हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

डायबिटीज में अंग-विच्‍छेदन से कैसे बचें

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Sep 05, 2014
दुनिया भर में मधुमेह अंग-विच्‍छेदन के प्रमुख कारणों में से एक है। अगर आप मधुमेह रोगी है तो यह टिप्‍स अंग विच्‍छेदन के जोखिम को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं।
  • 1

    फुट अल्सर की रोकथाम

    मधुमेह तंत्रिकाओं को नष्‍ट करने और सर्कुलेशन में कमी का कारण बनता है, जिससे मधुमेह रोगियों में पैर और फुट अल्‍सर और अन्‍य समस्‍याओं के विकसित होने की संभावना अधिक रहती है। इन्‍हे अनियंत्रित छोड़ने पर कुछ जटिलताएं अंग-विच्‍छेदन को जन्‍म दे सकती है। लेकिन निम्‍न तरीकों के माध्‍यम से उचित देखभाल से आप अंग-विच्‍छेदन की समस्‍या से आसानी से बच सकते हैं।

    फुट अल्सर की रोकथाम
  • 2

    पैरों को स्‍वच्‍छ रखें

    अपने पैरों को स्‍वच्‍छ और सु‍रक्षित रखना चाहिए। रोज रात में सोने के पहले पैरों को हल्के गर्म यानी गुनगुने पानी में थोड़ी देर रखें और पैरों को साफ करें। फिर टॉवल से अच्छी तरह पैरों को सुखाएं, खासतौर पर अंगूठे और उंगलियों के बीच के गैप को। पैरों की त्‍वचा को मॉइस्‍चराइजिंग क्रीम की मदद से मुलायम रखें।

    पैरों को स्‍वच्‍छ रखें
  • 3

    नियमित रूप से पैरों की जांच

    मधुमेह के मरीजों के लिए रोजाना पैरों का परीक्षण किया जाना जरूरी होता है। अल्सर, दरारें, कट, लालिमा, सूजन और घावों होने के किसी भी लक्षण पर पूरी नजर रखी जानी चाहिए। कुछ भी नोटिस होने पर अपने चिकित्‍सक से परामर्श करें।

    नियमित रूप से पैरों की जांच
  • 4

    नंगे पांव ना चलें

    नंगे पांव चलना पैरों के घायल होने का कारण हो सकता है। डायबिटीज की समस्‍या होने पर आपको अपने पैरों की रक्षा करने की जरूरत है। जमीन पर खड़ा होने पर जूते या चप्पल की एक आरामदायक जोड़ी पहनने का नियम बना लें।

    नंगे पांव ना चलें
  • 5

    स्‍वयं इलाज न करें

    कॉर्न्‍स के रूप में होने वाली पैरों की समस्‍या को अनदेखा न करें। इसके लिए अपने डॉक्‍टर से जांच करवाये। क्‍योंकि ऐसी जटिलताओं को स्‍वयं संभालने से पैरों को अधिक नुकसान हो जाता है।

    स्‍वयं इलाज न करें
  • 6

    सावधानी से काटें नाखून

    पैरों के नाखून काटते वक्त सबसे ज्यादा कट लगने का चांस होता है इसलिए नाखून काटते वक्त पैरों का खास ध्यान दें। नाखूनों को बहुच छोटा न काटें और काटते वक्त पहले साइड से काटें और फिर बीच में नाखून काटें। नाखूनों के अलावा त्वचा को नुकसान से बचाने के लिए जल्दबाजी न करें।

    सावधानी से काटें नाखून
  • 7

    प्रतिदिन अपने मोजे बदलें

    हर सुबह धुले हुए मोजे पहनें। पहने हुए मोजे कभी न पहनें और प्रत्‍येक उपयोग के बाद उन्‍हें ठीक से धोना न भूलें। सूती मोजे पहनें और नायलॉन के बने मोजों से बचें। इसके अलावा इलास्टिक बैंड वाले मोजे से बचें क्‍योंकि इससे ब्‍लड सर्कुलेशन कम हो जाता है।

    प्रतिदिन अपने मोजे बदलें
  • 8

    धूम्रपान से बचें

    धूम्रपान ब्‍लड सर्कुलेशन और रक्त में ऑक्सीजन की कमी सहित कई स्वास्थ्य समस्या का कारण बनता है। इस तरह की समस्याएं घाव खराब और उपचार में बाधा का परिणाम होती हैं। इसलिए विच्छेदन को रोकने के लिए धूम्रपान न करें।

    धूम्रपान से बचें
  • 9

    फिट जूते पहनें

    अपने जूतों को चुनाव ध्‍यान से करें। जूते आरामदेह और फिट होने चाहिए। उसमें आपके पैरों पर अतिरिक्त दबाव नहीं पड़ना चाहिए। अपने पास कम से कम दो जोड़ी जूते अवश्‍य रखें। ताकी आपको रोजाना एक ही जोड़ी जूते न पहनने पड़ें। अपने पैरों के लिए आप विशेष रूप से डिजाइन किये गये आरामदेह आर्थोपेडिक जूते भी ले सकते हैं।

    फिट जूते पहनें
  • 10

    चोटों से बचें

    अपने पैरों को चोट से बचाये। ऐसी चीजों से बचने की कोशिश करें जो आपके पैरों में चोट का कारण बन सकती है। चोटों से बचाव आपको विच्छेदन के जोखिम को कम करने में मदद करता है। पैरों में अल्‍सर की समस्‍या के कुछ दिन के भीतर ठीक न होने पर अपने चिकित्‍सक से संपर्क करें।

    चोटों से बचें
  • 11

    डॉक्टर से संपर्क करें

    नियमित रूप से तंत्रिका क्षति, परिसंचरण की कमी या अन्य पैर की समस्याओं के प्रारंभिक लक्षण दिखने पर अपने पैरों की उचित निरीक्षण के लिए अपने डॉक्‍टर से मिले। आपका डॉक्टर विच्छेदन से बचने में आपकी मदद करेगा।

    डॉक्टर से संपर्क करें
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर