हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

विटामिन ई की कमी के आठ प्रमुख लक्षण

By:Nachiketa Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Nov 01, 2014
विटामिन ई हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है, इसकी कमी हो जाने से शरीर के अंग सही तरीके से काम नहीं करेंगे, मांसपेशियों में कमजोरी आने लगेगी और प्रजनन क्षमता कम हो जायेगी।
  • 1

    विटामिन ई

    हमारे शरीर के लिए सभी विटामिन्स का अपना-अपना महत्व है, लेकिन विटामिन ई की भूमिका उनमें से कुछ खास है। चाहे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत बनाए रखने की बात हो या एलर्जी से बचाए रखने और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखने की बात हो, इन सबमें यह बहुत जरूरी होता है। विटामिन ई वसा में घुलनशील विटामिन है। यह एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में भी कार्य करता है। इसकी कमी से कई प्रकार के लक्षण भी दिखाई पड़ते हैं।

    image source - getty images

    विटामिन ई
  • 2

    किसे कितना चाहिए

    विटामिन ई की जरूरत सभी के लिए अलग-अलग होती है। गर्भावस्था, स्तनपान और बीमारियों के आधार पर भी इसकी मात्रा कम और अधिक की जाती है। वैसे सामान्‍यतया नवजात शिशु से छह माह 4 मिग्रा/दिन, शिशु 7-12 माह 5 मिग्रा/दिन, बच्चे 1-3 साल 6 मिग्रा/दिन, बच्चे 4-8 साल 7 मिग्रा/दिन, बच्चे 9-13 साल 11 मिग्रा/दिन, 14 साल और उससे बडे 15 मिग्रा/दिन, स्तनपान कराने वाली महिलाएं 17 मिग्रा/दिन की जरूरत होती है।

    image source - getty images

    किसे कितना चाहिए
  • 3

    शरीर के अंग काम न करना

    अगरा आपके शरीर में विटामिन ई की कमी है तो इसके कारण शरीर के अंग सही तरीके से काम नहीं करते हैं। विटामिन ई खून में भी पाया जाता है और इसकी कमी से शरीर को ऑक्‍सीजन पर्याप्‍त मात्रा में नहीं मिल पाता और अंग पूरी तरह सक्रिय नहीं रहते हैं। इसके कारण शरीर के अंगों का संतुलन भी बिगड़ सकता है।

    image source - getty images

    शरीर के अंग काम न करना
  • 4

    एनीमिया

    अगर शरीर में विटामिन ई की कमी हो जाये तो इसके कारण एनीमिया हो सकता है। विटामिन ई लाल रक्‍त कोशिकाओं के निर्माण में सहायक होता है जो रक्‍त में ऑक्‍सीजन को पर्याप्‍त रखने में भी मदद करता है। यह शरीर के विभिन्‍न अंगों में भी ऑक्‍सीजन पहुंचाने में मदद करता है।

    image source - getty images

    एनीमिया
  • 5

    मांसपेशियों में कमजोरी

    विटामिन ई की कमी के कारण मांसपेशियां भी कमजोर होने लगती हैं। इस समस्‍या को मायोपैथी भी बोला जाता है, जिसमें मांसपेशियां अचानक से कमजोर होने लगती हैं।

    image source - getty images

    मांसपेशियों में कमजोरी
  • 6

    नजर कमजोर होना

    विटामिन ई आंखों पर भी असर डालता है। इसकी कमी के कारण आंखों की देखने की क्षमता कमजोर होने लगती है। विटामिन ई की कमी के कारण रेटीना की परते पतली हो जाती हैं, जिससे देखने की क्षमता कमजोर होने लगती है।

    image source - getty images

    नजर कमजोर होना
  • 7

    कमजोरी की समस्‍या

    चूंकि विटामिन ई एंटीऑक्‍सीडेंट भी है और यह हमारी प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता है। लेकिन इसकी कमी की वजह से इसका असर प्रतिरोधक क्षमता पर पड़ता है। इसके कारण शरीर कमजोर होने लगता है। कभी-कभी कमजोरी इतनी अधिक हो जाती है कि चलने में भी लड़खड़ाहट होती है।

    image source - getty images

    कमजोरी की समस्‍या
  • 8

    प्रजनन क्षमता पर असर

    विटामिन ई की कमी के कारण प्रजनन क्षमता पर असर पड़ता है। पुरुषों की नपुंसकता का एक कारण शरीर में विटामिन ई की कमी हो जाना भी होता है। अगर महिलाओं में विटामिन ई की कमी हो जाये तो वे यौन संबंध बनाने से भी कतराती हैं, यानी यौन के प्रति उनका मोह भंग हो जाता है।

    image source - getty images

    प्रजनन क्षमता पर असर
  • 9

    विटामिन ई के स्रोत

    विटामिन ई की कमी को पूरा करने का सबसे बेहतर तरीका है, ऐसे आहार का सेवन करें जिसमे विटामिन ई भरपूर मात्रा में मौजूद हो। विटामिन ई अंडे, सूखे मेवे, बादाम और अखरोट, सूरजमुखी के बीज, हरी और पत्तेदार सब्जियां, शकरकंद, सरसों, शलजम, एवोकेडो, ब्रोकली, आम, पपीता, कद्दू, पॉपकार्न आदि में पाया जाता है। इनका सेवन कीजिए।

    image source - getty images

    विटामिन ई के स्रोत
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर