हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

एंटी-ऑक्‍सीडेंट युक्‍त आहार के सेवन से होते हैं ये 7 फायदे

By:Aditi Singh , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Feb 26, 2015
एंटी-ऑक्सीडेंट युक्‍त आहार न केवल हमारे शरीर को स्‍वस्‍थ रखने में अहम भूमिका निभाते हैं बलिक इनका नियमित सेवन करने से कई तरह की समान्‍य और गंभीर समस्‍याओं से भी बचाव किया जा सकता है।
  • 1

    एंटीऑक्सीडेंट युक्‍त आहार

    एंटी-ऑक्‍सीडेंट को स्‍वस्‍थ सप्‍लीमेंट के रूप में भी जाना जाता है, यह हमारे शरीर के लिए रक्षा कवच की तरह है जो हानिकारक बैक्‍टीरिया से होने वाले दुष्‍प्रभाव को कम करने में मददगार है। एंटीऑक्सीडेंट हमारे शरीर की कोशिकाओं के सुरक्षित रखने में मदद करने वाले कण होते है। बेरी, पत्तेदार सब्जियों, अंगूर, रसीले फल, गाजर, सेब आदि में एंटी-ऑक्‍सीडेंट भरपूर मात्रा में पाया जाता है। आइये हम आपके इस स्लाइडशो के जरिए बताते है कि कैसे ये छोटे-छोटे से कण हमारे शरीर को गंभीर बिमारियों से बचाते है।

    ImageCourtey@GettyImages

    एंटीऑक्सीडेंट युक्‍त आहार
  • 2

    अल्जाइमर

    अंगूर के बीजों में मौजूद पॉलीफेनल्‍स एक प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट हैं, जो अल्जाइमर जैसी मानसिक बीमारी की रोकथाम में न केवल मदद करते हैं बल्कि ये इस बीमारी के उपचार में भी सयहोग करते हैं। अंगूर से निकले पॉलीफिनोल युक्त रेड वाइन अल्जाइमर बीमारी की स्थिति में होने वाली याददाश्त की समस्‍या को दूर कर सकता है।
    ImageCourtey@GettyImages

    अल्जाइमर
  • 3

    दिल की बीमारी

    मूंगफली के सेवन से कोशिकाएं स्वस्थ रहती हैं जिससे दिल की बीमारी व कैंसर होने का खतरा कम हो जाता है। मूंगफली में प्रचुर मात्रा में प्रोटीन व अच्छी किस्म का फैट (मोनो अनसैचुरेटेड) पाया जाता है। ऐसी मूंगफली में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा 22 प्रतिशत तक बढ़ जाती है। इससे कैंसर और दिल की बीमारियों की रोकथाम में काफी हद तक मदद मिलती है।
     ImageCourtey@GettyImages

    दिल की बीमारी
  • 4

    कैंसर

    हरी मिर्च में एंटीऑक्सीडेंट होता है जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। इससे कैंसर से लडऩे में मदद मिलती है। पुरुषों को हरी मिर्च पोस्ट्रेट कैंसर से खतरे से बचाती है। हरी मिर्च में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो कि प्राकृतिक प्रतिरक्षा में सुधार करता है। इससे आपको बीमारियों से लडऩे की क्षमता मिलती है।
    ImageCourtey@GettyImages

    कैंसर
  • 5

    गले की बीमारी

    भोजन में लहसुन का नियमित रूप से प्रयोग शरीर में संक्रमण व वायरल हमले से लडऩे की शक्ति देता है। लहसुन में कई एंटीऑक्सीडेंट तत्व होते हैं जो आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली पर उत्कृष्ट प्रभाव डालते है। शरीर में विटामिन-सी, बी-6 व खनिजों की मात्रा संतुलित रखने में लहसुन की महत्व अपने आप में बेहद खास है।
    ImageCourtey@GettyImages

    गले की बीमारी
  • 6

    गठिया रोग

    रोज एक सेब या फिर सेब का रस पीने से इस रोग में लाभ मिलता है। इसके रस में एंटीऑक्‍सीडेंट पाया जाता है जिससे जोड़ो की सूजन में कमी आती है और गठिया ठीक हो जाता है। नींबू भी इस बीमारी में एक विषहरण का कार्य करता है।
    ImageCourtey@GettyImages

    गठिया रोग
  • 7

    आखें

    विटामिन सी से भरपूर स्ट्रॉबेरी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट तत्व शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले मुक्त कणों को खत्म कर, हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। सूरज की रोशनी और यूवी किरणों से आंखों के लेंस के प्रोटीन को नुकसान पहुंच सकता है। विटामिन सी से भरपूर स्ट्रॉबेरी के एंटीऑक्सीडेंट तत्व इनसे आंखों की रक्षा करते हैं।
    ImageCourtey@GettyImages

    आखें
  • 8

    दांत

    सेब में एंटीऑक्सीडेंट अत्यधिक मात्रा में मिलते हैं। एंटीऑक्सीडेंट कोशिकाओं का पुनर्निर्माण करने में अहम भूमिका निभाता है। सेब खाने खाने से मुंह की पूरी कसरत होती है. इस दौरान बनने वाली लार दांतों का क्षरण कम करती है और बैक्टीरिया घटाती है।
    ImageCourtey@GettyImagess

    दांत
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर