हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

मर्ज की दवा अदरक कहीं खुद मर्ज न बन जाये

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Oct 07, 2014
अदरक एक मसाले के अलावा और कई तरह से फायदेमंद है। तरह-तरह की बीमारियों-तकलीफों में आप अदरक से लाभ पा सकते हैं। लेकिन कहते हैं ना कि अति किसी की भी बुरी होती है। अदरक के ज्‍यादा इस्‍तेमाल के गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं।
  • 1

    अदरक के साइड इफेक्‍ट

    अदरक एक जड़ी-बूटी है, जिसका इस्‍तेमाल हजारों सालों से खाना पकाने और खाने को स्‍वादिष्‍ट बनाने के लिए मसाले के रूप में करते हैं। इसके साथ ही यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड मेडिकल सेंटर की वेबसाइड के अनुसार, हालांकि अदरक गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्‍याओं को दूर करने के लिए चिकित्‍सा के रूप में इस्‍तेमाल की जाती है। लेकिन कहते हैं न कि अति किसी की भी बुरी होती है। अदरक के ज्‍यादा इस्‍तेमाल के गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं। उनमें से कुछ इस प्रकार हैं। image courtesy : getty images

    अदरक के साइड इफेक्‍ट
  • 2

    गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएं

    मैरीलैंड यूनिवर्सिटी के मेडिकल सेंटर वेबसाइट के अनुसार, अदरक का इस्‍तेमाल मतली सहित पेट की बीमारियों को शांत करने के लिए किया जाता है। लेकिन अदरक का अधिक सेवन हार्टबर्न, अतिरिक्त डकार और दस्‍त जैसे गैस्‍ट्रोइंटेस्‍टाइनल रोग पैदा कर सकता है। इसके अलावा, इसके अधिक सेवन से मानव शरीर में एसिड का उत्‍पादन होता है, जो एसिडिटी का कारण बनता है। image courtesy : getty images

    गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएं
  • 3

    रक्त के थक्कों की समस्याएं

    अदरक रक्त के थक्‍कों को धीमा कर एस्पिरिन के समान व्‍यवहार करती है, यह बात 2007 में प्रकाशित किताब 'द 150 हेल्‍दीऐस्‍ट फूड्स ऑन अर्थ' के डॉक्‍टर जॉनी बोडेन ने कही। अदरक के अधिक सेवन से रक्त पतला होने लगता है। और रक्त का पतला होना उन रोगियों के लिए खतरनाक हो सकता है, जो रक्त के थक्‍कों रोकने के लिए पहले से ही एस्पिरिन, वारफारिन या हेपरिन जैसी दवाएं ले रहे हैं। इन रोगियों को किसी भी प्रकार की समस्याओं से बचने के लिए अदरक के इस्‍तेमाल से पहले चिकित्‍सक से सलाह लेनी चाहिए।  image courtesy : getty images

    रक्त के थक्कों की समस्याएं
  • 4

    गॉलब्लैडर में परेशानी

    बोडेन के अनुसार, अदरक पित्त स्राव को बढ़ा देता है। इसलिए पित्त की पथरी या पित्ताशय की थैली रोग से पी‍ड़‍ित लोगों को अक्सर गॉल ब्‍लैडर के अटैक के जोखिम को कम करने के लिए अदरक से बचने की सलाह दी जाती है। ऐसे रोगी पूरी तरह से अदरक का सेवन समाप्त नहीं करते हैं, लेकिन इस उत्पाद के किसी भी तरह के उपयोग एक चिकित्सक की सलाह के तहत होना चाहिए। image courtesy : getty images

    गॉलब्लैडर में परेशानी
  • 5

    गर्भावस्था

    अदरक पाचन और लार प्रवाह में मदद करता है। कुछ अध्ययनों के अनुसार, अदरक कुछ गर्भवती में होने वाली मतली और उल्टी की परेशानी को कम कर देता है। लेकिन गर्भवती को अदरक के सेवन के समय सावधान रहना चाहिए। कुछ विशेषज्ञों ने इस बात को लेकर चिंता जताई है कि अदरक की अधिक मात्रा में सेवन गर्भपात के खतरे को बढ़ा देता है। image courtesy : getty images

    गर्भावस्था
  • 6

    डायबिटीज

    डायबिटीज से पी‍ड़ि‍त लोगों को किसी भी रूप में अदरक के अत्‍यधिक सेवन से बचना चाहिए क्‍योंकि यह ब्‍लड शुगर की मात्रा को कम कर हाइपोग्‍लाइसीमिया (खून में शुगर की कमी) का कारण बनता है। image courtesy : getty images

    डायबिटीज
  • 7

    नींद पर असर

    अदरक की चाय के आम दुष्‍प्रभावों में नींद में कमी भी शामिल है। इसका मतलब अगर आप बिस्‍तर पर जाने से पहले अदरक की चाय पीते हैं। तो आपको लंबे समय तक नींद नहीं आती है। image courtesy : getty images

    नींद पर असर
  • 8

    हृदय प्रणाली पर असर

    अदरक के अधिक सेवन से दिल पर भी बुरा असर पड़ता है। नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्‍थ के अनुसार, हृदय प्रणाली पर अदरक के प्रभाव से दिल की लय में परिवर्तन आता है, हालांकि इस तरफ के प्रभाव की पुष्टि में अभी तक नहीं हुई है। साथ ही अदरक रक्तचाप में उतार-चढ़ाव का कारण भी हो सकता है। image courtesy : getty images

    हृदय प्रणाली पर असर
  • 9

    एनेस्थीसिया में जटिलताएं

    अध्‍ययन से यह भी पता चला जो लोग सर्जरी से पहले अदरक की चाय का सेवन अधिक मात्रा में करते हैं, उनमें विशेष रूप से कुछ जटिलताओं से पीड़ि‍त होने की संभावना अधिक होती है क्‍योंकि ऐसे में एनेस्‍थीसिया के लिए इस्‍तेमाल दवाओं के ह‍ानिकारक परिणाम हो सकते हैं। image courtesy : getty images

    एनेस्थीसिया में जटिलताएं
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर