हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

आंखों को स्वस्थ रखने के लिए आजमाएं ये 8 गुणकारी जड़ी-बूटियां!

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Dec 20, 2013
अगर आप अपनी आंखों की देखभाल करना चाहते है तो इस स्‍लाइड शो में बताई गई जड़ी बूटियों का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।
  • 1

    आंखों के लिए जड़ी बूटियां

    आंखे हमारे लिए क्‍या मायने रखती है, यह बात बताने की शायद जरूरत नहीं। शरीर में सबसे महत्‍वपूर्ण अंगों के बीच आंखें सबसे संवेदनशील अंग हैं। इसलिए इसकी देखभाल करना बहुत जरूरी हैं। अगर आप अपनी आंखों की देखभाल करना चाहते है तो इस स्‍लाइड शो में बताई गई जड़ी बूटियों का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। लेकिन, आपकी सुरक्षा के लिए हम आपको बता दें कि इनमें से किसी को भी इस्‍तेमाल करने से पहले चिकित्‍सक से परामर्श अवश्‍य ले लें।

    आंखों के लिए जड़ी बूटियां
  • 2

    आईब्राइट (यूफ्रेसिया)

    आईब्राइट को अपना नाम यूफ्रेसिया नाम के फूल से मिला है, जो आंखों के लिए उपयोगी और महत्‍वपूर्ण दवा है। यह नजर को बचाये रखने में मदद करती है। शोध साबित कर चुके हैं कि आईब्राइट कंजक्टिवाइटिस में होने वाली लाल आंखों, आंखों में खुजली में काफी मदद करती है।

    आईब्राइट (यूफ्रेसिया)
  • 3

    मिल्‍क थीस्‍ल

    इसलिए भटकटैया (एक कांटेदार पौधा) का दूध और इससे बनने वाला सिलीमेरिन जो लिवर के लिए फायदेमंद होता है, वह आंखों को भी लाभ पहुंचाता है। यह फ्री रेडिकेल्‍स से लड़ता है और आंखों में शर्करा की मात्रा को कम करता है। जिससे आंखें सुरक्षित रहती हैं।

    मिल्‍क थीस्‍ल
  • 4

    मेडिनहेयर (पर्णांग का पेड़)

    इसे जिन्‍को बिलोबा भी कहा जाता है। सदियों से इसका इस्‍तेमाल आंखों और तंत्रिका प्रणाली की समस्‍याओं को दूर करने के लिए किया जाता रहा है। यह मस्तिष्‍क और उन रक्‍तवाहिनियों में रक्‍त प्रवाह बढ़ाने में उपयोगी माना जाता है, जो आंख के पीछे फैलती हैं। यह मैक्‍यूला और ग्‍लूकोमा जैसे नेत्र रोगों को दूर करने में मदद करता है।

    मेडिनहेयर (पर्णांग का पेड़)
  • 5

    सौंफ

    अगर आपकी आंखों में जलन है और उनसे पानी आ रहा है, तो आप सौंफ का सहारा ले सकते हैं। यह आपकी आंखों को मजबूती भी प्रदान करती है। आंखों की छोटी-मोटी समस्‍याओं को दूर करने के अलावा सौंफ मोतियाबिंद और ग्‍लूकोमा में भी राहत दिला सकती है। इसके लिए आप सामान्‍य अथवा इस्‍तेमाल की गयी सौंफ, भले ही वह चाय पकाने में प्रयोग में लायी गई हो, से आंखें धोने से नेत्र रोगों को दूर किया जा सकता है।

    सौंफ
  • 6

    केसर

    सौंफ की भांति केसर को भी आंखों की रोशनी बढ़ाने में उपयोगी माना जाता है। मोतिया को दूर करने में भी केसर की उपयोगिता काफी समय से स्‍वीकार की जाती रही है। एक चिकित्‍सीय परीक्षण के दौरान केसर इस्‍तेमाल करने वाले प्रतिभागियों ने नजर सुधरने की बात स्‍वीकारी थी। इससे शोधकर्ताओं को उम्रदराज लोगों को होने वाली आंखों की समस्‍याओं को दूर करने की उम्‍मीद जगी।

    केसर
  • 7

    बिलबेरी

    वैज्ञानिक इस बात को प्रमाणित कर चुके हैं कि बिलबेरी आंखों के लिए काफी उपयोगी बूटी है। अपनी खूबियों के कारण आज भी कई नेत्र विशेषज्ञ इसका प्रयोग चिकित्‍सा के लिए करते हैं। इसमें सूजन और जलन को कम करने की क्षमता होती है। साथ ही इसमें एंटी ऑक्‍सीडेंट्स होते हैं।

    बिलबेरी
  • 8

    ग्रीन टी

    आंखों के आसपास काले घेरे आपको काफी परेशान कर सकते हैं। इन हालात में, ग्रीन टी वाकई जादुई मदद कर सकती है। ग्रीन टी में टैनिन और एंटीऑक्‍सीडेंट्स होते हैं, जो आंखों के आसपास सूजन और तरल पदार्थों को दूर करने में मदद करते हैं। ग्रीन टी में मौजूद कैफीन उन रक्‍त कोशिकाओं को सिकोड़ने का काम करता है, जो आंखों के आसपास सूजन पैदा करती हैं।

    ग्रीन टी
  • 9

    हल्‍दी

    हल्‍दी आपकी आंखों को हेल्‍दी रखती है। हल्‍दी आंखों के लैंस पर ऑक्‍सीकरण को कम कर उनकी सेहत बढ़ाती है। शोध के अनुसार ऑक्‍सीकरण आंखों की समस्‍याओं की बड़ी वजह होता है।

    हल्‍दी
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर