हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

दिमाग के लिए बुरे हैं ये दस आहार

By:Nachiketa Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Nov 13, 2014
कुछ आहार ऐसे भी हैं जिनके सेवन से दिमागी कार्यक्षमता कम होने लगती है, इन आहारों के अधिक सेवन के कारण सोचने और समझने की क्षमता पर असर पड़ता है और याद्दाश्‍त भी जा सकती है।
  • 1

    स्‍वस्‍थ हो दिमाग

    हम जो भी खाते हैं उसका सीधा असर दिमाग पर भी पड़ता है, कुछ आहार हमारे दिमाग को सक्रिय करते हैं लेकिन कुछ आहार ऐसे भी हैं जिनके सेवन से दिमाग की कार्यक्षमता कम हो जाती है। ये आहार न केवल याद्दाश्‍त कमजोर करते हैं बल्कि दिमाग से जुड़ी बीमारियों के लिए भी जिम्‍मेदार हो सकते हैं। इसलिए दिमाग को स्‍वस्‍थ रखने के लिए इन आहारों का सेवन करने से बचना चाहिए।

    image source - getty images

    स्‍वस्‍थ हो दिमाग
  • 2

    सॉफ्ट ड्रिंक

    सॉफ्ट ड्रिंक का सेवन करना आपके दिमाग के लिए सही नहीं है। इसमें पाया जाने वाला फ्रक्‍टोज दिमाग की कार्यक्षमता को न केवल कम करता है बल्कि इसके अधिक सेवन से याद्दाश्‍त भी जा सकती है। सॉफ्ट ड्रिंक में पाया जाने वाल उच्‍च फ्रक्‍टोज के कारण याद करने की क्षमता धीरे-धीरे समाप्‍त हो जाती है। इसलिए दिमाग को दुरुस्‍त रखने के लिए सॉफ्ट ड्रिंक न पियें।

    image source - getty images

    सॉफ्ट ड्रिंक
  • 3

    शुगर से बचें

    शुगर और शुगरयुक्‍त आहार दिमाग के लिए ठीक नहीं। कैंडी, केक, मिठाई आदि में फ्रक्‍टोज पाया जाता है। इसके सेवन से न केवल शरीर का शेप बिगड़ता है साथ ही दिमाग भी कमजोर होता है। ज्‍यादा शुगर के सेवन से तार्किक क्षमता और नई बातों को सीखने की क्षमता पर असर होता है। इसलिए शुगर से बचें।

    image source - getty images

    शुगर से बचें
  • 4

    नमक है नुकसानदेह

    नमक का अधिक सेवन करना दिल के साथ दिमाग के लिए भी नुकसानदायह है। नमक में सोडियम पाया जाता है, जो बौद्धिक क्षमता पर असर डालता है। ज्‍यादा नमक खाने से ब्‍लड प्रेशर बढ़ता है, इसकी वजह से बेचैनी होती है। इसके कारण सोचने और समझने की क्षमता प्रभावित होती है। इसलिए ज्‍यादा नमक का सेवन करने से बचें।

    image source - getty images

    नमक है नुकसानदेह
  • 5

    तला हुआ

    अधिक तला हुआ आहार वजन तो बढ़ाता है साथ ही आपके दिमाग को भी कमजोर बनाता है। अगर आप अधिक तला हुआ खाद्य पदार्थ जैसे - समोसे, कचौड़ी आदि खाते हैं तो यह आपके दिमाग के लिहाज से ठीक नहीं। ये आहार तंत्रिका कोशिकाओं को धीरे-धीरे नष्‍ट करते हैं, और दिमाग को कमजोर बनाते हैं।

    image source - getty images

    तला हुआ
  • 6

    ट्रांस फैट

    ट्रांस फैट कई रोगों के लिए जिम्‍मेदार होता है। इसके सेवन से मोटापा, दिल की बीमारियां, कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ने जैसी समस्‍यायें होने लगती हैं। इसके अलावा यह दिमाग में सिकुड़न पैदा कर देता है। ट्रांस फैट खाने वालों को अल्‍जाइमर्स हो सकता है, जिसके कारण उनकी याददाश्‍त और तार्किक क्षमता में भारी गिरावट आती है।

    image source - getty images

    ट्रांस फैट
  • 7

    जंकफूड से करें तौबा

    फास्‍टफूड और जंकफूड भी बीमारियों के साथ दिमाग के लिए भी बुरे हैं। फास्‍टफूड और जंकफूड से दिमाग में मौजूद रसायनों की संरचना बदलती है। इसके अलावा बेचैनी और अवसाद से जुड़े लक्षण शुरू हो जाते हैं। यह आहार डोपामाइन (यह एक प्रकार का हार्मोन है जो एकाग्रता बढ़ाने में मदद करता है) के उत्‍पादन में कमी लाता है।

    image source - getty images

    जंकफूड से करें तौबा
  • 8

    प्रोसेस्‍ड प्रोटीन को ना

    प्रोटीन हमारे शरीर की मांसपेशियों के विकास के लिए बहुत जरूरी हैं। लेकिन प्रोसेस्‍ड प्रोटीन जैस - हॉटडॉग, सॉसेज आदि खाने से परहेज करें। क्‍योंकि इसमें मौजूद प्रोटीन तंत्रिका तंत्र (नर्वस सिस्‍टम) के लिए नुकसानदेह है। सामान्‍य प्रोटीन की जरूरत के लिए लिए मांस, सालमन, दाल और बादाम का सेवन करना अधिक फायदेमंद है।

    image source - getty images

    प्रोसेस्‍ड प्रोटीन को ना
  • 9

    कैफीन

    नियमित रूप से तीन कफ कॉफी का सेवन फायदेमंद माना जाता है, लेकिन इससे अधिक कॉफी पीने से दिमाग प्रभावित होता है। कैफीन को शरीर बहुत जल्‍दी अवशोषित कर दिमाग को अतिसक्रिय कर देता है, लेकिन अगर अधिक कैफीन का सेवन किया जाये तो यह दिमाग को नुकसान पहुंचा सकता है। इससे तार्किक क्षमता कम होती है और याद्दाश्‍त भी कमजोर हो जाती है।

    image source - getty images

    कैफीन
  • 10

    कृत्रिम स्‍वीटनर

    कृत्रिम स्‍वीटनर में टॉक्सिक पदार्थ मौजूद होते हैं जो दिमाग के लिए ठीक नहीं हैं। इनके कारण मस्तिष्‍क संबंधी जटिलतायें होने लगती हैं। इसलिए इनकी जगह पर पौष्टिक स्‍वीटनर का प्रयोग करें।

    image source - getty images

    कृत्रिम स्‍वीटनर
  • 11

    टोफू

    टोफू का अधिक सेवन दिमाग की सेहत के लिए ठीक नहीं। 2008 में डिमेंशियाज एंड गेरियाट्रिक कॉग्निटिव डिसऑर्डर नामक पत्रिका में छपे एक शोध के अनुसार टोफू के सेवन से दिमाग कमजोर हो सकता है, खासकर 68 की उम्र के बाद के लोगों में इसके कारण याद्दाश्‍त समाप्‍त हो सकती है। यह डिमेंशिया के खतरे को बढ़ाता है।

    image source - getty images

    टोफू
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर