हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

हस्तमैथुन के साइड इफेक्ट्स

By:Pradeep Saxena, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jun 17, 2014
वैसे तो हस्‍तमैथुन के कोई नुकसान नहीं हैं, लेकिन कई बार गलत ढंग से या ज्‍यादा मैथुन करने के गंभीर परिणाम हो सकते है।
  • 1

    हस्‍तमैथुन

    हस्तमैथुन पुरुषों में निर्मित और महिलाओं में लजाता हुआ एक अभ्यास है। लेकिन आप हस्तमैथुन से बच नहीं सकते, यह जीवन का एक हिस्सा है। हस्‍तमैथुन से जुड़े कुछ तथ्‍य और अफवाहें हैं जिनसे आप बच नहीं सकते हैं। वैसे तो हस्‍तमैथुन के कोई नुकसान नहीं हैं, लेकिन कई बार गलत ढंग से या ज्‍यादा मैथुन करने के गंभीर परिणाम हो सकते है। आइए हम इस वर्जित विषय पर बात करते है। image courtesy : getty images

    हस्‍तमैथुन
  • 2

    हस्‍तमैथुन के फायदे

    स्खलन के माध्यम से राहत, मज़ा और खुशी के लिए क्लाइमेक्स, अच्‍छी नींद में सहायक, तनाव कम करने और रिलेक्‍स करने में मददगार आदि हस्तमैथुन के सकारात्मक पक्ष प्रभाव से आप भी सहमत होंगे। साथ ही हस्‍तमै‍थुन करते समय घावों से बचने और वापस सामान्य स्थिति में आने में मदद करने के लिए जननांगों पर सौम्य होना बहुत जरूरी होता है। image courtesy : getty images

    हस्‍तमैथुन के फायदे
  • 3

    हस्तमैथुन के साइड इफेक्ट

    युवावस्‍था में हस्तमैथुन की शुरुआत की सबसे ज्‍यादा संभावना रहती है और ऐसा होने पर दिन में बार-बार हस्तमैथुन करने का मन करता है। आमतौर पर मैथुन करने के लिए पुरुष अपने हाथ का प्रयोग करते हैं। वैसे तो हस्‍तमैथुन के कोई नुकसान नहीं हैं, लेकिन कई बार गलत ढंग से या ज्‍यादा मैथुन करने के गंभीर परिणाम हो सकते है। image courtesy : getty images

    हस्तमैथुन के साइड इफेक्ट
  • 4

    लिंग में सूजन और चयापचय पर असर

    जल्‍दी-जल्‍दी मैथुन करने से भी लिंग की मासपेशियों में वीर्य के पहले निकलने वाला द्रव मांसपेशियों में चला जाता है, जिसके कारण लिंग में सूजन आ जाती है। यह सूजन तब तक रहती है, जब तक वो द्रव वापस रक्त में नहीं चला जाता। साथ ही हस्‍तमैथुन के दौरान जारी प्राथमिक द्रव में प्रोटीन होता है जो कई चयापचय गतिविधियों और सेल संरचनाओं के लिए आवश्यक होता हैं। प्रोटीन हमारे शरीर की बिल्डिंग ब्लॉक है। स्खलन अक्सर आपको दुबला बनाता हैं और मांसपेशियों के निर्माण के लिए चयापचय का ध्यान खींचता है। image courtesy : getty images

    लिंग में सूजन और चयापचय पर असर
  • 5

    लिंग की मांसपेशियों का टूटना

    मैथुन करते समय अपने लिंग को कस कर दबाने या मोड़ने का प्रयास हानिकारक हो सकता है इससे 'पायरोनी' नाम की बीमारी हो सकती है। यही नही पेनाइल फ्रेक्‍चर भी हो सकता है यानी आपके लिंग की मांसपेशियां टूट सकती हैं। पायरोनी होने पर लिंग टेढ़ा हो जाता है मांसपेशियों में तनाव होने की स्थिति में आप उसके टेढ़ेपन को आसानी से देख सकते हैं। image courtesy : getty images

    लिंग की मांसपेशियों का टूटना
  • 6

    शुक्राणु की संख्‍या पर असर और संतुष्‍टी की कमी

    नियमित रूप से कई बार हस्‍तमैथुन करने से पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्‍या कम होने लगती है। इसका असर उनकी पिता बनने की क्षमता पर भी पड़ता है। इसके अलावा नियमित रूप से हस्‍तमैथुन करने से आपको संतुष्‍ट होने में अधिक समय लगता है। इसके साथ ही आपका वीर्य स्‍खलित होने का समय भी बढ़ जाता है। इसके अलावा हस्‍तमैथुन की आदत इरेक्टाइल डिसफंक्शन रोग का मुख्‍य कारण होती है। image courtesy : getty images

    शुक्राणु की संख्‍या पर असर और संतुष्‍टी की कमी
  • 7

    मनोवैज्ञानिक प्रभाव

    हस्तमैथुन घबराहट और न्यूरोलॉजिकल समस्याएं पैदा करता है। हस्तमैथुन आपके मन और आत्मा में तनाव और दबाव का कारण बनता है। इसके अलावा हस्तमैथुन आपको मनोवैज्ञानिक तौर पर प्रभावित करता है। यह स्खलन के बाद अवसाद पैदा करता है और व्‍यक्ति खुद को बुरा महसूस लगता है। image courtesy : getty images

    मनोवैज्ञानिक प्रभाव
  • 8

    अवैध संपर्कों की खोज और पार्टनर से तकरार

    हस्‍तमैथुन आपको अवैध संपर्कों की ओर ले जाता है क्‍योंकि इसकी उत्तेजना दिन ब दिन बढ़ती जाती है और अंत में यौन सुख के लिए आप अन्‍य स्रोतों को ढूढ़ने लगते हैं। हस्तमैथुन संभोग के दौरान तेजी से शुक्राणु के रिलीज होने का मुख्य कारण है। इससे आपके और आपकी पत्नी के बीच असंतोष पैदा हो सकता है। image courtesy : getty images

    अवैध संपर्कों की खोज और पार्टनर से तकरार
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर