हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

स्वास्थ्य के लिए ख़राब हो सकते हैं ये नए साल के संकल्प

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Dec 31, 2014
अक्सर हमारे दिमाग में फिटनेस को लेकर कई भ्रम होते हैं, या कहिये जानकारी की कमी होती है। जिसकी वजह से हम कुछ जरूरी फैक्ट्स को नजरअंदाज कर देते हैं और फायदे की जगह नुकसान के भोगी बनते हैं।
  • 1

    नए साल के जोख़िम भरे संकल्प

    बस नया साल आने को है और नये साल में लोग कुछ न कुछ संकल्प लेते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि फिटनेस के मद्देनज़र लिये गये साये साल के कुछ संकल्प आपके लिये हानिकारक सिद्ध हो सकते हैं। जी हैं अक्सर हमारे दिमाग में फिटनेस को लेकर कई भ्रम होते हैं, या कहिये जानकारी की कमी होती है। जिसकी वजह से हम कुछ जरूरी फैक्ट्स को नजरअंदाज कर देते हैं और फायदे की जगह नुकसान के भोगी बनते हैं। तो चलिये जानें कुछ ऐसे ही नए साल के संकल्पों के बारे में जो स्वास्थ्य के लिए ख़राब हो सकते हैं।
    Images courtesy: © Getty Images

    नए साल के जोख़िम भरे संकल्प
  • 2

    एक ही बॉडी पार्ट की या सातों दिन लगातार एक्सरसाइज

    शरीर को मजबूत बनाने के लिए एक ही बॉडी पार्ट की रोजाना एक्सरसाइज करना, जैसे कि जल्द एब्स पाने के लिये केवल एब्स एक्सरसाइज ही करते रहना, या सातों दिन लगातार बिना ब्रेक एक्सरसाइज करना हानिकारक हो सकता है। इससे शरीर को नुकसान पहुंचाता है। मसल्स की एक्सर्साइज करने के बाद एक या दो दिन तक आराम लेना चाहिए। क्योंकि लगातार ज्यादा एक्सर्साइज करने से गंभीर नुकसान हो सकता है।
    Images courtesy: © Getty Images

    एक ही बॉडी पार्ट की या सातों दिन लगातार एक्सरसाइज
  • 3

    रोजाना पेट की कसरत करना

    रोजाना पेट की कसरत करने से पेट अंदर हो जाने की उम्मीद करना गलत है। पेट या किसी भी दूसरी मसल्स को कसरत के बाद पूरा आराम चाहिए होता है। इसलिए जरूरी है कि एक-दो दिन के अंतराल पर ही पेट की एक्सर्साइज की जाए और साथ में खान-पान का भी पूरा खयाल रखा जाए। पेट की एक्सरसाइज लगातार करते रहने से पेट की नसें खिंच सकती हैं और नुकसान हो सकता है।
    Images courtesy: © Getty Images

    रोजाना पेट की कसरत करना
  • 4

    जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज

    एक्सपर्ट्स के अनुसार स्क्रीन पर स्टार्स की बॉडी देखकर खुद भी वैसा बनने की होड़ आगे चलकर नुकसानदायक हो सकता है। क्योंकि हर व्यक्ति का मेटाबॉलिजम रेट अलग होता है। जर्नल ऑफ कार्डियोलजी द्वारा कराई गई एक शोध के नतीजों के अनुसार जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज दिल की बीमारियों का कारण बन सकती है। इस स्टडी के तहत कार्डियॉलजिस्ट डॉ एंथनी एजर ने 1700 पुरुषों पर शोध किया। शोध के दौरान उन्होंने पाया कि पांच से सात दिन तक खूब एक्सरसाइज करने वाले पुरुषों में एट्रियल फाइब्रिलेशन की समस्या हो सकती है।
    Images courtesy: © Getty Images

    जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज
  • 5

    ओवर वर्कआउट या डायटिंग

    विशेषज्ञ बताते हैं कि जरूरत से अधिक वर्कआउट करने से शरीर प्रतिक्रिया देना बंद कर देता है इसके अलावा जिस फायदे की आप उम्मीद कर रहे होते हैं वो भी नहीं मिलता। तो यदि आपके साथ भी कुछ ऐसा ही हो रहा हो तो हो सकता है आप भी बिना सोचे-समझे एक्सरसाइज कर रहे हैं। आपको यह ऐसे में आपको ये जानना चाहिए कि ओवर एक्सरसाइज के कारण अकसर शरीर के विभिन्न हिस्सों में दर्द होने जैसी समस्या हो सकती है और इंजरी का खतरा भी बढ़ता है।
    Images courtesy: © Getty Images

    ओवर वर्कआउट या डायटिंग
  • 6

    शाकाहार ही शाकाहार

    लोगों के बीच खान-पान से जुड़े कई मिथ होते हैं, जैसे शुद्ध शाकाहारी लोग एकदम फिट होते हैं। इसलिये नॉनवेज खाना छोड़ दीजिए। लेकिन यह राय पूरी तरह सच नहीं है। लेकिन यह बात सही है कि खूब सारी सब्जियों का सेवन आपको सेहत लाभ देता है। इनमें एंटीऑक्सीडेंट्स और फाइबर भरपूर मात्रा में होते हैं, लेकिन यदि आप सिर्फ तला-भुना खा रहे हैं तो ऐसा शाकाहारी होना भी व्यर्थ है। नॉनवेज भी पौष्टिकता से भरपूर होता है, लेकिन यदि इसे बहुत तेल-घी में नहीं बनाया गया है तो यह वजन नियंत्रित रखने में मदद करता है। नॉनवेज खाएं, मगर प्रोसेस्ड और पैकेट बंद नॉनवेज से परहेज रखें।
    Images courtesy: © Getty Images

    शाकाहार ही शाकाहार
  • 7

    खाना छोड़ना

    बहुत ज्यादा डाइटिंग या केवल लिक्विड डाइट से कुछ समय के लिए वजन भले ही कम हो जाए, पर स्वस्थ बने रहते हुए वजम करने  के लिए केवल डाइट काम नहीं करती, इसके साथ वर्कआउट भी जरूरी होता है। एक्सरसाइज से केवल कैलोरी बर्न नहीं होती, बल्कि इससे मांसपेशियां भी बनती हैं। ध्यान रखें कि केवल डाइटिंग करने से वसा कम होने के साथ शरीर के पोषक तत्व भी कम हो जाते हैं। कुछ लोग डाइट से कार्बोहाइड्रेट को निकाल देते हैं, जेकि हानिकारक है। कार्बोहाइड्रेट को निकाल देने के बजाए अच्छे कार्बोहाइड्रेट का सेवन करें।
    Images courtesy: © Getty Images

    खाना छोड़ना
  • 8

    कुछ शोध

    न्यूयॉर्क के वेल कार्नेल मेडिकल कॉलेज में क्लिीनिकल मेडिसिन के प्रोफेसर कार्डियोलॉजिस्ट इसाडोर रोसेनफेल्ड के अनुसार क्रैश डाइटिंग एक-दो बार में शरीर पर कोई असर नहीं डालती, पर बार-बार ऐसा करना हृदयाघात की आशंका बढ़ा देता है। तो आपको इसका भी ध्यान रखना चाहिये।
    Images courtesy: © Getty Images

    कुछ शोध
  • 9

    क्रियेटिन या प्रोटीन सप्लीमेंट का इस्तेमाल

    मसल्‍स बनाने की चाह युवाओं में एक पैशन है। सिक्‍स एब्‍स पैक पाने के लिए वे किसी भी हद तक जाने को तैयार रहते हैं। तो इस साल यदि आप भी सिक्‍स एब्‍स पैक बनाने का संकल्प ले रहें हैं तो याद रखें कि इसके लिये क्रियेटिन या प्रोटीन सप्लीमेंट का उपयोग न करें। यही नहीं एथलिट्स, बाडी बिल्डर्स या वे सभी लोग जो एक आइडियल बॉडी पाना चाहते हैं उन्हें इस सच्चाई की ओर ध्यान देना चाहिए। क्योंकि बिना जाने क्रियेटिन या प्रोटीन सप्लीमेंट का इस्तेमाल करने के बहुत से साइड एफेक्ट हो सकते हैं।
    Images courtesy: © Getty Images

    क्रियेटिन या प्रोटीन सप्लीमेंट का इस्तेमाल
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर