हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

किचन में मौजूद दस प्राकृतिक दर्द निवारक

By:Anubha Tripathi, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jan 31, 2014
आजकल की बदलती लाइफस्टाइल में सिरदर्द या शरीर में विभिन्न अंगों में दर्द होना आम बात है। हर दर्द के लिए दवाओं पर निर्भर होना इसका कोई हल नहीं है। इसलिए जरा अपने घर के किचन की तरफ नजर दौड़ाइए वहां आपको कई ऐसी चीजें दिखाई देंगी जो आपके इस दर्द को चुटकियों में गायब कर देंगी।
  • 1

    दर्द निवारक उपाय

    आपके किचन में रोजमर्रा के प्रयोग के लिए कई ऐसी चीजें होती हैं जिनकी तरफ आपका ध्यान नहीं जाता है। इन्हीं चीजों की मदद से आप अपने दर्द से छुटकारा पा सकते हैं। इसके अलावा यह उपाय पूरी तरह सुरक्षित भी होते हैं।

    दर्द निवारक उपाय
  • 2

    अदरक

    अदरक एक दर्द निवारक दवा के रूप में भी काम करती है। यदि सिरदर्द हो रहा हो तो सूखी अदरक को पानी के साथ पीसकर उसका पेस्ट बना लें और इसे अपने माथे पर लगाएं। इसे लगाने पर हल्की जलन जरूर होगी लेकीन यह सिरदर्द दूर करने में मदद मिलेगी।

    अदरक
  • 3

    सोडा

    पेट में दर्द होने पर कप पानी में एक चुटकी खाने वाला सोडा डालकर पीने से पेट दर्द में राहत मिलती है। एसिडिटी होने पर एक चुटकी सोडा, आधा चम्मच भुना और पिसा हुआ जीरा, 8 बूंदे नींबू का रस और स्वादानुसार नमक पानी में मिलाकर पीने से एसिडिटी में राहत मिलती है।

    सोडा
  • 4

    अजवायन

    अजवायन का प्रयोग पेट दर्द को दूर करने में किया जाता है। पेट दर्द होने पर आधा चम्मच अजवायन को पानी के साथ फांखने से पेट दर्द में राहत मिलती है। नियमित रुप से इस नुस्खों को अपनाने से आप पेट साफ रहेगा।

    अजवायन
  • 5

    बर्फ

    सिरदर्द में बर्फ की सिंकाई करना बहुत फायदेमंद होता है। इसके अलावा स्पॉन्डिलाइटिस में भी बर्फ की सिंकाई लाभदायक होती है। गर्दन में दर्द होने पर भी बर्फ की सिंकाई लाभदायक होती है।

    बर्फ
  • 6

    हल्दी

    हल्दी में एंटीसेप्टिक, एंटीबायोटिक और दर्द निवारक तत्व पाए गए हैं। ये तत्व चोट के दर्द और सूजन को कम करने में सहायक होते हैं। घाव पर हल्दी का लेप लगाने से वह ठीक हो जाता है। चोट लगने पर दूध में हल्दी डालकर पीने से दर्द में राहत मिलती है।

    हल्दी
  • 7

    तुलसी के पत्ते

    तुलसी में बहुत सारे औषधीय तत्व पाए जाते हैं। तुलसी की पत्तियों को पीसकर चंदन पाउडर में मिलाकर पेस्ट बना लें। दर्द होने पर प्रभावित जगह पर उस लेप को लगाने से दर्द में राहत मिलेगी। एक चम्मच तुलसी के पत्तों का रस शहद में मिलाकर हल्का गुनगुना करके खाने से गले की खराश और दर्द दूर हो जाता है।

    तुलसी के पत्ते
  • 8

    मेथी

    एक चम्मच मेथी दाना में चुटकी भर पिसी हुई हींग मिलाकर पानी के साथ फांखने से पेट दर्द में आराम मिलता है। मेथी डायबिटीज में भी लाभदायक होती है। मेथी के लड्डू खाने से जोडों के दर्द में लाभ मिलता है।

    मेथी
  • 9

    हींग

    हींग दर्द निवारक और पित्तवर्द्धक होती है। छाती और पेट दर्द में हींग का सेवन लाभकारी होता है। छोटे बच्चों के पेट में दर्द होने पर हींग को पानी में घोलकर पकाने और उसे बच्चो की नाभि के चारो ओर उसका लेप करने से दर्द में राहत मिलती है।

    हींग
  • 10

    सेब

    सुबह खाली पेट प्रतिदिन एक सेब खाने से सिरदर्द की समस्या से छुटकारा मिलता है। चिकित्सकों का मानना है कि सेब का नियमित सेवन करने से रोग नहीं घेरते।

    सेब
  • 11

    करेला

    करेले का रस पीने से पित्त में लाभ होता है। जोडों के दर्द में करेले का रस लगाने से काफी राहत मिलती है

    करेला
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर