हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

टाइट फुटवेयर से सेहत को होते हैं ये 7 नुकसान

By:Shabnam Khan , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Mar 03, 2015
फुटवियर्स का चुनाव करते समय अपने पैरों की संरचना को ध्यान में रखना बेहद जरूरी होता है। सही माप के आरामदायक फुटवियर पहनने से न सिर्फ आपके शरीर का संतुलन ठीक रहेगा, बल्कि आपको थकान भी महसूस नहीं होगी।
  • 1

    टाइट फुटवेयर पहुंचाता है नुकसान

    फुटवियर्स का चुनाव करते समय अपने पैरों की संरचना को ध्यान में रखना बेहद जरूरी होता है। सही माप के आरामदायक फुटवियर पहनने से न सिर्फ आपके शरीर का संतुलन ठीक रहेगा, बल्कि आपको थकान भी महसूस नहीं होगी। गलत फुटवियर पहनने से सबसे पहले चलने के तरीके में बदलाव आ जाता है। इससे कई प्रकार की बीमारियों की आशंका भी बढ़ जाती है, जैसे पैरों की बनावट में बदलाव, चाल खराब होना, फंगल इन्फेक्शन, कमर दर्द, घुटने में दर्द, पिंडलियों में दर्द आदि। आइये जानते हैं टाइट व गलत माप का जूता पहनने से क्या क्या परेशानियां हो सकती हैं।

    Image Source - Getty Source

    टाइट फुटवेयर पहुंचाता है नुकसान
  • 2

    बनियन

    बनियन (Bunion) यानी अंगूठे के जोड़ की हड्डी बढ़ना। यह समस्या उन लोगों में अधिक होती है, जो कसे पंजे वाले जूते पहनते हैं। इससे अंगूठा पैरों की उंगली की ओर बढ़ने लगता है, जो सूजन और दर्द का कारण बन जाता है।

    Image Source - Getty Source

    बनियन
  • 3

    हैमर टो

    इसका मुख्य कारण भी गलत तरह के जूते पहनना है। नुकीले पंजों वाले जूते पहनने पर पंजे कसे रहते हैं और सीधे नहीं रह पाते तथा धीरे-धीरे नीचे की ओर मुड़ने लगते हैं। इससे पंजों के ऊपरी हिस्सों में घाव बन जाता है। रोगी को चौड़े व बड़े आकार के जूते पहनने को कहा जाता है।

    Image Source - Getty Source

    हैमर टो
  • 4

    फुट कॉर्न

    फुट कॉर्न यानी पैरों में कील निकलना। अक्सर तलवों की त्वचा के घर्षण के कारण होता है। तलवे की बाहरी सतह पर जहां गलत जूते पहनने से दबाव पड़ता है, वहां की सख्त त्वचा इकट्ठी हो जाती है। इसमें दर्द भी हो सकता है। फूट कॉर्न का सबसे अधिक खतरा डायबिटीज, अर्थराइटिस और अधिक वजन वाले व्यक्तियों को होता है।  

    Image Source - Getty Source

    फुट कॉर्न
  • 5

    हैलक्स रिजिड्स

    इस रोग में अंगूठे की हड्डियों के जोड़ जाम हो जाते हैं, पैरों में दर्द बढ़ जाता है और सूजन आ जाती है। इसमें जूते के तलवों को थोड़ा अधिक मजबूत करते हैं। कभी-कभी सोल के अंदर स्टील की एक प्लेट भी लगाई जाती है।

    Image Source - Getty Source

    हैलक्स रिजिड्स
  • 6

    मोर्टन न्यूरोमा

    मोर्टन न्यूरोमा एक दर्दनाक स्थिति है, जिसमें रोगी के पैर की तीसरी और चौथी उंगली के बीच सूजन, सनसनी, असहनीय दर्द, सुन्नता होती है, जो पैरों को स्थायी रूप से नुकसान पहुंचा सकती है। मोर्टन न्यूरोमा ज्यादातर ऊंची एड़ी और कसे जूते पहनने वालों को होती है। यह समस्या गंभीर होने पर सर्जरी भी करनी पड़ सकती है। ऐसे में मरीज को चौड़े पंजे वाले जूतों के साथ सिलिकन से बने टो-सेपरेटर लगाने की सलाह दी जाती है, जिससे अंगूठे की हड्डी सीधी हो जाये।

    Image Source - Getty Source

    मोर्टन न्यूरोमा
  • 7

    डायबिटिक लोगों को डर

    डायबिटीज के रोगियों को खासतौर पर पैरों का ध्यान रखना चाहिए। गलत जूते पहनना पैर में घाव का कारण बन जाता है। इन दिनों शुगर के मरीजों के लिए खास तरह के जूते बाजार में हैं।   

    Image Source - Getty Source

    डायबिटिक लोगों को डर
  • 8

    इन बातों का रखें ध्यान

    आराम के समय पैरों के पंजे कुछ सिकुड़े रहते हैं और शरीर का वजन पड़ने पर ये लंबाई व चौड़ाई दोनों में फैलते हैं। जूते या चप्पल खरीदते समय उन्हें पहन कर दूर तक चल कर देखें। जूते शाम के समय लें, क्योंकि इस समय हमारे पैर सामान्य की तुलना में 8 प्रतिशत तक अधिक फैले होते हैं। फुटवियर्स न अधिक कसे हों, न अधिक ढीले। पैर की सबसे बड़ी उंगली और जूते की नोक में आधे इंच की स्पेस होनी चाहिए। जूते की नोक गोल या चौकोर लें, इससे उंगलियों को फैलने की पूरी जगह मिलती है। फुटवियर्स पैरों के आकार के नंबर के अनुसार लेने की बजाय पैरों की फिटिंग के आधार पर लें।

    Image Source - Getty Source

    इन बातों का रखें ध्यान
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर