हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

सेक्स जीवन पर दवाओं के साइड-इफेक्ट

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:May 16, 2014
प्रेम संबंधों में सेक्स बेहद अहम भूमिका निभाता है, इससे दो लोगों के बीच का रिश्ता और भी मज़बूत होता है, लेकिन कई बार कुछ दवाओं के सेवन से कामेच्छा में कमी आ जाती है।
  • 1

    सेक्स जीवन पर दवाओं का प्रभाव

    किसी भी जोड़े के रिश्ते की गहराई और मजबूती काफी हद तक उनकी सेक्स जीवन पर निर्भर करती है। लेकिन कई बार आपसी रिश्ते अच्छे होने के बावडूद भी सेक्स जीवन प्रभावित होने लगता है। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं जिनमें से एक मुख्य कारण कुछ दवाओ का साइड-इफैक्ट भी हो सकता है। मनोवैज्ञानिकों के अनुसार ऐसी कई दवाईयां हैं जिनके सेवन से सेक्स जीवन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। तो चलिये जानते हैं कि कौन-कौन सी दवाइयां सेक्स लाइफ को प्रभावित करती हैं।
    courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

    सेक्स जीवन पर दवाओं का प्रभाव
  • 2

    क्या है माजरा

    सेक्स के लिए आवश्यक हार्मोंस (शरीर की जरूरतों व संदेशों को मस्तिष्क तक पहुंचाने वाले तत्व डोपामाइन, सेरोटोनिन) तथा यौन अंगो के बीच ठीक तालमेल होना आवश्यक होता है। डोपामाइन सेक्स क्रिया को बढाता है और सेरोटोनिन उसे कम करता है। दवाएं इन हार्मोस के स्तर में परिवर्तन लाती हैं जिसकी वडह से कामेच्छा में कमी आती है। हालांकि जरूरी नहीं है कि सेक्स लाइफ के प्रति अरूची सिर्फ दवाओं की वजह से ही हो।
    courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

    क्या है माजरा
  • 3

    हाईब्लडप्रेशर की दवाएं

    हाईब्लडप्रेशर की दवाएं सेक्स जीवन को प्रभावित कर सकती हैं। ब्लडप्रेशर के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवाएं, जैसे क्लोनीडीन, अल्फा मिथाइल डोपर, ग्वानेथिडीन आदि कामेच्छा में कमी का कारण बन सकती हैं। साथ ही ब्लडप्रेशर की कुछ अन्य दवाएं जैसे बीटास्पैन, अल्फाडोपा, डोपाजिट जैसी दवाइयां लिंग के उत्थापन में कमी लाती है। ये दवाएं शरीर में प्रोलक्टीन नामक हार्मोन को बढ़ा देती है, जिसकी वजह से पुरूषों में नपुंसकता का ख़तरा बढ जाता है।
    courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

    हाईब्लडप्रेशर की दवाएं
  • 4

    हार्मोन संबंधी दवाएं

    हार्मोन संबंधी दवाओं से भी सेक्स जीवन पर असर हो सकता है। एंटी एंड्रोजोन दवाएं जैसे सायप्रोटेरॉन और किटोकोनॉजाल शरीर में टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन के स्तर को कम कर सकती हैं, जिस कारण पुरुष नपुंसकता का शिकार हो सकते हैं। अनावश्यक थायरॉक्सीन दवाइयों के इस्तेमाल से सेक्स इच्छा कम हो जाती है। वहीं एस्ट्रोजन अधिक लेने से कामेच्छा व वीर्य की मात्रा में कमी आदि सेक्स समस्याएं हो सकती हैं।
    courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

    हार्मोन संबंधी दवाएं
  • 5

    दर्दनिवारक

    दर्दनिवारक अर्थात पेनकिलर्स का अधिक सेवन भी कामेच्छा में कमी लाता है। सेक्स क्षमता बढाने वाली दवाएं पेनकिलर्स के साथ लेने पर कई तरह के साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसलिए चिकित्सक के परामर्श के बिना इस प्रकार की दवाएं बिल्कुल नहीं लेनी चाहिए। मार्फिन और कोडिन जैसी पेनकिलर दवाएं भी कामोत्तेजना में कमी लाती हैं।
    courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

    दर्दनिवारक
  • 6

    अस्थमा की दवाएं

    अस्थमा के लिए दी जाने वाली दवाओं का भी कई बार सेक्स लाइफ पर दुष्प्रभाव देखा गया है। इस प्रकार की दवाएं जैसे एफीड्रीन, इरब्युटालिन आदि के सिम्पेथोमिमेटिक परिणाम पुरूषों के लिंग के तनाव में कम कर सकते हैं।
    courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

    अस्थमा की दवाएं
  • 7

    अल्सर के लिए दवाएं

    अल्सर के उपचार के लिए प्रयोग की जाने वाली दवाएं जैसे, सीमेटिडिन, रेनिटिडिन, अल्टेक आदि के नियमित सेवन से भी कामेच्छा में कमी आ सकती है और लिंग के तनाव में कमी आने की शिकायद हो सकती है।  
    courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

    अल्सर के लिए दवाएं
  • 8

    एंटी डिप्रेशन दवाएं

    लगातार एंटी डिप्रेशन दवाएं के सेवन से भी कामेच्छा में कमी आ सकती है। वहीं नींद के लिए ली जाने वाली दवाइयां जैसे, वेलियम, डॉयजापाम, कॉम्पोज आदि से भी कामेच्छा में गिरावट आती है।
    courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

    एंटी डिप्रेशन दवाएं
  • 9

    ध्यान रहे

    सेक्स लाइफ पर दवाओं के सेवन का असर तभी पड़ता है, जब आप किसी रोग को दूर करने के लिए नियमित रूप से दवाएं लेते हैं। छोटी-मोटी बीमारियों जैसे सर्दी, खांसी, जुखाम, बुखार, आदि की दवाओं का प्रभाव आमतौर पर यौन क्षमता पर नहीं पड़ता।
    courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

    ध्यान रहे
  • 10

    क्या करें

    यदि आपको महसूस होता है कि किसी प्रकार की दवाओं के सेवन के दौरान आपकी सेक्स के प्रति रूचि कम हो रही है या फिर आप सही प्रकार से सेक्स करने में अक्षम हैं या फिर यौनांगों में कोई समस्या हो रही है तो तत्काल ही आपको डॉक्टर से इस बारे में विचार-विमर्श करना चाहिए।
    courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

    क्या करें
  • 11

    मानसिक तौर पर मजबूत रहें

    चिकित्सकों के अनुसार जब तक महिला और पुरूष के बीच शारीरिक, मानसिक और आत्मिक रूप से सामंजस्य नहीं होता तब तक उन्हें संभोग में पूर्ण आनंद की अनुभूति नहीं होती। जब मन सकारात्मक सोचता है जब एस्ट्रोजन और टेस्टोस्टेरोन हार्मोन स्त्रावित होते रहते हैं। ये हार्मोस सेक्स इच्छा को बढ़ाते हैं। इसलिए सेक्स के दौरान चरम सुख की प्राप्ति के लिए सकारात्मक सोच का होना भी बेहद जरूरी होता है।
    courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

     मानसिक तौर पर मजबूत रहें
Load More
X