जो निर्णय लेने और हमारे व्यवहार को विनियमित करने जैसी चीजों में मदद करता है। आत्मसंयम या इच्छाशक्ति, इस शीर्षक के अंतर्गत आते है, और इस प्रकार मस्तिष्क के इस हिस्से का ध्यान रखा जाना चाहिए। image courtesy : getty images

    क्‍या कहता है शोध
  • 4

    तनाव प्रबंधन करना सीखें

    मैकगोनिगल के अनुसार, शुरुआत करने के लिए सबसे पहले हमें तनाव के स्‍तर का प्रबंधन करने की जरूरत होती है। तनाव के उच्‍च होने पर हमारा प्रीफ्रंटल कोर्टेक्स ऊर्जा के लिए लड़ाने में असमर्थ हो जाता है। मैकगोनिगल कहते हैं कि तनाव महसूस होने पर गहरी सांस लेने से तनाव के स्‍तर में प्रबंधन और संकल्‍प शक्ति को बढ़ाया जा सकता है।  image courtesy : getty images

    तनाव प्रबंधन करना सीखें
  • 5

    टिके रहें

    जर्नल ऑफ पर्सनालिटी एंड सोशल साइकोलॉजी में प्रकाशित एक अध्‍ययन के अनुसार, आत्‍म प्रतिज्ञान इच्‍छाशक्ति को मजबूत बनाने में आपकी मदद करता है। पहले से ही किसी काम के लिए ना कह देना जैसे बुरी आदत से खुद को दंडित करना ठीक नहीं है। इसलिए कुछ करने के लिए अपने आप को मजबूर करके आप आसानी से संकल्‍प शक्ति को मजबूत बना सकते हैं।  image courtesy : getty images

    टिके रहें
  • 6

    भरपूर नींद से दिमाग बेहतर ऊर्जा प्रबंधन

    मैकगोनिगल कहते हैं कि पर्याप्‍त नींद प्रीफ्रंटल कॉर्टेक्स को कुशलता से काम करने में मदद करती है। अनिद्रा क्रोनिक तनाव का जन्‍म देता है जो शरीर और दिमाग द्वारा इस्‍तेमाल एनर्जी को हानि पहुंचाता है। तनाव प्रतिक्रिया होने पर प्रीफ्रंटल कॉर्टेक्स विशेष रूप से असर पड़ता है। इसलिए संकल्‍प शक्ति को बढ़ाने के लिए भरपूर नींद लें। image courtesy : getty images

    भरपूर नींद से दिमाग बेहतर ऊर्जा प्रबंधन
  • 7

    ध्यान का लें सहारा

    मैकगोनिगल सुझाव देते है कि ध्‍यान इच्‍छाशक्ति को बढ़ाता है। साथ ही ध्‍यान तनाव प्रबंधन और आत्म जागरुकता में सुधार करने में भी मदद करती है। इसके लिए आपको जीवन भर ध्‍यान का अभ्‍यास करने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि आठ सप्‍ताह के संक्षिप्त दैनिक ध्यान प्रशिक्षण से मस्तिष्‍क में परिवर्तन देखा जा सकता है।  image courtesy : getty images

    ध्यान का लें सहारा
  • 8

    बेहतर व्यायाम : लेकिन सबसे ज्‍यादा नजरअंदाज

    यह मस्तिष्‍क को प्रशिक्षित करने का सबसे बढि़या तरीका है, लेकिन यह आसानी से नजरअंदाज होता है और इसका सही मूल्‍यांकन नहीं किया जाता है। और आपको तनाव के लिए बहुत अधिक लचीला बना देता है। इस तरह से संकल्‍प को बढावा देने नियमित शारीरिक व्‍यायाम बहुत जरूरी है। image courtesy : getty images

    बेहतर व्यायाम : लेकिन सबसे ज्‍यादा नजरअंदाज
  • 9

    सही पोषण

    आहार का असर आपकी प्रीफ्रंटल कॉर्टेक्स के कार्य पर भी पड़ता है। इसलिए पोषण बहुत महत्‍वपूर्ण है। पौष्टिक आहार न केवल आपके मस्तिष्‍क को ऊर्जा देता है, बल्कि संकल्‍प शक्ति के हर पहलू में सुधार करता है। अच्‍छा पोषण आपके इच्‍छाशक्ति में सुधार करने के अलावा आपको बेहतर महसूस करने में भी मदद करता है। image courtesy : getty images

    सही पोषण
  • 10

    टालें नहीं

    अकसर लोगों को कहते हुए सुना गया है कि अभी नहीं बाद में। विलपॉवर मे : रेडिस्कवरिंग द ग्रेटेस्ट ह्यूमन स्ट्रेंथ रॉय एफ बाउमैस्टर के अनुसार, ऐसा कहने वाले लोग आमतौर पर कुछ प्रलोभन से परेशान होकर उससे बचने की कोशिश कर रहे होते हैं। image courtesy : getty images

    टालें नहीं
Load More
X