हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

शराब पीकर तुंरत सोने से शरीर पर पड़ते हैं ये नकारात्‍मक प्रभाव

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:May 24, 2016
कई लोग कहते हैं कि रात को दो पैग टिका लो तो नींद कमाल की आती है, लेकिन जिन लोगों को लगता है कि रात को शराब पीकर सोने से नींद अच्छी आती है, आइये उन्हें बताते हैं रात में शराब पी कर सोने के क्‍या साइड इफेक्‍ट्स होते हैं?
  • 1

    रात को शराब पीकर सोने के नुकसान


    कई लोग कहते हैं कि रात को दो पैग टिका लो तो नींद कमाल की आती है, तो कुछ को तो बिना लगाए नींद आती ही नहीं है। लेकिन कई बार हमारी इस तरह की मान्यताएं बोगस होती हैं। दरअसल शराब पीने के बाद आपका दिमाग धीमा हो जाता है जिसकी वजह से आपको शरीर शांत लगता है, लेकिन एक बार नशा उतरने के बाद पता चलता है कि अच्छी नींद के लगाए वो पैग शरीर को कितना नुकसान पहुंचा चुके हैं और कितना पहुंचा रहे हैं। जिन लोगों को लगता है कि रात को शराब पीकर सोने से नींद अच्छी आती है, आइये उन्हें बताते हैं रात में शराब पी कर सोने के क्‍या साइड इफेक्‍ट्स होते हैं? -
    Images source : © Getty Images

    रात को शराब पीकर सोने के नुकसान
  • 2

    नींद की गुणवत्ता पर नकारात्मक प्रभाव

    शराब पीकर नींद तो जल्‍दी आ जाती है, लेतिन इससे सोने की प्राकृतिक प्रक्रिया पर बेहद नकारात्‍मक प्रभाव पड़ता है। शराब पीकर सोने से सुबह उठने पर शरीर टूट जाता है और अगले पूरे दिन स्‍फूर्ति और ताजगी नहीं मिलती है। वास्तव में तो शराब के नशे में होश नहीं रहता है, जिसे लोग अच्छी नींद समझ लेते हैं, लेकिन अगले दिन की परेशानी साफ दर्शाती है कि सोने की प्राकृतिक प्रक्रिया में बाधा हुई है।
    Images source : © Getty Images

    नींद की गुणवत्ता पर नकारात्मक प्रभाव
  • 3

    हार्ट रेट बढ़ जाता है और दिमाग पर बुरा असर पड़ता है

    शराब पीने से अकसर हाई ब्‍लड प्रेशर की समस्‍या हो जाती है और बार-बार ऐसा होने पर इसका सीधा असर हृदय स्वास्थ्य पर पड़ता है। वहीं दिमाग पर भी रोत को सोने से पहले शराब पीने का बुरा असर होता है। रोड़ाना सोने से पहले ज्यादा शराब पीने की आदत से याद्दाश्त कमज़ोर हो जाती है। यदि कारण है कि शराब पीकर सोने के बाद अलगे दिन उठने पर आपको कई चीज़ें याद नहीं रहती हैं।
    Images source : © Getty Images

    हार्ट रेट बढ़ जाता है और दिमाग पर बुरा असर पड़ता है
  • 4

    सामान्य से अधिक पसीना और पेशाब आना

    रात को शराब पीकर सोने से डीहाइड्रेशन हो जाता है, जिसका दुष्प्रभाव आगे चलकर किडनियो पर पड़ता है। वहीं अधिक शराब पीने से किडनियों को मूत्राशय से मूत्र को बाहर निकालने का सिग्नल भेजने वाला हार्मोन भी कम बनने लगता है। वहीं रात को ज्यादा शराब पीकर सोने पर हम बेसुध हो जाते हैं और प्यास लगने पर पानी नहीं पी पाते हैं।
    Images source : © Getty Images

    सामान्य से अधिक पसीना और पेशाब आना
  • 5

    खरार्टे आना और सुबह थकान व कमज़ोरी

    जब शराब रक्त में मिलती है तो वह दिमाग में पहुंच कर मासपेशियों को रिलैक्‍स कर देती है। इससे गले की मासपेशियां भी रिलैक्‍स हो जाती हैं और उसमें से हवा ठीक तरह से पास नहीं हो पाती है और नतीजतन तेज खरार्टों की आवाज निकलती है। साथ ही रात को शराब पीकर सोने से अगले दिन थकान हो जाती है और ताजगी गायब हो जाती है।
    Images source : © Getty Images

     खरार्टे आना और सुबह थकान व कमज़ोरी
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर