हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

योनि स्राव, अच्छा है या बुरा ?

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Feb 21, 2014
योनि स्राव (Vaginal discharge) एक सामान्य प्रक्रिया है जो कि मासिक चक्र के अनुसार परिवर्तित होती रहती है।
  • 1

    स्वस्थ योनि

    योनि शरीर के बाहर और भीतर के प्रजनन अंगों के बीच एक दालान के रूप में कार्य करती है। योनि का पीएच संतुलन अम्लीय है, जो कि संक्रमण से बचाव करता है। यह अम्लीय वातावरण सामान्य रूप से होने वाले बैक्टीरिया के द्वारा बनाया जाता है। स्वस्थ योनि ठीक वैसे ही खुद को शुद्ध और विनियमित रखने के स्राव का उत्पादन करती है, जैसे लार, मुंह के वातावरण को नियंत्रित और शुद्ध करती है। इस प्रकार का योनि स्राव सामान्य योनि स्राव होता है।

    स्वस्थ योनि
  • 2

    सामान्य योनि स्राव

    ग्रीवा से उत्पन्न श्लेष्मा (म्युकस) के बेहने को योनि स्राव कहा जाता है। योनि स्राव (Vaginal discharge) एक सामान्य प्रक्रिया है जो कि मासिक चक्र के अनुसार परिवर्तित होती रहती है। दरअसल यह स्राव योनि को स्वच्छ रखने की एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। सामान्य योनि स्राव में गर्भाशय से स्वच्छ द्रव्य का रिसाव होता है, जिसकी मात्रा बढ़ती रहती है और वो अंडोत्सर्ग के समय यानि मासिक के मध्य में, पतला और चिपचिपा हो जाता है। यह एक प्रकार का सफेद रंग का चिपचिपा पदार्थ होता है। यौन उत्तेजना और भावनात्मक तनाव के दौरान योनि की दीवारों से बहने वाले इस स्वच्छ द्रव्य की मात्रा बढ़ती जाती है। इसकी गंध सामान्य रहती है।

    सामान्य योनि स्राव
  • 3

    असामान्य योनि स्राव

    लड़कियां जब युवावस्था मे प्रवेश करती हैं तो उनके सामने अनेक प्रकार की समस्याएं आती हैं। उन्हीं समस्याओं में योनि स्राव भी एक है। इस अवस्था में उनके गुप्‍तागों से काफी मात्रा में तरल पदार्थ निकलता है, जिसको लैक्टोबसीलस कहते हैं। ऐसी परिस्थितियों में योनि संक्रमण भी हो सकता है। जब स्राव का रंग, गन्ध या गाढ़ापन असामान्य या अधिक हो तो यह समस्या का संकेत होता है। साछ ही दुर्गंधयुक्त अनियमित योनि स्राव, असामान्य रंग और आवृत्ति के साथ ही इससे गुप्तांग क्षेत्र में खुजली या सूखापन आ जाए तो यह असामान्य योनि स्राव कहलाता है।

    असामान्य योनि स्राव
  • 4

    मासिक धर्म चक्र का प्रभाव

    मासिक धर्म चक्र योनि वातावरण को प्रभावित करता है। आप मध्य चक्र के आसपास नमी में हुई वृद्धि और स्पष्ट डिस्चार्ज देख सकती हैं। योनि का पीएच में, संतुलन चक्र के दौरान उतार चढ़ाव होता रहता है और मासिक धर्म के पहले या इसके दौरान यह कम अम्लीय हो जाता है। इस नसलिए इस दौरान संक्रमण होना आम बात है।

    मासिक धर्म चक्र का प्रभाव
  • 5

    असामान्य योनि स्राव के कारण

    असामान्य योनिक स्राव के कई कारण हो सकते हैं। जैसे, योन सम्बन्धों से होने वाला संक्रमण, शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होना या मधुमेह रोग से ग्रस्थ महिलाओं की योनि में सामान्यतः फंगल यीस्ट नामक संक्रामक रोग हो सकता है।

    असामान्य योनि स्राव के कारण
  • 6

    असामान्य योनि स्राव के लक्षण

    योनी स्राव के रंग में परिवर्तन, अर्थात रंग पीला या हरा होना तथा उसमे से बदबू आने पर यह संक्रमण का संकेत होता है और योनी स्राव सामान्य नही होता। योनि संक्रमण आम समस्या है। अधिकांश महिलाएं अपने जीवनकाल में कभी ना कभी योनि संक्रमण का अनुभव कर सकती हैं। असामान्य योनि स्राव के निम्न लक्षण भी होते हैं -

     

    • खुजली, लाल चकत्ते या कष्ट के साथ निर्वहन
    • लगातार या अधिक बहाव
    • पेशाब के दौरान त्वचा पर जलन
    • सफेद,  भारी और भद्दा स्राव (कुछ पनीर की तरह)
    • बदबूदार, सलेटी / सफेद या पीले / हरा स्राव

    असामान्य योनि स्राव के लक्षण
  • 7

    बैक्टीरियल वेजीनोसिस (Bacterial Vaginosis)

    वैसे तो बैक्टीरियल वेजीनोसिस के सटीक कारण अ भी अज्ञात हैं। एक यीस्ट (yeast) संक्रमण के समान इसमें बैक्टीरिया अधिक बढ़ जाते हैं तथा इन बैक्टीरिया की असामान्य वृद्धि के कारण योनि का नाजुक संतुलन बिगड़ जाता है। बैक्टीरियल वेजीनोसिस की पुनरावृत्ति आम बात है तथा और बैक्टीरियल वेजीनोसिस अन्य योनि संक्रमण के साथ भी हो सकता है। वे महिलाएं जो एक से अधिक लोगों के साथ संभोग या मौखिक संभोग करती हैं, उनमें बैक्टीरियल वेजीनोसिस होने का खतरा बढ़ जाता है।

    बैक्टीरियल वेजीनोसिस (Bacterial Vaginosis)
  • 8

    ट्रिकोमोलायसिस (Trichomoniasis)

    यह संक्रमण एक वन-सैल्ड प्रोटोजोआ जीव के कारण होता है। ट्रिकोमोलायसिस लगभग हमेशा ही यौन संपर्क के माध्यम से फैलता है। हालांकि प्रोटोजोआ जीव नम वातावरण लगभग चौबीस घंटे तक जीवित रह सकते हैं। गीले तौलिया या स्नान के सामान से भी इस संक्रमण के फैलने की संभावना रहती है। 

    ट्रिकोमोलायसिस (Trichomoniasis)
  • 9

    यीस्ट (Yeast) संक्रमण

    आमतौर पर योनि में यीस्ट थोड़ी मात्रा में रहता है। यीस्ट संक्रमण तभी फैलता है जब यीस्ट की मात्रा अधिक हो जाती है। कभी-कभी यह योनि के पीएच संतुलन में बदलाव की वजह से भी हो जाता है। यीस्ट संक्रमण आमतौर पर यौन संचारित नहीं होता है।

    यीस्ट (Yeast) संक्रमण
  • 10

    असामान्य योनि स्राव का उपचार

    असामान्य योनि स्राव से बचने के लिए जननेन्द्रीय क्षेत्र को साफ और शुष्क रखना चाहिए। योनि को बहुत अधिक रगड़कर साफ नहीं करना चाहिए, ऐसा करने से उस पर मौजूद स्वस्थ बैक्टीरिया मर जाते हैं जो संक्रमण से बचाव करते हैं, व छिलने का डर भी रहता है। संभोग के दौरान कंडोम का प्रयोग करना चाहिए और असामान्य योनि स्राव का कोई भी संकेत मिलने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

    असामान्य योनि स्राव का उपचार
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर