हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

गोनोरिया के बारे में कुछ जानने योग्य बातें

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Dec 07, 2013
गोनोरिया, निसेरिया गोनोरीए नामक बैक्टीरिया से होता है। यह वायरस बहुत तेजी से फैलता है। असुरक्षित यौन, गुदा या मुख मैथुन गोनोरिया के मुख्‍य कारण हो सकते हैं। इसके दुष्‍प्रभावों को रोकने के लिए सही समय पर इलाज किया जाना जरूरी है।
  • 1

    क्‍या होता है गोनोरिया

    गोनोरिया, निसेरिया गोनोरीए नामक बैक्टीरिया से होता है। यह वायरस बहुत तेजी से फैलता है। यह आपके गले, मूत्र नली, योनि और गुदा को संक्रमित कर सकता है। हालांकि इसका इलाज संभव है, लेकिन इसके दुष्‍प्रभावों को रोकने के लिए सही समय पर इलाज किया जाना जरूरी है।

    क्‍या होता है गोनोरिया
  • 2

    कैसे होता है गोनोरिया

    असुरक्षित यौन, गुदा या मुख मैथुन गोनोरिया के मुख्‍य कारण हो सकते हैं। इसके लिए किसी दूसरे व्यक्ति का वीर्यपात का होना जरूरी नहीं है। यह संक्रमण गर्भवती महिलाओं से उनके होने वाले बच्‍चों में भी हो सकता है। किसी नए साथी के साथ सेक्स करने या एक से अधिक लोगों के साथ सेक्स करने से गोनोरिया का खतरा बढ़ जाता है।

    कैसे होता है गोनोरिया
  • 3

    कैसे बचें गोनोरिया से

    संभोग करते समय हमेशा कंडोम का प्रयोग करें। साथ ही जरूरी है कि आप अपने साथी के साथ गोनोरिया की जांच कराएं। ताकि एक दूसरे से संक्रमण फैलने की आशंका से निपटा जा सके। किसी नए साथी से यौन संबंध बनाने से पहले भी इस प्रकार की जांच जरूरी है। पेशाब करते समय असामान्य स्राव होना, घाव या दर्द होना यौनसंचारित रोग के लक्षण हो सकते हैं, ऐसे में फौरन चिकित्‍सीय जांच करवायें।

    कैसे बचें गोनोरिया से
  • 4

    गोनोरिया को कैसे पहचानें

    अधिकांश मामलों में गोनोरिया के लक्षण नजर नहीं आते। संक्रमण के लक्षण नजर नहीं आने पर भी संक्रमण फैलने का खतरा बना रहता है। गोनोरिया के लक्षण दो से दस दिनों में दिख जाते हैं। इसके लक्षण आपके सेक्‍स करने के तरीके पर निर्भर करता है।

    गोनोरिया को कैसे पहचानें
  • 5

    महिलाओं में गोनोरिया के लक्षण

    योनि से अधिक स्राव, योनि से पीला या हरा स्राव, योनि से तेज बदबू, पेशाब करते समय दर्द, संभोग करते समय दर्द, सेक्स करने के बाद खून आना, गुदा में खुजली, गुदा से खूनी या मवाद जैसा स्राव, मलत्याग में परेशानी और पेट में दर्द आदि गोनोरिया के संभावित लक्षण हो सकते हैं। हालांकि कई बार लक्षण नजर नहीं भी आते। इसलिए यदि आपको कोई शंका हो, तो विशेषज्ञ डॉक्टर से जांच करवायें।

    महिलाओं में गोनोरिया के लक्षण
  • 6

    महिलाओं जांच न करवाने के खतरे

    गोनोरिया का इलाज नहीं करवाने पर प्रजनन क्षमता समाप्‍त हो सकती है। गोनोरिया डिंबवाही नलिकाओं तक फैल सकता है। इससे पेट के आस-पास सूजन हो सकती है। जिससे आपको पेट में दर्द महसूस होगा। बढ़ने पर गोनोरिया डिंबवाही नलिकाओं में घाव कर देता है और डिंब के गर्भाशय में जाने वाले रास्ते को बंद कर सकता है। कुछ समय बाद यह संक्रमण प्रजनन में असमर्थ बना देता है। गर्भवती यदि गोनोरिया से संक्रमित हैं, तो उसे अस्थानिक गर्भधारण का खतरा भी बना रहता है। इसमें बच्चा गर्भाशय के बाहर विकसित होता है।

    महिलाओं जांच न करवाने के खतरे
  • 7

    पुरुषों में गोनोरिया के लक्षण

    पुरुषों में पेशाब करते समय दर्द और बार-बार पेशाब आना गोनोरिया के प्रमुख लक्षण हैं। इसके अलावा लिंग से सफेद या मटमैले या हरे रंग का स्राव, एक या दोनों अंडकोषों में दर्द या सूजन, गुदा से खूनी या चिपचिपे स्राव होना भी इसके लक्षण हैं। कभी-कभार इसके कोई भी लक्षण नजर नहीं आते। किसी भी प्रकार की शंका होने पर विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें।

    पुरुषों में गोनोरिया के लक्षण
  • 8

    पुरुषों में जांच न करवाने के लक्षण

    गोनोरिया का इलाज नहीं करवाना आपको प्रजनन में असमर्थ बना सकता है। गोनोरिया मूत्र नली से होते हुए अंडकोषों तक पहुंच सकता है। इससे अंडकोषों में दर्द और सूजन हो सकती है। कुछ समय बाद, यह संक्रमण प्रजनन में (संतान उत्पन्न करने में) असमर्थ बना देता है।

    पुरुषों में जांच न करवाने के लक्षण
  • 9

    कैसे कराएं गोनोरिया की जांच

    महिलाओं में गोनोरिया की जांच करने के लिए योनि में रूई का फाहा या स्वैब डालकर योनि के अंत में गर्भग्रीवा से एक सैम्पल लिया जाता है, जिसे गोनोरिया की जांच के लिए भेज दिया जाता है। पुरुषों में गोनोरिया की जांच दो तरीके से की जा सकती है- रूई के फाहे या स्वैब पर सैम्पल लेकर जांच कराना या पेशाब की जांच करवाकर।

    कैसे कराएं गोनोरिया की जांच
  • 10

    गोनोरिया से कैसे पाएं छुटकारा

    एंटीबायोटिक दवाओं से गोनोरिया का इलाज किया जा सकता है। ये दवाएं गोलियों और इंजेक्‍शन दोनों रूप में मौजूद हैं। भले ही आपको कम लक्षण दिखायी दें, लेकिन डॉक्‍टर की बतायी खुराक ही लें। अपनी मर्जी से दवा लेना गोनोरिया के संक्रमण को फैला सकता है। दवाएं संक्रमण का उपचार कर देंगी। हालांकि, यह बीमारी अगर लंबे समय से चली आ रही हो, तो प्रजनन क्षमता को हुए नुकसान को दूर नहीं किया जा सकता।

     

    गोनोरिया से कैसे पाएं छुटकारा
    Tags:
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर