हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

यौन संचारित रोगों के साथ कैसे जियें

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jan 24, 2014
यदि आपको ऐसा रोग हुआ है जिसका इलाज हो सकता है, तो संभव है कि आप कुछ समय बाद सामान्‍य जीवन जी सकें, लेकिन लाइलाज बीमारी होने पर आपको अपने जीवन को नये तरीके से परिभाषित करना पड़ता है।
  • 1

    यौन संचारित रोग कैसे हो सकते हैं

    असुरक्षित यौन संबंध, संक्रमित सुई के इस्‍तेमाल अथवा संक्रमित रक्‍त चढ़ाने से यौन संच‍ारित रोग हो सकते हैं। इनसे बचने का यही तरीका है कि आप यौन संबंध बनाते समय सभी जरूरी सावधानियां बरतें।

    यौन संचारित रोग कैसे हो सकते हैं
  • 2

    कैसे जियें

    यौन संचारित रोग होने के बाद आपका जीवन काफी बदल जाता है। आपका आने वाला जीवन कैसा होगा यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपको किस प्रकार का यौन संच‍ारित रोग हुआ है। यदि आपको ऐसा रोग हुआ है जिसका इलाज हो सकता है, तो संभव है कि आप कुछ समय बाद सामान्‍य जीवन जी सकें, लेकिन लाइलाज बीमारी होने पर आपको अपने जीवन को नये तरीके से परिभाषित करना पड़ता है।

    कैसे जियें
  • 3

    इलाज करवायें

    अगर आप इस बात को लेकर संशय में हैं कि आपको यौन संचारित रोग है अथवा नहीं, तो सबसे पहले डॉक्‍टर के पास जाकर इसकी पुष्टि करें। अपनी स्थिति के बारे में पूरी जानकारी हासिल करें। पता करें कि यह रोग आपको कैसे हुआ, अगर इसका इलाज संभव हो, तो इसका इलाज करवायें।

    इलाज करवायें
  • 4

    जानकारी हासिल करें

    आप डॉक्‍टरी मदद के साथ ही ऑनलाइन फॉरम में जाकर भी जानकारी हासिल कर सकते हैं। यहां यौन संचारित रोग होने पर जीवन व्‍यतीत करने वाले लोग अपने निजी अनुभव साझा करते हैं, जो आपकी काफी मदद कर सकते हैं। यहां आपको अन्‍य शोध व वैकल्पिक चिकित्‍साओं के बारे में भी जानकारी मिल सकती है।

    जानकारी हासिल करें
  • 5

    आप अकेले नहीं

    दुनिया में करोड़ों लोग यौन संचारित रोगों से पीडि़त हैं। अपने आपको दुख में मत डुबोइये। जिंदगी खत्‍म नहीं हुई, बल्कि लगातार चलती रहती है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि अमेरिका जैसे संपन्‍न देश में भी 20 फीसदी पुरुषों और 25 फीसदी महिलाओं को जेनिटल हरपस है, जो एक लाइलाज यौन रोग है। यौन रोग होना अवसादग्रस्‍त कर सकता है, लेकिन इससे आपको घबराने या दिल छोटा करने की जरूरत नहीं।

    आप अकेले नहीं
  • 6

    दवायें बदलकर देखें

    कई यौन रोगों का इलाज संभव है और जिनका इलाज संभव नहीं उन्‍हें नियंत्रित किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, कई दमनकारी उपचार जेनिटल हरपस में मदद करते हैं। एड्स के कई मरीजों को भी वैकल्पिक चिकित्‍सा से जीवन पहले से आसान बनने की बात सामने आयी है।

    दवायें बदलकर देखें
  • 7

    नजरिया बदलें

    यौन रोग होने से पहले आप सेक्‍स को लेकर काफी एक्टिव थे, लेकिन अब सेक्‍स संबंधों को लेकर आपको अपना नजरिया बदलने की जरूरत है। अपनी स्थिति के बारे में सही जानकारी हासिल करें और उसी के अनुसार अपनी दिनचर्या में बदलाव लेकर आएं।

    नजरिया बदलें
  • 8

    नये संबंध बनाने से पहले सावधानी

    यदि आपको यौन संचारित रोग है, तो इस बात का खयाल रखें कि किसी नये व्‍यक्ति के साथ संसर्ग न करें। और साथ ही अपने साथी को अपनी स्थिति के बारे में सही जानकारी दें। इससे आपका रिश्‍ता मजबूत ही होगा। कई बार रिश्‍ता मजबूत होने पर लोग शारीरिक संबंध बना लेते हैं, ऐसे में आप अपने साथी को भी संक्रमित कर सकते हैं।

    नये संबंध बनाने से पहले सावधानी
  • 9

    हर स्थिति के लिए रहें तैयार

    संभव है कि जब आपके साथी को इस बारे में पता चले, तो वह आपसे रिश्‍ता तोड़ दे, ऐसे में स्‍वयं को सभी परिस्थितियों के लिए मानसिक रूप से तैयार रखें। वह इस सबके बावजूद आपके साथ रह भी सकता है और आपसे दूर भी जा सकता है।

    हर स्थिति के लिए रहें तैयार
  • 10

    सकारात्‍मक सोच रखें

    समाज में यौन संचारित रोगों से पीडि़त लोगों के प्रति आज भी नकारात्‍मक रवैया रखा जाता है। ऐसे में आपको अवहेलना का सामना भी करना पड़ सकता है। इन परिस्थितियों में खुद को मानसिक रूप से मजबूत बनायें। ऐसे लोगों की बातों को तवज्‍जो न दें, जो आपको नीचा दिखाने की कोशिश करते हों। पिछले से सबक लेकर आगे का जीवन सुधारें।

    सकारात्‍मक सोच रखें
  • 11

    जीवन का लक्ष्‍य तय करें

    ऐसा नहीं है कि लाइलाज बीमारी होने पर आपका जीवन समाप्‍त हो गया। आप स्‍वयं और समाज के लिए काफी कुछ कर सकते हैं। आप लोगों में यौन संचारित रोगों के प्रति जागरुकता फैलाने का काम कर सकते हैं। इसके साथ ही आप अन्‍य लोगों की मदद कर खुद के जीवन को नया रूप दे सकते हैं।

    जीवन का लक्ष्‍य तय करें
Load More
X